1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dumka
  5. dumka police arrested eight cyber criminals including notorius vivek and mukesh mondal jharkhand cyber crime news mtj

Cyber Crime News: विवेक व मुकेश मंडल सहित 8 कुख्यात साइबर अपराधियों को दुमका पुलिस ने किया गिरफ्तार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Cyber Crime News: साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी की जानकारी देते दुमका के एसपी अंबर लकड़ा.
Cyber Crime News: साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी की जानकारी देते दुमका के एसपी अंबर लकड़ा.
प्रभात खबर

Cyber Crime News: दुमका : दूर बैठकर महज एक कॉल या मैसेज करके आपके खून-पसीने की कमाई और जमा पूंजी को आपके बैंक खाते से उड़ा लेने वाले 8 साइबर अपराधियों को दुमका पुलिस ने धर दबोचा है. इनके पास से पुलिस ने 34 सिमकार्ड, 29 एटीएम कार्ड, 10 एंड्रॉयड मोबाइल, 5 बैंक पासबुक तथा 1.47 लाख रूपये बरामद किये हैं.

गिरफ्तार किये गये साइबर अपराधियों में जामताड़ा जिला के फतेहपुर-जामबाद का रहने वाला विवेक कुमार मंडल व नारायणपुर थाना क्षेत्र के पतरोडीह इलाके का मुकेश मंडल शामिल हैं. ये लोग आसनसोल पश्चिम बंगाल और राजधानी रांची के कांके थाना पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये जाने के बाद जेल की हवा भी खा चुके हैं. मुकेश मंडल सहित 8 कुख्यात साइबर अपराधियों को दुमका पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये जाने से जुड़ी हर Hindi News से अपडेट रहने के लिए बने रहें हमारे साथ.

इन दोनों के साथ फतेहपुर सरमुंडी के कौशल कुमार भी धर दबोचा गया है. जबकि शेष 5 निजाम अंसारी उर्फ समीम, जियाउल अंसारी, सलाम अंसारी, नेमुल अंसारी व जियाउल अंसारी दुमका जिले के हैं. नेमुल, सलाम व जियाउल शिकारीपाड़ा के, निजाम मसलिया के बड़ा चापुड़िया का और जियाउल अंसारी छैलापाथर जामा का है.

ऊंची कीमत चुकाकर खरीदते हैं मजदूरों के एटीएम

इन आठ साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी का खुलासा करते हुए एसपी अंबर लकड़ा ने बताया कि ये साइबर अपराधी कश्मीर व अन्य स्थानों पर काम के लिए जाने वाले मजदूरों के एटीएम कार्ड को मजदूरों के मतेट से संपर्क कर ऊंची कीमत पर खरीदते हैं तथा साइबर ठगी में ठगी का शिकार बने लोगों के खाते से इन मजदूरों के खाते में साइबर क्राइम का पैसा हस्तांतरित करते हैं. फिर इन मजदूरों के पैसे की निकासी उनके एटीएम से करते हैं.

आइसीआइसीआई बैंक साइबर अपराधियों का आसान निशाना

पुलिस ने बताया है कि इन साइबर अपराधियों का सबसे आसान निशाना आइसीआइसीआइ बैंक होता है, क्योंकि इसमें रुपये की निकासी करने पर ओटीपी की मांग नहीं की जाती. इसके एटीएम से निकासी की अधिकतम सीमा 1.50 लाख रुपये प्रतिदिन है. ऐसे में ये आसानी से ऐसे बैंक के खाताधारी को आसानी से बड़ा नुकसान पहुंचा पाने में कामयाब होते थे. प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी अंबर लकड़ा के अलावा पुलिस निरीक्षक सह मुफस्सिल थाना प्रभारी नवल किशोर सिंह, एसआई श्यामल कुमार मंडल, राजेश कुमार, अरबिंद कुमार राय व मिथुन किस्कू मौजूद थे.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें