1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. corona virus 60 new corona positives found in bihar all parks and zoos of the state closed from 31 december to 2 january rdy

Corona Virus: बिहार में मिले 60 नये कोरोना पॉजिटिव, 31 दिसंबर से दो जनवरी तक प्रदेश के सभी पार्क और जू बंद

बिहार में तीन अगस्त को 60 कोरोना के मरीज मिले थे. इधर कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए 31 दिसंबर से दो जनवरी तक राज्य के सभी पार्क, उद्यान व चिड़ियाघर को बंद कर दिया गया है. मुख्य सचिव त्रिपुरारि शरण ने इस संबंध में आदेश जारी किया है

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
corona virus
corona virus
file pic

बिहार में मंगलवार को 60 नये कोरोना संक्रमित मिले, जो करीब पांच महीने बाद सबसे अधिक संख्या है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से मंगलवार को जारी आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को राज्य में 47 नये संक्रमित मिले. इसके अलावा पटना सिटी में 13 नये कोरोना पॉजिटिव पाये गये. इससे पहले राज्य में तीन अगस्त को 60 कोरोना के मरीज मिले थे. इधर कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए 31 दिसंबर से दो जनवरी तक राज्य के सभी पार्क, उद्यान व चिड़ियाघर को बंद कर दिया गया है. मुख्य सचिव त्रिपुरारि शरण ने इस संबंध में आदेश जारी किया है.

. इसके अतिरिक्त सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेल-कूद, शैक्षणिक, सांस्कृतिक और धार्मिक आयोजनों और कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है. सोशल डिस्टैंसिंग का पालन भी सुनिश्चित करना होगा. गुरु गोविंद सिंह अस्पताल की ओर से कंगन घाट पर लगाये गये कोरोना जांच कैंप में वहां एक प्रोजेक्ट के काम कर रहे 11 कर्मी पॉजिटिव पाये गये. इसके अलावा मीरशिकार टोली निवासी एक गर्भवती महिला व बेंगलुरु से पटना आये बेगम की हवेली निवासी 19 वर्षीय एक युवक की िरपोर्ट पॉजिटिव आयी है.

पटना में 23 नये संक्रमित एक्टिव मरीज 70 के पार

पटना जिले में मंगलवार को 23 संक्रमित पाये गये. इनमें दिल्ली, रांची व कोलकाता से आये तीन यात्री भी शामिल हैं. सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी ने बताया कि राजीवनगर का युवक दिल्ली से, रामपुर का युवक कोलकाता से और बोरिंग रोड का एक व्यक्ति रांची से लौटा था. पांच दिन पहले तीनों की आरटीसीपीआर जांच करायी गयी थी, जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. वहीं, छह स्वस्थ हुए हैं. पटना जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 70 के पार हो गयी है.

एहतियाती खुराक के लिए मेडिकल प्रमाणपत्र जरूरी नहीं : गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 60 वर्ष व उससे अधिक उम्र के बुजुर्गों को टीके के एहतियाती डोज लगाते समय मेडिकल प्रमाणपत्र प्रस्तुत करने की जरूरत नहीं होगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें