17.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

बिहार: दीपावली पर नकली मिठाइयों से सावधान! हो सकते हैं बीमार, खाद्य विभाग कर रही ये कार्रवाई

दीपावली से पहले मिठाइयों में मिलावट करने वाले ज्यादा सक्रिय रहते हैं. इससे लोगों के स्वास्थ्य पर असर पड़ता है. कम पूंजी में ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए मिलावटखोर ऐसा करते हैं. इसी को लेकर नवादा में बुधवार को फूड एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट की तरफ से मिठाई दुकानों में छापेमारी की गयी.

नवादा. दीपावलीका त्योहार इस साल 12 नवंबर को मनाया जाएगा. दीपावली पर गणेश-लक्ष्मी की पूजा के साथ-साथ उपहार में मिठाई देने का भी चलन है. ऐसे में दीपावली को लेकर नामी दुकानों में बड़ी संख्या में ऑर्डर आने शुरू हो गए हैं. माल तैयार करने के लिए खोवा की खेप नवादा पहुंचने लगी है. अनुमान है कि रोशनी के इस त्योहार में करोड़ों रुपये की मिठाइयों का कारोबार होगा. मिठाइयों की मांग अधिक होगी, तो मौके का लाभ उठाने के लिए कई कारोबारी मिलावट भी कर सकते है. इससे लोगों के स्वास्थ्य पर असर पड़ता है. कम पूंजी में ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए मिलावटखोर ऐसा करते हैं. इसी को लेकर नवादा में बुधवार को फूड एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट की तरफ से विभिन्न मिठाई दुकानों में छापेमारी की गयी. जहां मिठाई दुकानों से कई सैंपल कलेक्ट किये गये और उसे लैबोरेट्री जांच के लिए भेजा गया. कलेक्ट किए गए सैंपल की लैबोरेट्री जांच में अगर रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो वैसे दुकानदारों पर कार्रवाई की जायेगी जिनके यहां से सैंपल कलेक्ट किए गए हैं.

कई दुकानों से इकट्ठा किए गए सैंपल

फूड इंस्पेक्टर ने अपनी टीम के साथ मिठाइयों की गुणवत्ता जांच के लिए बुधवार को शहर के कई दुकानों से सैंपल इकट्ठा किया. इस दौरान उन्होंने ग्राहकों से कहा कि मिलावटी मिठाईयां खरीदने से बचा जा सकता है. फूड इंस्पेक्टर मुकेश कश्यप ने बताया कि दीपावली के तयोहार को ध्यान में रखते हुए आठ नवंबर बुधवार को नवादा शहर स्थित कुल पांच खाद्य प्रतिष्ठानों का निरीक्षण किया गया. इस दौरान 11 संदिग्ध खाद्य पदार्थों का नमूना संग्रह किया गया है.

इन दुकानों से लिया गया सैंपल

खाद्य एवं सुरक्षा विभाग की टीम ने सबसे पहले शहर के सरदार स्वीट्स, पार नवादा, नियर रजौली बस स्टैंड के प्रतिष्ठान का निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान वहां से संदिग्ध पेड़ा, खोवा बर्फी एवं बेसन लड्डू का नमूना संग्रह किया. इसके बाद टीम कलाली रोड स्थित अरविंद कुमार गुप्ता के प्रतिष्ठान में पहुंची जहां टीम ने सोन पापडी, डोडा बर्फी एवं बुन्दी दाना का सैंपल कलेक्ट किया. टीम ने केक माई डे, हनुमान कॅम्प्लेक्स मेन रोड में केक बेकरी से भी नमूना संग्रह किया. होटल मनपसंद प्रसाद विगहा से काजु बर्फी एवं मिल्क केक का नमूना लिया गया व पूजा स्वीट्स सरकारी बस स्टैंड से गोंद लड्डू एवं घी बर्फी का नमूना लिया गया. इन सभी प्रतिष्ठानों से छह लिगल व पांच सर्वे नमूना लिया गया. जिसे रासायनिक जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जा रहा है. जांच प्रतिवेदन प्राप्त होने के उपरांत जांच प्रतिवेदन के आधार पर खाद्य संरक्षा व मानक अधिनियम 2006 नियमावली 2011 के अंतर्गत कार्रवाई की जायेगी.

Undefined
बिहार: दीपावली पर नकली मिठाइयों से सावधान! हो सकते हैं बीमार, खाद्य विभाग कर रही ये कार्रवाई 2
Also Read: गया में युवक ने फर्जी तरीके से पास की बहाली परीक्षा, ज्वाइनिंग के लिए पहुंचा बैंक, जानिए आगे क्या हुआ..

प्रतिष्ठित दुकानों से ही लेनी चाहिए मिठाइयां

दीपावली को लेकर मिठाइयों में सिंथेटिक खोवा, प्रतिबंधित रंग और एसेंस का खूब उपयोग किया जाता है. इसके लिए जिले के बाहर से लॉट में सिंथेटिक खोवा मंगाये जा रहे है. स्थानीय स्तर पर भी शेखपुरा, वारिसलीगंज, काशीचक इत्यादि जगहों से दूध मंगाया जा रहा है, जिसका स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव होता है. शहर में बड़ी दुकानों से ज्यादा दीपावली के समय छोटे दुकानदार फुटपाथी ठेले पर लगा कर हर तरह के मिठाई बेचा करते हैं. इसमें कई ऐसे मिठाई होते हैं, जिससे खाने के बाद लोग बीमार पड़ सकते हैं. ऐसे में ग्राहकों को दीपावली की मिठाई प्रतिष्ठित दुकानों से ही लेना चाहिए.

Also Read: Diwali 2023: दिवाली के दिन जरूर करें लक्ष्मी-कुबेर के इन मंत्रों का जाप, मिलेंगे ये अचूक फायदे

मिठाई के रेट

मार्केट में मिठाई दुकानों में मोतीचूर के लड्डू 300 रुपये किलो से लेकर 500 रुपये किलो तक, काजू बर्फी 1000 रुपये प्रति किलो बिक रही है. दीपावली को लेकर गिफ्ट आइटम मिठाई 600 रुपये पैकेट से लेकर 6000 रुपये पैकेट तक मिल जायेगी. दीपावली स्पेशल मिठाई गोल्ड मिठाई 12,000 रुपये किलो बिक रही हैं. शुद्ध घी से बने मोतीचूर के लड्डू 500 रुपये किलो बिक रहा है.

दीपावली में लड्डू का होता है बहुत महत्व

दिवाली के दौरान मोतीचूर के लड्डू बनाने का विशेष महत्व होता है. दिवाली पर हम मां लक्ष्मी और गणेश जी का पूजन करते हैं और उन्हें मोतीचूर के लड्डू काफी भाते हैं. मोतीचूर लड्डू बनाने के लिए बेसन, देसी घी, चीनी और मीठा पीला रंग की जरुरत पड़ती है. फूड अधिकारी दुर्गा पूजा और दीपावली में ही इन मिठाई दुकानों में आकर मिठाई जांच करने के नाम पर सैंपल ले जाती है, पर आज तक सैंपल जाने के बाद इसका फैसला क्या होता है, यह जानकारी नहीं मिल पाती है. ऐसे में मिठाई के शौकीन लोगों को सोच समझकर अच्छे दुकानों पर जाकर के ही मिठाई खरीदनी चाहिए.

Also Read: बिहार में इन लोगों को चालान कटने पर भी नहीं देना होगा जुर्माना, ट्रैफिक एसपी ने दी जानकारी
You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें