25.4 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Shravani Mela 2023 LIVE: श्रावणी मेले में मयुराक्षी कला मंच से कांवरियों का हो रहा मनोरंजन

Shravani Mela 2023 LIVE: झारखंड के देवघर स्थित द्वादश ज्योतिर्लिंगों में एक है बाबाधाम. इसे मनोकामना लिंग भी कहते हैं. कहते हैं कि यहां आकर भक्त जो मांगता है, भोलेनाथ उसे पूरी करते हैं. देवघर में हर साल श्रावणी मेला लगता है, जो एक माह तक चलता है. देश भर से लाखों श्रद्धालु बाबा का जलाभिषेक करने आते हैं. इस साल मलमास की वजह से श्रावण मेला दो माह का है. बाबाधाम की तरह दुमका स्थित बासुकिनाथ मंदिर भी प्रसिद्ध है. देवघर आने वाले श्रद्धालु बासुकिनाथ जरूर जाते हैं. बासुकिनाथ को फौजदारी बाबा भी कहा जाता है. श्रावणी मेला 2023 से जुड़ी हर खबर के लिए बने रहें हमारे (prabhatkhabar.com) के LIVE सेक्शन में..

लाइव अपडेट

श्रावणी व भादो मेला में स्वास्थ्य सुविधा को लेकर 318 अतिरिक्त कर्मियों की होगी तैनाती

देवघर श्रावणी व भादो मेला के दौरान श्रद्धालुओं को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर 318 अतिरिक्त कर्मी तैनात रहेंगे. इन्हें तीन माह के लिए आउटसोर्स पर बहाल किया जायेगा. इसमें 50 एएनएम, 150 सफाई कर्मी, 100 वार्ड ब्वॉय व 18 सुरक्षा कर्मी शामिल रहेंगे. अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह ने इसके लिए एक करोड़ 24 लाख 83 हजार रुपये की स्वीकृति प्रदान कर दी है. एएनएम कर्मियों को 14,363 रुपये, सफाई कर्मी को 12,546 रुपये, वार्ड ब्वॉय को 13,140 रुपये व सुरक्षा कर्मी को 13,714 रुपये प्रतिमाह की दर से मानदेय का भुगतान किया जायेगा. आउटसोर्सिंग के तहत प्राप्त की गयी सेवाओं के तहत कार्यरत कर्मियों को मानदेय का भुगतान बैंक एकाउंट के माध्यम से आउटसोर्सिंग एजेंसी द्वारा प्रतिमाह किया जायेगा. आउट सोर्सिंग एजेंसी को नर्सिंग सेवा के लिए झारखंड नर्सिंग काउंसिल से पंजीकृत व पारा मेडिकल सेवाओं के लिए झारखंड पारामेडिकल काउंसिल से पंजीकृत स्टॉफ उपलब्ध कराने की जिम्मेवारी होगी.

श्रावणी मेले में मयुराक्षी कला मंच से कांवरियों का हो रहा मनोरंजन

राजकीय श्रावणी मेला महोत्सव के दौरान बासुकिनाथ नंदी चौक के समीप मुख्य सूचना जनसंपर्क विभाग के शिविर में मयूराक्षी कला मंच पर सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति प्रतिदिन मेले में हो रही है. भक्ति संगीत पर कांवरिया नाच-गाकर अपनी थकान दूर कर रहे हैं. बीडीओ सह मेला प्रभारी फुलेश्वर मुर्मू ने बताया कि मेले में आने वाले कांवरियों की सभी तरह की सुविधाओं का ख्याल रखा जा रहा है. मुख्य सूचना शिविर में प्रदर्शनी भी लगायी गयी है, जिसमें झारखंड के ऐतिहासिक व धार्मिक स्थलों को दिखाया गया है. मयूराक्षी कला मंच के कलाकारों द्वारा सावन महीने के प्रत्येक दिन मेले में कांवरियों के मनोरंजन हेतु रंगारंग कार्यक्रम की प्रस्तुति की जा रही है. कलाकारों ने भक्ति गीत की प्रस्तुति से लोगों का मन मोहा. मौके पर काफी संख्या में कांवरिया उपस्थित थे. मयूराक्षी कला मंच पर सुबह 10 बजे से रात 10 बजे तक शिव भजन, भक्ति संगीत की प्रस्तुति सुप्रसिद्ध कलाकारों द्वारा दी जाती है. कर्मियों ने बताया कि श्रावणी मेला में आने वाले श्रद्धालुओं के मनोरंजन हेतु सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा मयूराक्षी कला मंच का निर्माण बासुकिनाथ, दर्शनिया टीकर में भी किया गया है. जेटीडीसी द्वारा भी कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है जिसमे जेटीडीसी द्वारा चयनित कलाकार अपनी प्रस्तुति देते हैं. मयूराक्षी कला मंच पर भक्ति संगीत की प्रस्तुति श्रद्धालुओं में नयी ऊर्जा का संचार करता है.

बासुकिनाथ मेला ड्यूटी में आये चिकित्सक की हादसे में मौत

दुमका. बासुकिनाथ श्रावणी मेले की ड्यूटी में आये एक चिकित्सक की सड़क हादसे में मौत हो गयी. हादसा बासुकिनाथ के समीप जामा थाना क्षेत्र के असंथर गांव के पास हुआ, जिसमें बाइक सवार डॉक्टर राकेश रंजन तिवारी की मौत हो गयी. वर्तमान में डॉक्टर राकेश रंजन भागलपुर में रहते थे. वे मूल रूप से मेहरमा गोविंदपुर के रहनेवाले थे और गोड्डा बलबड्डा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित थे. बासुकिनाथ श्रावणी मेले में ड्यूटी कर रहे थे. हादसे के बाद उन्हें फूलो झानो मेडिकल कालेज अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. घटना की जानकारी मिलने पर अनुमंडल पदाधिकारी कौशल कुमार अस्पताल पहुंचे हैं.

दूसरी सोमवारी की तैयारी में जुटा बिजली विभाग, कर रहा है निरीक्षण

बिजली विभाग की पूरी टीम श्रावणी मेला-2023 की दूसरी सोमवारी की तैयारी में जुट गया है. इस बाबत विभागीय पदाधिकारियों व कर्मियों की टीम ने जिला प्रशासन के साथ मेला क्षेत्र व कांवरिया पथ का भ्रमण किया. शनिवार को बिजली विभाग की टीम आर मित्रा स्कूल के सामने 440 वोल्ट तार की मरम्मत की. इससे पूर्व बिजली विभाग के पदाधिकारियों ने अधीक्षण अभियंता अशोक कुमार उपाध्याय की अध्यक्षता में पहली सोमवार पर बेहतर बिजली आपूर्ति किये जाने व खामियों का आकलन कर समीक्षा की थी. इसी कड़ी में आवश्यकतानुसार स्थलों पर जिला प्रशासन के निर्देश पर नये सिरे से मेन पावर लगाये जाने की भी योजना बना रही है. वैसे चुनिंदा स्थलों पर एक-दो लाइनमैन की अलग से प्रतिनियुक्ति किया जाना है.

बाबा मंदिर में बढ़ती जा रही है भीड़, सुगम जलार्पण कर रहे है देवतुल्य श्रद्धालु

राजकीय श्रावणी मेला, 2023 के 13 वें दिन के अवसर पर आज बाबा मंदिर प्रांगण व आसपास के क्षेत्रों के अलावा रुटलाइन श्रद्धालुओं से पटा दिखाई दे रहा है. आज सुबह 04:00 बजे से जलार्पण शुरू होते ही पूरा मंदिर परिसर बोल-बम के नारों से गुंजयमान हो गया. वहीं बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण के लिए देवतुल्य श्रद्धालु रात्रि पहर से ही कतारबद्ध होने लगे थे. देवघर जिला प्रशासन की तत्त्परता एवं समुचित व्यवस्था होने के वजह से सभी देवतुल्य श्रद्धालुओं को सुगम व सुरक्षित जलार्पण कराया जा रहा है.

Shravani Mela 2023 Live: श्रावणी मेले में मयुराक्षी कला मंच से कांवरियों का हो रहा मनोरंजन
Shravani mela 2023 live: श्रावणी मेले में मयुराक्षी कला मंच से कांवरियों का हो रहा मनोरंजन 1

दूसरी सोमवारी को लेकर एसपी ने क्यूआरटी को किया ब्रीफ

श्रावणी मेला की दूसरी सोमवारी पर श्रद्धालुओं को सुलभ व सुरक्षित जलार्पण कराने और यातायात व्यवस्था सुदृढ़ करने को लेकर एसपी सुभाष चंद्र जाट ने मेला क्षेत्र में प्रतिनियुक्त सभी क्यूआरटी टीम को ब्रीफिंग की. संपूर्ण मेला क्षेत्र में उनके कर्तव्यों के बारे में बताया गया. साथ ही अबतक मेले के संचालन में जो कठिनाइयां आयी हैं, उसे कैसे दूर किया जाये, मेला संचालन, सुरक्षा व्यवस्था व यातायात व्यवस्था को बेहतर कैसे किया जाये, इस पर विचार-विमर्श किया गया. एसपी ने कहा कि एकमात्र उद्देश्य है कि बाबा नगरी आने वाले देवतुल्य श्रद्धालुओं को बेहतर रूप से सुलभ व सुरक्षित जलार्पण कराया जा सके. मौके पर मेला ड्यूटी में आये जमशेदपुर सिटी एसपी के विजयशंकर, एसडीपीओ पवन कुमार, सारठ एसडीपीओ धीरेंद्र नारायण बंका, मधुपुर एसडीपीओ विनोद रवानी व अन्य मौजूद थे.

सावन की दूसरी सोमवारी कल, बाबा मंदिर से लेकर कांवरिया रूटलाइन तक प्रशासन मुस्तैद

मलमास मेला शुरू होने से पहले सावन की दूसरी सोमवारी पर बाबा मंदिर में कांवरियों की भारी भीड़ उमड़ने की संभावना है. इसे देखते हुए पुलिस-प्रशासन मुस्तैद है. बाबा वैद्यनाथ मंदिर से लेकर कांवरिया रूटलाइन तक सुविधा व सुरक्षा बढ़ायी गयी है. बाबा मंदिर से आठ किलोमीटर की दूरी तक कांवरिया रूटलाइन में पंडाल व बैरिकेडिंग की व्यवस्था की गयी है. किसी प्रकार की अव्यवस्था से निबटने के लिए पूरे मेला क्षेत्र में 8700 पुलिस अफसर व जवानों की प्रतिनियुक्ति की गयी है.

पूरी खबर के लिए Click करें

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें