1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. darbhanga
  5. controversy over the name of darbhanga airport demand to be named after darbhanga maharaj over vidyapati skt

दरभंगा महाराज या कवि विद्यापति, किनके नाम से जाना जाएगा दरभंगा एयरपोर्ट ?, विवाद ने पकड़ा तूल

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
दरभंगा एयरपोर्ट
दरभंगा एयरपोर्ट
प्रभात खबर

दरभंगा एयरपोर्ट(Darbhanga Airport) का नाम महाराजाधिराज(darbhanga maharaj) कामेश्वर सिंह के नाम पर करने को लेकर लोगों ने मांग उठानी शुरु कर दी है. इस कड़ी में मंगलवार को केवटी के जिला परिषद सदस्य समीम उल्ला खान के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम से मिला तथा उन्हें मांग से संबंधित ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन पर 250 लोगों का हस्ताक्षर है.

ज्ञापन में कहा गया है कि दरभंगा महाराज कामेश्वर सिंह के नाम पर एयरपोर्ट का नाम रखा जाए. कहा है कि बिहार सरकार की ओर से दरभंगा एयरपोर्ट का नाम कवि विद्यापति के नाम पर रखे जाने को लेकर प्रस्ताव भेजा गया है. भारत सरकार ने विभिन्न राज्यों में हवाई अड्डा का नाम दानदाताओं के नाम पर किया है. मुम्बई में छत्रपति शिवाजी महाराज, अगरतला में महराज वीर विक्रम, भोपाल में राजा भोज, कोल्हापुर में छत्रपति राजाराम महाराज, पुणे में छत्रपति संभाजी राजे एवं उदयपुर में हवाई अड्डा का नाम महराणा प्रताप के नाम से है.

कहा है कि दरभंगा हवाई अड्डा के नामकरण को लेकर नेता की ओर से दांव पेच का खेल खेला जा रहा है. यह न्याय संगत नहीं है. दरभंगा हवाई अड्डा का नाम महराजाधिराज कामेश्वर सिंह के नाम पर ही होना चाहिये. सन 1962 में भारत चीन युद्ध के दौरान करीब एक सौ एकड़ जमीन, 15 मन सोना समेत तीन हवाई जहाज भारत सरकार के उपयोग के लिए महाराजाधिराज ने दिया था. उनके योगदान को भुलना कृतघ्नता होगी.

विद्यापति सेवा संस्थान के महासचिव डॉ बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने दरभंगा हवाई अड्डा समेत अन्य कई संस्थानों का नाम महाराजाधिराज कामेश्वर सिंह के नाम पर करने की मांग को लेकर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री, नागरिक उड्डयन मंत्री व अन्य को निबंधित डाक से पत्र भेजा है. राज दरभंगा द्वारा शिक्षा, स्वास्थ्य एवं सुरक्षा क्षेत्र के उन्नयन के लिए अमूल्य सहयोग को इसमें रेखांकित किया गया है.

कहा गया है कि उनके दान से खड़े संस्थानों में दरभंगा महाराज का नाम जोड़ने के लिए यथाशीघ्र कारगर कदम नहीं उठाया गया तो विद्यापति सेवा संस्थान आन्दोलन के लिए मजबूर होगा. मांग पत्र में कहा है कि बात चाहे शिक्षा, स्वास्थ्य या सुरक्षा की हो, दरभंगा महाराज ने आधारभूत जरुरतों को पूरा करने में अहम भूमिका निभाई. वर्ष 1962 में दरभंगा में एयरपोर्ट के निर्माण एवं स्वतंत्रता की लड़ाई से लेकर पड़ोसी देशों के आक्रमण के अनेक मौकों पर मदद के लिए उनके हाथ उठे.

Posted By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें