30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Bihar: देवघर की मुठभेड़ में भागलपुर के जवान की हत्या, गोलियों से किया छलनी, तलवार से भी हमला, पसरा मातम

Bihar News: झारखंड के देवघर (Deoghar Encounter) में दो पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गयी. दोनों मछली व्यवसायी की सुरक्षा में लगाए गए थे. इनमें एक पुलिसकर्मी बिहार के भागलपुर अंतर्गत पीरपैंती के रहने वाले थे.

Bihar News: झारखंड के देवघर (Deoghar Encounter) नगर थाना क्षेत्र के श्यामगंज रोड में शनिवार देर रात अपराधियों ने मुठभेड़ के दौरान दो पुलिस जवानों को मार डाला. मछली व्यवसायी सुधाकर सुमन झा की सुरक्षा में ये दोनों जवान लगाए गए थे. इनमें एक साहिबगंज के तो दूसरे जवान भागलपुर, बिहार के पीरपैंती के रहने वाले थे. देवघर की इस घटना से पीरपैंती के लकड़ाकोल में मातम पसरा है.

भागलपुर निवासी संतोष यादव की हत्या

देवघर में अपराधियों ने जिन दो पुलिसकर्मियों को मार डाला उनमें एक भागलपुर के पीरपैंती के लकड़ाकोल निवासी संतोष यादव (34) पिता रघुवंश यादव भी शामिल हैं. एसपी के निर्देश पर इन्हें मछली व्यवसायी की सुरक्षा में तैनात किया गया था. हैरान करने वाली बात यह है कि नगर थाना से महज 500 मीटर की दूरी पर ही अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया.

मछली कारोबारी की सुरक्षा में लगी थी ड्यूटी, हुई झड़प

जानकारी के अनुसार, शनिवार रात 12 बजे के बाद मछली कारोबारी सुधाकर सुमन झा और श्यामगंज रोड निवासी पप्पू सिंह के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया. इस दौरान दोनों तरफ से हमले शुरू हो गए. इसकी सूचना सुधाकर झा ने नगर थाना प्रभारी केके कुशवाहा को दी. थाना प्रभारी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे. बता दें कि मुठभेड़ के दौरान सुधाकर झा और अंगरक्षकों पर तलवार से भी हमला कर दिया गया.

Also Read: अमित शाह का मिशन बिहार, पहले वाल्मीकिनगर, फिर पटना में 25 को होगी गृह मंत्री की सभा, जानें BJP का प्लान
तलवार व गोलियों से हमला

हमले के बाद बचाव में अंगरक्षकों ने फायरिंग शुरू कर दी. इस गोलीबारी में दोनों अंगरक्षकों को दो-दो गोलियां लगीं, जिससे घटनास्थल पर ही दोनों की मौत हो गयी. थाना प्रभारी व उनके वाहन पर भी हमला हुआ पर वो बाल-बाल बच गए.पप्पू सिंह घटनास्थल से फरार हो गया.

संतोष कुमार को दो गोलियां लगी. तलवार से पैर पर हमला

संतोष कुमार को दो गोलियां लगी. एक गोली दाहिनी पसली में लगी, जो पेट के रास्ते निकल गयी. दूसरी गोली पीठ में लगी, जो पेट का रास्ते से निकल गयी. संतोष की दायीं जांघ के पास किसी धारदार हथियार से वार किया गया था, जिससे जांघ की हड्डी टूट गयी थी. बता दें कि संतोष बचपन से ही साहिबगंज में ही रहते थे. वहीं से पढ़ाई व अंततः 2015 में झारखंड पुलिस में भर्ती हुए थे. संतोष झारखंड में होमगार्ड की नौकरी करते थे.

Posted By: Thakur Shaktilochan

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें