1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. lojpa news updates as chirag paswan and pasupati paras view on prince raj paswan as tweeter handle of ljp says skt

लोजपा में घमासान के बीच प्रिंस राज पर पारस और चिराग की नजर, जिधर पलटे बदल जायेगी बाजी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
चिराग व प्रिंस राज (file pic)
चिराग व प्रिंस राज (file pic)
facebook

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के चचेरे भाई और पशुपति कुमार पारस के भतीजे सांसद प्रिंस राज की स्थिति वर्तमान में पार्टी के भीतर तुरुप के इक्के जैसी बनी हुई है. मतलब प्रिंस राज जिधर रुख रखेंगे, चाचा-भतीजा की लड़ाई में उधर ही पलड़ा भारी हो जायेगा. वर्तमान में प्रिंस ने भले ही चाचा पारस के साथ रहने का मन किया हो, लेकिन ऐसा नहीं है कि चिराग व प्रिंस में सब कुछ खत्म हो गया है.

वॉल फोटो में अभी भी प्रिंस 

ट्वीटर पर चिराग पासवान का आधिकारिक हैंडल युवा बिहारी चिराग पासवान के नाम से है. इसमें जो वॉल पोस्टर लगा है, उसके चिराग के अलावा रामविलास पासवान और प्रिंस राज की भी फोटो लगी है. दूसरी तरफ प्रिंस राज के ट्वीटर एकाउंट की चिराग पासवान के स्टाइल में युवा बिहारी प्रिंस राज के नाम से है और वॉल फोटो में चिराग पासवान अभी भी प्रिंस के साथ मौजूद हैं.

दो तिहाई बहुमत का पेच

इधर, सांसदों की संख्या व टूट की बात करें तो लोजपा के कुल छह सांसदों में पारस के साथ कुल पांच सांसद हैं, जबकि वर्तमान में चिराग अपनी तरफ अकेले सांसद के रूप में बचे हैं. मगर, अगर प्रिंस राज अपने चाचा का साथ छोड़ कर भाई के साथ चले आते हैं तो मामला दो-चार के आंकड़े के साथ फंस जायेगा. इसलिए भविष्य में प्रिंस राज का स्टैंड बहुत कुछ तय करेगा. दूसरी तरफ चिराग समर्थक नेताओं का भी मानना है कि प्रिंस राज उधर भारी मन से ही हैं, क्योंकि चिराग व उनकी ट्यूनिंग बेहतर रही है.

आरोप लगने के बाद पटना नहीं आये प्रिंस

इधर, प्रिंस राज पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगने के बाद को चिराग पासवान को लेकर थोड़े नरम पड़ गये हैं. वो शुक्रवार को पटना में पारस गुट की हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भी वो पटना नहीं आये थे. इसके अलावा रविवार को जब दिल्ली में पारस ने प्रेस कांफ्रेंस किया तो भी उस दौरान वो वहां मौजूद नहीं थे. हालांकि, पारस के नयी कार्यकारिणी सदस्यों की सूची को लेकर उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल से दोबारा रीट्वीट कर अटकलों पर विराम लगाने की कोशिश की है.

Posted By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें