1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar increased 198 colleges in a year reached fourth place in enrollment beating assam and chhattisgarh

राज्य में एक साल में बढ़े 198 कॉलेज, नामांकन में चौथे स्थान पर पहुंचा बिहार, असम और छत्तीसगढ़ को पछाड़ा

बिहार कॉलेजों में नामांकन के मामले में देश में चौथे स्थान पर पहुँच गया है. बिहार के सकल नामांकन अनुपात में सबसे तेज वृद्धि, 14.5% से बढ़ कर 19.3% हो गया. एक साल में राज्य में बढ़े 198 कॉलेज, इनमें 87 नर्सिंग कॉलेज है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बिहार में एक साल में बढ़े 198 कॉलेज
बिहार में एक साल में बढ़े 198 कॉलेज
सांकेतिक फोटो

उच्च शिक्षण संस्थानों में नामांकन के मामले में बिहार देश में चौथे स्थान पर पहुंच गया है. यह उसकी बड़ी छलांग मानी जा रही है. नामांकन बढ़ने की वजह से शैक्षणिक सत्र 2020-21 में बिहार के सकल नामांकन अनुपात (जीआइआर) में रिकाॅर्ड करीब पांच फीसदी का इजाफा हुआ है.

एक साल में राज्य में बढ़े 198 कॉलेज

जीआइआर बढ़ाने में सबसे अधिक भूमिका कॉलेजों की बढ़ी हुई संख्या रही है. एक साल में राज्य में कॉलेजों की संख्या 198 बढ़ी है. इनमें सर्वाधिक 87 कॉलेज नर्सिंग के हैं. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय अखिल भारतीय सर्वेक्षण रिपोर्ट (एआइएसएचइ) की रिपोर्ट आधिकारिक तौर पर जारी करेगा. जानकारी के मुताबिक बिहार के उच्च शिक्षण संस्थाओं में पिछले शैक्षणिक सत्र में 23 लाख 33 हजार 469 नामांकन हुए हैं.

देश में चौथा सबसे ज्यादा नामांकन करने वाला राज्य

नामांकन रिपोर्ट के मुताबिक बिहार देश में चौथा सबसे ज्यादा नामांकन करने वाला राज्य बन गया है. सबसे अधिक 52,93,371 नामांकन करके उत्तर प्रदेश शीर्ष पर है, जबकि महाराष्ट्र 40,73,968 नामांकनों के साथ दूसरे और तमिलनाडु 31,22,930 नामांकनों के साथ तीसरे स्थान पर हैं.

बिहार में 1043 कॉलेज नामांकित

उच्च शिक्षा पर अखिल भारतीय सर्वेक्षण रिपोर्ट (एआइएसएचइ ) के लिए विभिन्न राज्यों की प्रविष्टि के अध्ययन के मुताबिक पिछली साल की ऐश रिपोर्ट में कॉलेजों की संख्या 845 थी. इस साल आने वाली रिपोर्ट में बिहार में 1043 कॉलेज नामांकित हैं. प्रदेश में संबद्ध कॉलेजों की संख्या 755 , सरकारी और यूनिवर्सिटी कॉलेज कैंपस 281 , पीजी और ऑफ कैंपस सेंटर दो और रिकोग्नाइज सेंटरों की संख्या पांच है.

87 नर्सिंग कॉलेज

बढ़े 198 कॉलेजों में सर्वाधिक 87 कॉलेज नर्सिंग के हैं. नर्सिंग के अलावा होटल मैनेजमेंट में दो, पैरामेडिकल और इंस्टीट्यूट अंडर मिनिस्ट्री में एक-एक कॉलेज स्थापित किया गया है. इसके अलावा पीजीडीएम शिक्षण संस्थाओं की संख्या चार, टीचर्स ट्रेनिंग की 60 और पॉलिटेक्निक की संख्या 64 हो गयी है. ये सब स्टैंड अलॉन अर्थात केवल एक विषय या स्टीम बढ़ाने वाले शिक्षण संस्थान हैं.

सकल नामांकन अनुपात में असम और छत्तीसगढ़ को पछाड़ा

फिलहाल बिहार का सकल नामांकन अनुपात (जीइआर) 14.5% से बढ़ कर जीइआर 19.3% फीसदी अनुमानित है. यह देश में सर्वाधिक वृद्धि दर बतायी जा रही है. अगर केंद्र शासित प्रदेशों को छोड़ दें, तो जीआइआर में बिहार ने असम और छत्तीसगढ़ को काफी पीछे छोड़ दिया है.

सत्र 2020-21 में नामांकन में टाॅप-4 राज्य

  • उत्तर प्रदेश 52,93,371

  • महाराष्ट्र 40,73,968

  • तमिलनाडु 31,22,930

  • बिहार 23,33,469

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें