1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. godda
  5. irctc indian railways news wwwirctc the wait is over after 72 years the train gift to godda of jharkhand humsafar express will open from godda railway station today read complete details grj

IRCTC/Indian Railways News : इंतजार खत्म, 72 साल बाद गोड्डा को ट्रेन की सौगात, गोड्डा रेलवे स्टेशन से आज दिल्ली के लिए खुली हमसफर एक्सप्रेस, पढ़िए पूरी डिटेल्स

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
IRCTC/Indian Railways News : इंतजार खत्म, 72 साल बाद गोड्डा को ट्रेन की सौगात
IRCTC/Indian Railways News : इंतजार खत्म, 72 साल बाद गोड्डा को ट्रेन की सौगात
प्रभात खबर

IRCTC/Indian Railways News : गोड्डा (निरभ किशोर) : झारखंड के गोड्डा जिले के लोगों के लिये आज का दिन काफी महत्वपूर्ण है. आज आजादी के बाद गोड्डा में एक नया इतिहास बन गया.आजादी के बाद पहली बार गोड्डा के लोगों का सपना पूरा हुआ. गोड्डा में रेल आयेगी, गोड्डा में रेल आयेगी.. और गुरूवार को रेल आ गयी. गोड्डा रेलवे स्टेशन का ना केवल उद्घाटन हुआ, बल्कि इस स्टेशन से उद्घाटन समारोह में ही पहली बार नई दिल्ली तक के लिये हमसफर एक्सप्रेस से जिले के लोगों ने यात्रा किया. 21 बोगियों वाला पूरा वातानुकूलित कोच गोड्डा से यात्रियों को लेकर नई दिल्ली तक की सफर 24 से 25 घंटे में पूरी करेगी. इस दौरान गोड्डा के यात्री पोड़ैयाहाट, हंसडीहा, बौंसी बाराहाट, भागलपुर के बाद क्यूल, नवादा, गया, सासाराम, कानपुर होते हुए नई दिल्ली तक के लिये सफर करेंगे.

गोड्डा में रेल परियोजना पहली बार गोड्डा सांसद डॉ निशिकांत दूबे ने 2011-12 में कैबिनेट में पास करायी और यह परियोजना देखते ही देखते आगे की ओर बढते चला गया. हालांकि गोड्डा रेल को लेकर जिले के कई संगठन तथा कई नेता बांहे फुला फुला कर अपनी वाहवाही लूटने में लगे हैं, मगर गोड्डा जिले के लोगों के साथ-साथ पूरी जनता की बात मानें तो गोड्डा जिले को रेल की सौगात संसद में गोड्डा सांसद डॉ निशिकांत दूबे के जोरदार तरीके से उठाने के बाद ही मिल पायी. हालांकि यह सच है कि उस वक्त केंद्र में मनमोहन सरकार थी. उस सरकार में भी विपक्षी सांसद के रूप में गोड्डा जिला को लगातार रेलवे लाइन से अछुता रखने की बातों को लहराते हुए सरकार के समक्ष इस मामले पर अविलंब गोड्डा में रेल हो इसकी मांग की थी. हालांकि गोड्डा को रेल मिले इसके लिये गोड्डा में पर्याप्त खनी राजस्व के तौर पर ललमटिया जैसे कोल परियेाजना का भी उदाहरण श्री दूबे ने सदन में 2011-12 में दी थी. निशिकांत दूबे के प्रश्न उठाये जाने के बाद सरकार ने बजट में गोड्डा रेलवे परियोजना को शामिल कर लिया.

गोड्डा रेल परियोजना एक नजर में

परियोजना स्वीकृति:- 2011-12

कुल प्राक्कलित राशि- 550 करोड (50 प्रतिशत राज्य सरकार तथा 50 प्रतिशत रेलवे)

दूरी- हंसडीहा से पोडैयाहाट और पोडैयाहाट से गोड्डा कुल 32 किमी

गोड्डा से पोडैयाहाट स्टेशन तक - 16 किमी तक की पटरी

पोडैयाहाट से हंसडीहा - 16 किमी तक की पटरी

दो जिला में कुल - 35 गांव के मौजा की जमीन

दुमका जिला के - 3 गांव के मौजा

जमीन कितना गया - प्राइवेट 147.842 हेक्टेयर

सरकारी - 46.741 हेक्टेयर

वन जमीन - 2.541 हेक्टेयर

गोड्डा जिला के - 32 गांव के मौजा

प्रोजेक्ट आरंभ दो चरणों में - हंसडीहा से पोडैायहाट, पोडैयाहाट से गोड्डा

गोड्डा रेलवे स्टेशन का काम पूरा हुआ- 2 वर्ष में

रेल परियोजना कार्य का टेंडर हुआ - 2017-18

काम प्रारंभ - 2018 जनवरी

शिलान्यास गोड्डा स्टेशन - 2017 नवंबर

जमीन का इकरारनामा- 2017 नवंबर

टोटल कार्य- प्रोजेक्ट में 31 लाख एमक्यू मिट्टी कार्य

बलेंकेंट मेटेरियल- 90 हजार एमक्यू

स्टेशन- गोड्डा से पोडैयाहाट तक तीन, गोड्डा, कठौन, पोडैयाहाट

रोड ओवरब्रिज- 10

रोड अंडर ब्रिज- 09

बडा रेलवे पुल - 07

छोटा रेलवे पुल पानी वाला - 31

एलएचएस (लो हाई सब वे)- 13

क्रासिंग- एक भी नहीं

कार्य में सीनियर इंजीनियर - राजीव गुप्ता

अभियंताओं में - एसके कर्म, राजेन्द्र प्रसाद, नितिश कुमार एवं राजीव कुमार

प्रोजेक्ट तैयार करने वाला मुख्य अभियंता- राजीव कुमार

साथ में सहयोगी अभियंता पूर्व और बाद में - एसएस प्रियदर्शी- सर्वे कार्य / एसके मंडल / एमके मीना / राजीव कुमार

कितने बार ट्रायल- करीब 20 बार से अधिक ट्रायल के साथ साथ चालक को ट्रेनिंग

पहली बार पहुंची माल गाडी - 19 जनवरी को पहली बार मालगाडी पटरी लेकर पहुंची गोड्डा रेलवे स्टेशन

दूसरा ट्रायल- 15 फरवरी, 120 की स्पीड में इंजन का ट्रायल

सीआरएस - 5.3.2021, सीआरएस के साथ निरीक्षण

स्पीड- सीआरएस के दौरान 122 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से इंजन दौडी

रिपोर्ट आयी- सीआरएस कमिटि द्वारा 8 मार्च को ट्रेन परिचालन का प्रमाण पत्र दिया

हमसफर चलाने की योजना - 3 फरवरी 2021 को मंत्रालय का पत्र 12349 भागलपुर नई दिल्ली हमसफर एक्सप्रेस के रूप में गोड्डा से विस्तारित होगी

हमसफर चलाने के साथ समय सारणी की स्वीकृति - रेल मंत्रालय के डिप्टी डॉयरेक्टर विवेक कुमार सिन्हा ने जारी किया हमसफर एक्सप्रेस की समय सारणी

रेल के समय सारणी का रेलवे द्वारा प्रकाशन - 7 अप्रैल को अखबार में विज्ञापन के साथ मालदा डिविजन द्वारा रेलवे समय सारणी का विज्ञापन

टिकट बुकिंग - 7 अप्रैल दिन के 8 बजे से

इससे पूर्व पोडैयाहाट रेलवे स्टेशन का पूर्व में ही हो चुका है उद्घाटन, हंसडीहा से पोडैयाहाट तक चली नियमित ट्रेन

पोडैयाहाट से हंसडीहा सीआरएस का कार्य - 17.08.2019

उद्घाटन पोडै़याहाट स्टेशन - 17.9.2019 को हुआ

गोड्डा रेल परियोजना का कार्य दो वर्षों में पूरा हो गया जो देश सहित अन्य परियोजना के दृष्टिकोण से सबसे महत्वपूर्ण है. इस परियोजना में लगातार दिन रात मेहनत कर कार्य को पूरा किया गया है. यह परियोजना कम समय में तैयार हुई और रेल का परिचालन आरंभ हुआ. यह रेलवे लाइन पूरी तरह से हैरिटेज की तरह है. रेलवे विभाग द्वारा बनाये गये 32 किलोमीटर के रेल परियोजना में लोगो को पहाडों के बीच से गुजरता, जंगलों के बीच से गुजरता हुआ एक सुखद अनुभूति प्रदान करेगा. नदी के उपर बने ब्रिज से गुजरने पर उन्हें अलग आनंद देगा. इस परियोजना में कुल 7 बडे पुल, 31 छोटा पुल, 10 ओवर ब्रिज, 9 अंडर ब्रिज, 13 एलएचएस शामिल है. सबसे बडी विशेषता यह है कि इस परियोजना में एक भी रेलवे क्रासिंग नहीं है.

गोड्डा रेलवे स्टेशन पूरी तरह से खुबसूरत व डबल लाइन वाला बनाया गया है. जिसमें दोनो तरफ सडक के बीचोबीच प्लांटेशन किया गया है तथा स्ट्रीट लाइट लगी है. एनएच 333 भागलपुर गोड्डा मुख्य मार्ग रामनगर के पास रेलवे स्टेशन की ओर जाने वाली सडक डबल लाइन वाला बना है. रेलवे गेस्ट हाउस जो वर्तमान में एक ऑफिस के रूप में कार्यरत है इस रेलवे स्टेशन में कुल 24 यूनिट बने है जिसमें रेल कर्मी रहेंगे. गोड्डा रेलवे स्टेशन के अंदर बेहतर प्लांटेशन का भी कार्य किया गया है. साथ ही चार शेड जो मुख्य रूप से प्लेटफार्म नंबर एक तथा प्लेटफार्म नंबर दो में बना है. पानी की सुविधा, लाइट की सुविधा तथा यात्रियों के लिये समय हेतु ग्लोसाइन बोर्ड भी लगाया गया है. रेलवे स्टेशन के पास तीन हाई मास्क लाइट लगा कर चारो ओर चकाचौंध कर दिया गया है.

इस रेलवे स्टेशन में प्लेटफार्म नंबर एक से प्लेटफार्म नंबर दो पर जाने के लिये ओवरब्रिज नहीं बना है. बल्कि सब वे के माध्यम से लोग एक से दूसरे प्लेटफार्म पर आवागम करेंगे. गोड्डा रेलवे स्टेशन में आदिवासी संस्कृति की पूरी झलक दिखेगी. प्रवेश द्वार पर ही आदिवासी नृत्य व मांदर की छाप लगाते भित्ती चित्र बनाया गया है. जबकि सब वे के दिवारों पर कई स्थानों में आदिवासी संस्कृति कला को भी उकेरा गया है. गोड्डा रेलवे स्टेशन के नामांकन का काम गोड्डा के ही चित्रकार मुन्ना सिंह ने किया है. गोड्डा रेलवे स्टेशन से सटा गांव गोपलाडीह की आदिवासी महिलाओं में शामिल मुन्नी टुडू, रंगीला सोरेन, श्रीमति हेम्ब्रम, सुनीता किस्कू, संध्या सोरेन, सविता मुर्मू आदि बताती है कि उसके द्वारा फर्श में लगातार रंगरोगन का काम किया जा रहा है. गोड्डा के रेलवे इतिहास में उनकी भी भागीदारी हो इसके लिये उन्होंने काम किया है. आज गोड्डा स्टेशन का उद्घाटन होगा हमलोगो के लिये इससे बडी खुशी की बात कुछ और हो नहीं सकती है. झारखंड के गोड्डा जिले में गोड्डा रेलवे स्टेशन का उद्घाटन होने तथा Breaking News in Hindi से अपडेट के लिए बने रहें हमारे साथ.

दोपहर के वक्त भाजपा जिलाध्यक्ष राजीव मेहता के साथ दिशा कमिटि सदस्य संतोष सिंह एवं महामंत्री कृष्ण कन्हैया रेलवे बुकिंग काउंटर से टिकट लेने के बाद सीधे स्टेशन पहुंच कर आवश्यक जानकारी लिया. इस दौरान स्टेशन में चल रहे तैयारी आदि का भी जानकारी लिया. हालांकि जिस वक्त भाजपा नेता स्टेशन पहुंचे थे उस वक्त पंडाल आदि का काम हो रहा था, बाद में पदाधिकारियों की टीम पहुंच कर बन रहे पंडाल को बंद करा दिया. कल दिन के तीन बजे मालदा डिविजन के मुख्य सुरक्षा पदाधिकारी के साथ दर्जनों सुरक्षा बलों ने पूरे रेलवे स्टेशन का मुआयना किया. विभिन्न स्थानों को देखने के बाद पदाधिकारी पुन: गेस्ट हाउस चले गये.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें