1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. jharkhand news debris fell from 50 feet above in rajpura colliery in dhanbad death of youth doing illegal mining of coal grj

झारखंड में 50 फीट ऊपर से गिरा मलबा, कोयले का अवैध उत्खनन कर रहे युवक की मौत

झारखंड के धनबाद में राजपुरा कोलियरी (Rajpura Colliery) में 50 फीट ऊपर से मलबा (Debris) भरभरा कर गिर गया. एक बड़ा चट्टान सीधे विष्णु के सिर पर जा गिरा और उसकी मौत हो गई. अवैध उत्खनन (illegal mining of coal) में अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : हादसे के बाद लगी भीड़
Jharkhand News : हादसे के बाद लगी भीड़
प्रभात खबर

Jharkhand News, धनबाद न्यूज (अरिंदम) : झारखंड के धनबाद जिले के गल्फरबाड़ी ओपी क्षेत्र के राजपुरा कोलियरी(खुली खदान) में गुरूवार की अहले सुबह चार बजे अवैध रूप से कोयला काटने के दौरान चाल धंसने से विष्णु कुमार (32 वर्ष) नामक युवक की मलबे में दबकर मौत हो गई है. मृतक खदान के पास कालीमाटी धौड़ा का रहने वाला था. घटना के बाद आनन-फानन में परिजनों एवं साथ में अवैध कोयला चुन रहे एवं काट रहे लोग शव को मलबे से बाहर निकाल कर ले भागे और गोपनीय तरीके से उसका अंतिम संस्कार कर दिया.

पुलिस एवं प्रबंधन के भय से परिजन खामोश हैं. घटना के बाद मृतक की पत्नी और छोटे-छोटे बच्चों का बुरा हाल है. हालांकि स्थानीय पुलिस और प्रबंधन घटना से इनकार कर रही है. प्रबंधन सूत्रों के अनुसार मलबा गिर जाने से एक व्यक्ति घायल हुआ है. इस संबंध में बताया जाता है कि प्रतिदिन कालीमाटी धौड़ा एवं आसपास के लोग राजपुरा कोलियरी में कोयला काटने व चुनने के लिए जाते हैं. सुबह 3 बजे से ही 50-60 की संख्या में महिला-पुरुष वहां पहुंचकर अवैध उत्खनन करते हैं. सुबह 8 बजे तक वहां से कोयला लेकर लोग अपने अपने घर आ जाते हैं.

इसके बाद उसे स्कूटर एवं साइकिल के माध्यम से क्षेत्र के चिन्हित रि-फैक्ट्री व फैक्ट्री एवं नदी घाट के माध्यम से पश्चिम बंगाल भेजा जाता है. आज सुबह भी लोग राजपुरा कोलियरी में अवैध उत्खनन कर रहे थे. अहले सुबह होने के कारण कोलियरी का गार्ड भी नहीं था. इसी बीच करीब 50 फीट ऊपर से मलबा भरभरा कर गिर गया. एक बड़ा चट्टान सीधे विष्णु के सिर पर जा गिरा और उसकी मौत हो गई. आनन-फानन में स्थानीय लोग एवं अवैध उत्खनन कर्ता उसके शव को ले गये. बताया जाता है कि सरफेस से करीब 200-300 फीट नीचे लोग उतरकर प्रतिदिन अपने पेट की आग बुझाने के लिए अवैध उत्खनन करते हैं.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें