25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

झारखंड : रामगढ़ में डीएमएफटी के खाते से क्लोन चेक से 32 लाख से अधिक की हुई अवैध निकासी, जांच शुरू

रामगढ़ जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट के खाते से क्लोन चेक के माध्यम फर्जी निकासी हुई है. अवैध चेक के माध्यम से 32 लाख 21 हजार रुपये की फर्जी निकासी हुई है. इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू हो गयी है. आठ चेक के माध्यम से फर्जी निकासी हुई है, जबकि ऑरिजिनल चेक कार्यालय में मौजूद है.

Jharkhand News: रामगढ़ जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट (डीएमएफटी) के खाते से क्लोन चेक के माध्यम फर्जी निकासी का मामला प्रकाश में आया है. इस संबंध में चट्टी बाजार बीओआई के वरिष्ठ शाखा प्रबंधक नलिनी सिन्हा ने रामगढ थाना में चार लोगों पर चेक के क्लोन्ड कॉपी का उपयोग कर 32 लाख 21 हजार रुपये की अवैध निकासी करने की शिकायत दर्ज कराई गई है.

चार आरोपियों पर फर्जी निकासी का आरोप

दर्ज शिकायत में कहा गया कि विशाल कुमार, मो फजतुर रहमान मल्लिक, एसके मोनिरूल इस्लाम और विजय कुमार नामक व्यक्ति द्वारा फर्जी चेक के उपयोग अपने अलग-अलग बैंकों के खातों में प्रस्तुत करते हुए गैरकानूनी तरीके से 32 लाख 21 हजार की राशि की अवैध निकासी की है.

Also Read: झारखंड : लातेहार के दर्जनों गांव टापू में तब्दील, पैदल चलना तक हुआ दूभर, जानें कारण

आठ चेक से हुई फर्जी निकासी

रामगढ जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट के चट्टी बाजार शाखा के खाता संख्या 58891011008691 के आठ क्लोन्ड चेक का उपयोग करते हुए राशि की फर्जी निकासी की गई है. सभी पेमेंट 17, 18 व 19 अगस्त, 2023 को किया गया है. इसकी जानकारी 22 अगस्त को जिले के अधिकारियों को हुई. इसके बाद अधिकारियों द्वारा अपने बैंक का स्टेटमेंट देखा गया. तब उसे मालूम हुआ कि आठ चेक से फर्जी निकासी हुई है. जबकि ओरिजनल चेक डीएमफटी कार्यालय में मौजूद है.

फर्जी क्लोन चेक मामले में प्राथमिकी दर्ज

सभी व्यक्तियों द्वारा धोखाघडी व जालसाजी कर फर्जी क्लोन्ड चेक का उपयोग कर ग्राहक को अनैतिक एवं गैरकानूनी आर्थिक नुकसान पहुंचाया गया है. पुलिस से मामले की जांच करने की मांग की गई है. रामगढ पुलिस ने कांड संख्या 204-23 के तहत भादवि की धारा संख्या 406-420-467-468-471-120बी-4-9 के तहत प्राथमिकी दर्ज किया गया है.

Also Read: PHOTOS: भगवान भरोसे चल रहे कोल्हान में कई आंगनबाड़ी केंद्र, बच्चों को नहीं मिल रही मौलिक सुविधाएं

ओरिजिनल चेक कार्यालय में है मौजूद : डीसी

इस संबंध में पूछे जाने पर उपायुक्त चंदन कुमार ने कहा कि डीएमएफटी फंड से फर्जी तरीके से नॉर्थ ईस्ट के बैंक के माध्यम से अवैध निकासी की गई है. उन्होंने कहा कि उक्त नंबर के ओरिजिनल चेक कार्यालय में है. उक्त सीरीज के सभी चेक कैंसल करा दिये गये हैं. उपायुक्त ने कहा कि संबंधित बैंक द्वारा कहा गया है कि तीन दिनों के अंदर निकाली गई राशि डीएमएफटी के खाते में वापस कर दी जाएगी.

सिसई में डबल पैसा करने का झांसा, 13 लाख की ठगी

दूसरी ओर, सिसई प्रखंड में पैसा डबल करने का झांसा देकर तीन अज्ञात लोगों द्वारा 13 लाख रुपये ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है. इस संबंध में लकेया गांव निवासी नीरोज उरांव ने थाना में प्राथमिकी दर्ज कराया है. इस बाबत थानेदार आदित्य कुमार चौधरी ने बताया कि नीरोज उरांव ने 13 लाख रुपये ठगी करने को लेकर तीन अज्ञात लोगों के विरुद्ध केस दर्ज कराया है. दर्ज केस में कहा गया है कि बीते 20 अगस्त को तीन लोग बसिया रोड स्थित किराये के मकान वाले दुकान आये और पैसा डबल करने की बात कही. उसने अपने पास से आठ हजार रुपये दिया. जिसे उन लोगों ने डबल करके 16 हजार रुपये देकर चले गये. बाद में फोन करके उन्होंने 15 लाख जमा रखने और उसे डबल करने की बात कही. बीते 28 अगस्त की सुबह नौ बजे के करीब तीनों लोग बिना नंबर के सफेद रंग के स्विफ्ट कार में आये और पैसा मांगा. नीरोज ने 13 लाख रुपये उन्हें दे दिया. जिसे उन लोगों ने एक लिफाफे में डाला और कुछ देर बाद एक लिफाफा देकर वे सभी लोग वहां से वाहन में बैठकर चले गये. नीरोज ने लिफाफा खोलकर देखा तो उसमें पैसे की जगह सिर्फ कागज का टुकड़ा भरा था. इसे लेकर पीड़ित ने थाना में प्राथमिकी दर्ज कराकर उचित कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है.

Also Read: चाईबासा में 28 करोड़ के मनरेगा घोटाले की जांच करेगा ईडी, झारखंड हाईकोर्ट ने दिया निर्देश

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें