1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. durga puja 2020 durga puja amidst corona epidemic local sculptors getting employment dussehra 2020 gur

Durga Puja 2020 : कोरोना महामारी के बीच दुर्गा पूजा, स्थानीय मूर्तिकारों को मिल रहा रोजगार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Durga Puja 2020 :  मां दुर्गा की प्रतिमा बनाता स्थानीय मूर्तिकार
Durga Puja 2020 : मां दुर्गा की प्रतिमा बनाता स्थानीय मूर्तिकार
प्रभात खबर

Durga Puja 2020 : गुमला (जगरनाथ पासवान) : कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच इस बार दुर्गा पूजा आयोजित की जायेगी. देवी-देवताओं की मूर्तियों का निर्माण करने के लिए पहले बंगाल से कलाकार आते थे, लेकिन कोरोना महामारी के कारण इसका कार्य इस बार स्थानीय कलाकार कर रहे हैं. सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन नहीं होने से कलाकारों की परेशानी बढ़ गयी है. इस बीच मेला नहीं लगने से दुकानदारों का उत्साह भी फीका है.

हर साल दुर्गा पूजा में गुमला में स्थानीय मूर्तिकार मूर्तियां बनाते रहे हैं. इसके अलावा विभिन्न दुर्गा पूजा समितियों द्वारा मूर्तियां बनवाने के लिए बंगाल से भी मूर्तिकारों को बुलाया जाता रहा है, लेकिन इस साल कोरोना महामारी के कारण दुर्गा पूजा में देवी-देवताओं की मूर्तियों के निर्माण के लिए बंगाल से मूर्तिकारों को नहीं बुलाया गया है. मूर्तियों के निर्माण की जिम्मेवारी स्थानीय मूर्तिकार देवकुमार प्रजापति व राजकुमार प्रजापति को दिया गया है.

ऐसे तो प्रत्येक साल 14-15 फीट ऊंची मूर्तियां बनायी जाती रही हैं, लेकिन इस साल कोरोना महामारी से बचाव को ले सरकारी दिशा-निर्देशों के आलोक में मूर्तिकार देवकुमार प्रजापति व राजकुमार प्रजापति मां दुर्गा सहित विभिन्न देवी-देवताओं की चार-चार फीट की मूर्तियों का तेजी से निर्माण कर रहे हैं. इन मूर्तिकारों द्वारा श्रीदुर्गा बाड़ी (बंगाली क्लब), श्रीबड़ा दुर्गा मंदिर, अरूणोदय संघ, नवयुवक संघ, डुमरडीह पूजा समिति, मां दूधेश्वरी धाम पूजा समिति, मां शक्ति मंदिर पूजा समिति व लोदाम पूजा समिति के लिए मूर्तियों का निर्माण किया जा रहा है. एक साथ इतने सारे पूजा पंडालों के लिए मूर्तियों का निर्माण करना चुनौती बना हुआ है. इसके बावजूद वे दिनरात मेहनत कर मूर्तियों को बनाने में लगे हुए हैं.

इस साल इन मूर्तिकारों को आर्थिक नुकसान भी हो रहा है. अन्य सालों की अपेक्षा इस साल मूर्तियों के निर्माण में आधी कीमत मिल रही है. देवकुमार प्रजापति ने बताया कि प्रत्येक साल एक पूजा समिति के लिए मूर्तियों के निर्माण में अधिकतम 40 हजार रुपये मिलता रहा है. इस साल कोरोना महामारी के कारण मूर्तियां छोटी साइज की बनानी पड़ रही है. जिस कारण कीमत भी आधी ही मिल रही है. हमारे पूर्वज भी मूर्तिकार रहे हैं. हमें यह गुण विरासत में मिला है. जिसे हम आज भी सहेजे हुए हैं और आगे भी यह बरकरार रहेगा. उन्होंने बताया कि मूर्तियों के निर्माण से जो आमदनी होती है. उसी से सालभर गुजारा चलता है.

कोरोना महामारी के कारण इस साल दुर्गा पूजा में मूर्तिकारों के साथ-साथ नागपुरी कलाकारों को भी भारी आर्थिक नुकसान हो रहा है. गुमला में कई ऐसे नागपुरी कलाकारों की टीम है, जिन्हें दुर्गा पूजनोत्सव में रात्रिकालीन रंगारंग नागपुरी गीत-संगीत कार्यक्रम के लिए बुलाया जाता रहा है. इस साल कोरोना महामारी के कारण ऐसे कार्यक्रमों के आयोजन पर रोक लगा दिया गया है. जिसका सीधा खामियाजा नागपुरी कलाकारों पर भुगतना पड़ रहा है. नागपुरी अभिनेता सह गायक प्रदीप सिंह ने बताया कि हर साल दुर्गा पूजा में ऑरकेस्ट्रा के लिए बुलाया जाता रहा है. इस साल कोरोना महामारी के कारण ऐसे कार्यक्रमों की अनुमति नहीं है.

घाघरा प्रखंड के भगवती टेक्सटाइल के संचालक अभिषेक कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर कपड़ा व्यवसाय में काफी असर पड़ा है. पूरे लॉकडाउन के दौरान दुकानें बंद रहीं. अब खोलने का आदेश मिला है. दुकान हर रोज खुल रही है. अभी पर्व-त्योहार का समय है. कोरोना संक्रमण के कारण कपड़ा का व्यवसाय 50 से 60 प्रतिशत कम हो गया है.

बिशुनपुर बाजार मोड़ स्थित भगत वस्त्रालय के संचालक दिनेश भगत ने कहा कि दुकानों पर पहले तो कोरोना की जबरदस्त मार पड़ी. दुर्गा पूजा को लेकर काफी उत्साहित थे कि दुकान अब चल पड़ेगी. कोविड-19 के अंतर्गत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार विजयदशमी मेला नहीं लगेगा. जिस कारण ग्राहक दुकान तक नहीं पहुंच रहे हैं. दुकान में खुद की हाजिरी निकाल पाना भी मुश्किल हो गया है.

श्रीबड़ा दुर्गा मंदिर के सचिव रमेश कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण का व्यापक असर इस बार दुर्गा पूजा पर पड़ रहा है. पूजा पूरे विधि विधान के साथ होगी. सिर्फ सजावट कम होगी. दुर्गा पूजा की तैयारी पहले की तरह की जा रही है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें