1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. weather forecast bihar flood live updates bihar badh 2020 updates of all district bhagalpur gopalganj madhepura darbhanga madhubani saran champaran munger and all other as 124 blocks in 16 districts of bihar flood affected ndrf accelerates speed of rescue mission

Weather forecast, Bihar Flood Updates: गोपालगंज की 66 पंचायतों में चार लाख लोग बाढ़ से प्रभावित

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
pti photo

Weather forecast, Bihar Flood LIVE Updates: बिहार में कोरोना संक्रमण के बीच बाढ़ की आपदा ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है. प्रदेश के 16 जिलों के 124 प्रखंडों के लगभग 1200 से अधिक पंचायत जलमग्न हो चुके है. जिससे लोगों का जनजीवन काफी प्रभावित हो चुका है.बिहार में बाढ़ का कहर बढ़ता जा रहा है. गंगा समेत नौ नदियां अब भी कई जगह लाल निशान से ऊपर बह रही हैं. गंगा का बढ़ना लगातार जारी है. शुक्रवार को भी इस नदी के जलस्तर में बक्सर से कहलगांव तक 3 से 10 सेमी के करीब की वृद्धि हुई है. कहलगांव में गंगा लाल निशान को पार कर गई है. इस बीच गंडक और कोसी का डिस्चार्ज भी गुरुवार को नेपाल में हुआ. लोगों के सामने दाना-पानी की मुश्किलें गहरा गई है. वहीं NDRF की टीम लगातार लोगों का रेस्क्यू कर रही है. मधुबनी,दरभंगा,गोपालगंज के हालात गंभीर हो चुके हैं. सरकार के तरफ से राहत कार्य लगातार जारी है. लगभग 12 हजाार लोगों को अभी तक राहत शिविर में ले जाया गया है.

email
TwitterFacebookemailemail

गोपालगंज की 66 पंचायतों में चार लाख लोग बाढ़ से प्रभावित

बाढ़ त्रासदी से गोपालगंज के करीब चार लाख लोग प्रभावित हुए हैं. राहत सामग्री पहुंचाने काम काम किया जा रहा है. सबसे अधिक बैकुंठपुर प्रखंड प्रभावित है. यहां 22 पंचायतें बाढ़ से प्रभावित हुईं, जिनमें सात पंचायत पूर्ण रूप से प्रभावित हैं. इलाके के करीब एक लाख 59 हजार लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. शनिवार को सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये विधायकों के साथ जिला प्रशासन की समीक्षा बैठक की गयी. जिला प्रशासन की ओर से प्रभावित हुए लोगों और पंचायतों की रिपोर्ट जारी की गयी. गोपालगंज के पांच प्रखंडों की 66 पंचायत बाढ़ से प्रभावित हैं. इनमें 3.82 लाख लोगों के प्रभावित होने का सर्वे किया जा चुका है. राहत सामग्री सभी लोगों तक पहुंचायी जा रही है. डीएम अरशद अजीज ने बताया कि बाढ़पीड़ित परिवारों के बीच अनुग्रह अनुदान की राशि का वितरण किया जा रहा है. बैंक खाते में छह हजार रुपये की राशि भेजी जा रही है. समीक्षा बैठक में विधायक मिथिलेश तिवारी ने कहा कि कुछ लोगों के द्वारा भ्रम फैलाया जा रहा है कि जिनके पास राशन कार्ड होगा, उन्हें ही यह राशि मिलेगी. इस सूचना के बाद डीएम ने आदेश जारी किया, जिसमें अनुग्रह अनुदान राशि के लिए किसी तरह के दस्तावेज की जरूरत नहीं होने की बात कही गयी है. अबतक 41688 लोगों की प्रवृष्टि की गयी, जिनमें 26550 परिवारों को प्रति परिवार छह हजार रुपये की दर से राशि दी जा चुकी है. डीएम ने कहा कि शेष लोगों को 15 अगस्त तक राशि खाते में भेज दी जायेगी.

email
TwitterFacebookemailemail

दो से तीन घंटों में सारण जिले में बारिश और वज्रपात की संभावना

मौसम विभाग ने अगले दो से तीन घंटे में बिहार के सारण जिले में बारिश की चेतावनी जारी की है. मौसम विभाग ने कहा है कि अगले दो से तीन घंटों के दौरान इन जिलों में मेघ-गर्जन या वज्रपात के साथ हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश की संभावना हे.

email
TwitterFacebookemailemail

वैशाली पहुंचे तेज प्रताप यादव, पातेपुर में बाढ़पीड़ितों से मिले

वैशाली जिले में बाढ़ पीड़ितों से मिलने पहुंचे तेज प्रताप यादव
वैशाली जिले में बाढ़ पीड़ितों से मिलने पहुंचे तेज प्रताप यादव
प्रभात खबर

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सह महुआ विधायक तेज प्रताप यादव शुक्रवार को वैशाली जिले के पातेपुर के बाढ़ग्रस्त इलाके में पीड़ितों का हाल जानने पहुंचे. ट्रैक्टर पर चढ़ कर उन्होंने इलाके का दौरा किया और पीड़ितों के बीच राहत सामग्री का वितरण किया. इस दौरान उन्होंने सरकार पर भी जमकर निशाना साधा. साथ ही, प्रशासन से बाढ़पीड़ितों को अविलंब सहायता उपलब्ध कराने की मांग की. बाढ़पीड़ितों से मिलने पातेपुर पहुंचे पूर्व मंत्री तेज प्रताप सबसे पहले बलनाथपुर कुड़िया गांव में व्यापार मंडल अध्यक्ष गणेश राय के घर पहुंचे. बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों की जानकारी लेने के बाद वे प्रभावित इलाके के लोगों से मिलने के लिए रवाना हुए. बलिगांव के मुसहरी टोला में पातेपुर से एनएच-28 को जोड़नेवाली मुख्य सड़क पर लगभग तीन से चार फीट पानी होने के कारण पूर्व मंत्री का काफिला रुक गया. यहां से वे ट्रैक्टर पर चढ़ कर दूसरी तरफ बाढ़ के पानी से घिरे भरथीपुर गांव पहुंचे और बाढ़पीड़ितों के बीच राहत सामग्री का वितरण किया. उसके बाद बलिगांव व लदहो गांव में भी बाढ़पीड़ितों से मिलकर उनके बीच राहत सामग्रियों का वितरण किया.

email
TwitterFacebookemailemail

अगले तीन घंटों में बिहार के पांच जिलों में बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने अगले तीन घंटों में बिहार के पांच जिलों में बारिश की चेतावनी जारी की है. इनमें मधुबनी, जमुई, नवादा, बांका और भागलपुर शामिल है. मौसम विभाग ने कहा है कि अगले तीन घंटों के दौरान इन जिलों में मेघ-गर्जन या वज्रपात के साथ हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश की संभावना हे.

email
TwitterFacebookemailemail

केंद्रीय जल आयोग के अनुसार कोसी नदी का जलस्तर...

जल संसाधन विभाग ने सभी बाढ़ सुरक्षात्मक तटबंधों को सुरक्षित होने का दावा किया है. केंद्रीय जल आयोग के अनुसार कोसी नदी का जलस्तर खगड़िया जिले के बलतारा में खतरे के निशान से 125 सेंमी और कुरसेला में 25 सेंमी ऊपर था. गंडक नदी का जलस्तर गोपालगंज के डुमरिया घाट पर खतरे के निशान से 83 सेंमी ऊपर था. बुढ़ी गंडक नदी सिकंदरपुर में 68 सेंमी, समस्तीपुर में 183 सेंमी, रोसड़ा में खतरे के निशान से 320 सेंमी और खगड़िया में 129 सेंटीमीटर ऊपर बह रही थी.

email
TwitterFacebookemailemail

नवगछिया जाने वाली एकमात्र सड़क के उपर पानी

भागलपुर: इस्माइलपुर गांव के पशुपालक पशुओं के साथ सुरक्षित ठिकाने की ओर जा रहे हैं. विभिन्न स्परों पर भी पानी का दबाव बढ़ता जा रहा है. खास कर स्पर संख्या छह पर काफी तेज आवाज हो रही है, जिससे तटवर्ती गांव के लोगों की धडकनें तेज हो गयी हैं. पूरा इस्माइलपुर टापू में तब्दील हो चुका है. जबकि यहां से नवगछिया जाने वाली एकमात्र सड़क के उपर पानी बहने लगा है.

email
TwitterFacebookemailemail

भागलपुर में गंगा का जलस्तर हर तीन घंटे में एक सेमी बढ़ता जा रहा है

भागलपुर में गंगा का जलस्तर हर तीन घंटे में एक सेमी बढ़ता जा रहा है. शुक्रवार को बीते 24 घंटे के अंदर यहां के जलस्तर में 25 प्रतिशत की बढोत्तरी दर्ज की गई है.केंद्रीय जल आयोग के अनुमान के अनुसार, अगले 24 घंटे के अंदर यह और तेजी से बढ़ेगी. शनिवार शाम 4 बजे तक गंगा का जलस्तर यहां 32.85 सेमी पहुंचने का अनुमान है.शहर के हनुमान घाट पर शुक्रवार शाम छह बजे तक 32.78 मीटर पर जलस्तर पहुंच चुका था.

email
TwitterFacebookemailemail

गंगा समेत नौ नदियां अब भी कई जगह लाल निशान से ऊपर

बिहार में बाढ़ का कहर बढ़ता जा रहा है. गंगा समेत नौ नदियां अब भी कई जगह लाल निशान से ऊपर बह रही हैं. गंगा का बढ़ना लगातार जारी है. शुक्रवार को भी इस नदी के जलस्तर में बक्सर से कहलगांव तक 3 से 10 सेमी के करीब की वृद्धि हुई है. कहलगांव में गंगा लाल निशान को पार कर गई है. इस बीच गंडक और कोसी का डिस्चार्ज भी गुरुवार को नेपाल में हुआ.

email
TwitterFacebookemailemail

पटना में गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान के नजदीक पहुंचा

पटना : राजधानी पटना में गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान के नजदीक पहुंच गया है. शुक्रवार को जलस्तर गांधी घाट पर 48.12 मीटर था. यह खतरे के निशान से 48 सेंटीमीटर नीचे था. हालांकि दीघा घाट पर गंगा का जलस्तर 49.33 मीटर था. यह खतरे के निशान से एक मीटर 22 सेंटीमीटर नीचे था. इसके साथ ही कहलगांव में गंगा नदी खतरे के निशान से नौ सेंटीमीटर ऊपर बह रही थी. हाथीदह, मुंगेर और भागलपुर में नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी का रुख है.

email
TwitterFacebookemailemail

8 अगस्त से 11 अगस्त तक 10 एमएम बारिश होगी

भागलपुर: बिहार कृषि विश्वविद्यालय द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि 8 अगस्त से 11 अगस्त तक 10 एमएम बारिश होगी और हवा की गति 120 डिग्री रहेगा. जबकि 12 अगस्त को 5 एमएम बारिश होगी और हवा की गति 90 डिग्री रहेगी.

email
TwitterFacebookemailemail

अगले एक सप्ताह तक मुंगेर व आसपास के क्षेत्रों में बारिश का अनुमान

मुंगेर .शनिवार से अगले एक सप्ताह तक मुंगेर व आसपास के क्षेत्रों में बारिश होगी. अनुमान है कि जिले में हर रोज 10 एमएम बारिश होगी. जबकि आसमान में बादल भी छाया रहेगा. बिजली कड़कने के साथ ही व्रजपात होने की आशंका भी व्यक्त की गयी है. यह बारिश किसानों के लिए काफी लाभदायक होगी. मौसम विभाग के अनुसार जिले में अगले एक सप्ताह के दौरान आसमान में बादल छाया रहेगा. जबकि इस सप्ताह के दौरान हल्की बारिश होने की संभावना है. बिजली कड़कने के साथ ही गरज-चमक की संभावना है.

email
TwitterFacebookemailemail

पिछले 24 घंटे में गंगा के जलस्तर में लगभग 28 सेमी की वृद्धि

भागलपुर: गोपालपुर के इस्माइलपुर-बिंद टोली में गंगा खतरे के निशान से 30 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है. पिछले 24 घंटे में गंगा के जलस्तर में लगभग 28 सेमी की वृद्धि हुई है. इसके कारण गंगा का पानी दियारा में तेजी से फैल रहा है. पशुपालक पशुओं के साथ सुरक्षित ठिकाने की ओर जा रहे हैं. विभिन्न स्परों पर भी पानी का दबाव बढ़ता जा रहा है. खास कर स्पर संख्या छह पर काफी तेज आवाज हो रही है, जिससे तटवर्ती गांव के लोगों की धडकनें तेज हो गयी हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

गंडक नदी की बाढ़ से घिरे 8386 लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने रेसक्यू कर सुरक्षित निकाला

गंडक नदी की बाढ़ से घिरे 8386 लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने रेसक्यू कर सुरक्षित निकाला. गर्भवती महिलाओं के अलावे नवजात बच्चों को भी निकाला गया. देवापुर में फंसे लोगों को निकालने में डीआरएफ को सर्वाधिक रेसक्यू ऑपरेशन करना पड़ा. देवापुर में कुछ लोगों के द्वारा जवानों के साथ दुर्व्यवहार भी किया गया. गोपालगंज में एनडीआरएफ नौंवी बटालियन बिहटा के तीन टीम कमान संभाले हुए है. टीम कंमाडर दीपक कुमार गुप्ता के नेतृत्व में बाढ़ प्रभावित इलाके में लोगों को बचाने की मुहिम जारी है.

email
TwitterFacebookemailemail

खगड़िया में बहादुर ग्रामीणों को किया जाएगा सम्मानित

खगड़िया. बुधवार की रात तटबंध को टूटने से बचाने में जुटे रहे ओलापुर गंगौर व चंद्रपुरा के कई बहादुर ग्रामीणों को सम्मानित किया जाएगा. डीएम ने सम्मानित किये जाने वाले ग्रामीणों की सूची तैयार करने के निर्देश दिये हैं. बताया जाता है 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर इनलोगों को सम्मानित किया जा सकता है. डीएम श्री घोष ने बताया कि बूढ़ी गंडक के तटबंध को टूटने से बचाने के लिये ग्रामीणों ने काफी सहयोग किया है. बहादुरों की तरह डटे भी रहे और कंधे से कंधा मिलाकर खतरा टलने तक इनलोगों ने सहयोग भी किया. पूरी टीम एवं ग्रामीणों की कड़ी मेहनत का ही परिणाम है कि तटबंध को टूटने से बचाने में सफलता मिली है. जिसके लिये इन दोनों गांव के लोगों का सम्मानित किया जाएगा.

email
TwitterFacebookemailemail

तटबंधों पर नजर रखने का निर्देश

बेतिया: जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में लगातार हो रही बारिश तथा गंडक एवं अन्य नदियों के जलस्तर में तेजी से हो रही वृद्धि को देखते हुए सभी संबंधित अधिकारी सचेत रहें और सभी तटबंधों पर पैनी नजर बनायें रखें।

email
TwitterFacebookemailemail

गोपालगंज: गंडक नदी की तटबंध टूटने के साथ ही पकहां की गौतमी देवी अपने बच्चों के साथ फंस गयी. आस-पड़ोस के लोग अपना सामान लेकर भागने लगे. कोई गौतमी को सहयोग नहीं कर पाया. उसके घर में छाती भर पानी की धारा बहने लगी. गौतमी देवी ने मोबाइल पर एसडीओ उपेंद्र कुमार पाल को इसकी जानकारी दी. एसडीओ ने एनडीआरएफ की टीम को रात के 11 बजे पकहां में भेजकर गौतमी और उसके बच्चों को निकाला. अकेले गौतमी ही नहीं. बल्कि सदर प्रखंड के मंगुरहां में गर्भवती महिला को एनडीआरएफ ने रेस्क्यू कर निकालकर अस्पताल पहुंचवाया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें