Jharkhand : घाटशिला में बाघिन का आतंक, लोगों के जंगल जाने और आग जलाने पर लगी रोक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

जमशेदपुर : झारखंड सरकार ने ग्रामीणों और पिकनिक पर आये लोगों के लिए चेतावनी जारी की है कि पूर्वी सिंहभूम जिले के दैनमारी जंगल में एक बाघिन मौजूद है. एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि बाघिन के पंजों के निशान मिलने के बाद यह चेतावनी जारी की गयी. संभागीय वन अधिकारी अभिषेक कुमार ने बताया कि सोमवार को घाटशिला उप संभाग के जंगल में बाघिन और एक शावक के पंजों के निशान मिले थे.

स्थानीय लोगों ने अधिकारियों को बताया था कि उनका एक मवेशी लापता है और दूसरा घायल अवस्था में मिला है. उन्होंने बताया, ‘वैसे तो बाघिन और शावक को किसी ने देखा नहीं है, लेकिन हमने ग्रामीणों को सलाह दी है कि वे लकड़ी इकट्ठा करने जंगल में नहीं जायें और न ही अपने मवेशियों को वहां चरने के लिए छोड़ें.’

कुमार ने बताया कि बाघिन और शावक के लिए तलाश अभियान चलाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को एहतियाती तौर पर अपने मवेशियों को रात में बाहर खुले में नहीं रखने और अपने घरों के बाहर आग नहीं जलाने का सुझाव दिया गया है. दैनमारी जंगल यहां के लोकप्रिय पिकनिक स्थल बुरुडीह बांध से पांच किमी दूर है.

उन्होंने बताया कि वन में बाघिन की मौजूदगी के बारे में पिकनिक पर आने वाले लोगों को भी चेता दिया गया है. उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि ओड़िशा के सिमलीपाल बाघ अभ्यारण्य से बाघिन यहां आयी होगी. बाघिन की मौजूदगी की सूचना से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें