18.1 C
Ranchi
Thursday, February 22, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeबिहारपटनाBihar Weather AQI: बिहार में बारिश के आसार, प्रदूषण से जहरीली हुई हवा, जानिए ठंड को लेकर बड़ी जानकारी..

Bihar Weather AQI: बिहार में बारिश के आसार, प्रदूषण से जहरीली हुई हवा, जानिए ठंड को लेकर बड़ी जानकारी..

Bihar Weather AQI: बिहार का मौसम अब करवट लेने जा रहा है. ठंड अब बढ़ सकती है. मौसम विभाग की ओर से पूर्वानुमान जारी किया गया है. वहीं इन दिनों प्रदूषण की मार भी लोग झेल रहे हैं. जानिए मौसम विभाग ने ठंड को लेकर क्या आसार जताए हैं.

Bihar Weather AQI: बिहार का मौसम (Bihar Mausam News) करवट लेने वाला है. पटना सहित राज्य के दक्षिण-मध्य और दक्षिण-पश्चिम बिहार के कुछ एक इलाकों में हल्की बारिश के आसार हैं. इस आशय का पूर्वानुमान आइएमडी पटना ने जारी किया है. पूरे राज्य में बादल छाये रहेंगे. इन मौसमी घटनाक्रमों की वजह दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में बने निम्न दाब है. अगले दो दिन में यह तेजी से चक्रवात के रूप में बदल सकता है. इन सभी वजहों से फिलहाल बिहार में नमी युक्त हवाओं का प्रवाह बना रहेगा.

राज्यों का तापमान

इधर गुरुवार को राज्य के अधिकतर हिस्सों में बादल छाये रहे. इसकी वजह से पटना सहित राज्य के अधिकतर हिस्सों में उच्चतम तापमान में दो सो चार डिग्री की गिरावट दर्ज की गयी है. हालांकि रात का तापमान तीन से छह डिग्री अधिक तक बना रहा. राज्य में सबसे अधिक उच्चतम तापमान मोतिहारी में 32.2 डिग्री दर्ज किया गया है. गुरुवार को राज्य का औसत अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस से कुछ अधिक और राज्य का औसत न्यूनतम तापमान में 14 डिग्री से अधिक रहा है.

उत्तर बिहार में भी बढ़ने लगी ठंड

पश्चिमी चंपारण में भी अब ठंड बढ़ने लगी है. पछुआ हवाओं की वजह से गुरुवार की रात ठंड के आगोश में रही. बढ़ती ठंड के कारण सुबह आसमान में कुहासा छाया रहा. नवंबर माह के अंतिम दिन अचानक रात में मौसम का मिजाज बदल गया और लोगों को ठंड का अहसास दिलाने लगा. वही गुरुवार की सुबह से कोहरा के साथ हल्की-हल्की हवा ने ठंड का असर दिखने लगा. लोगों का कहना है कि जिस तरह से मौसम बदला है उससे सर्दी बढ़ने के आसार है. नवंबर का माह खत्म हो गया है और दिसंबर का पहला दिन है. दिसंबर के आने के साथ ठंड बढ़ने लगी है. सुबह से ही घना कोहरा छाए रहने की संभावना है. वहीं आंशिक रूप से बादल छाए रह सकते है. मौसम का मिजाज बदलने के कारण दोपहर तक गर्म कपड़ों की जरूरत पड़ने लगी है. बता दें नवंबर माह का अंतिम दिन गुरुवार सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा. अधिकतम तापमान 29.2 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 16.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

Also Read: बिहार से दिल्ली जा रही ट्रेन को ड्राइवर ने बीच रास्ते में खड़ा किया, कहा- ‘ड्यूटी खत्म, अब मैं नहीं चलाऊंगा..’
भागलपुर में धूप के दर्शन नहीं, जानिए मौसम विभाग का पूर्वानुमान

भागलपुर में भी मौसम का मिजाज बदला है. गुरुवार को आसमान में दिनभर बादलों की लुकाछुपी के कारण जिले के तापमान में आंशिक वृद्धि हुई है. सुबह धुंध का असर रहा. अधिकतम तापमान 28.2 डिग्री व न्यूनतम 14.8 डिग्री सेल्सियस रहा. दिनभर शुष्क पछिया हवा बहती रही. बदलते मौसम के साथ जिले में वायु प्रदूषण की स्थिति भी गंभीर रही. हवा में सूक्ष्म धूलकणों की मात्रा अधिक रहने से एयर क्वालिटी इंडेक्स 352 रहा. शुक्रवार को पूरे दिन धूप के दर्शन नहीं हुए. बीएयू के ग्रामीण कृषि मौसम सेवा के अनुसार एक से पांच दिसंबर तक भागलपुर में अधिकतम व न्यूनतम तापमान सामान्य रहेगा. आसमान में आंशिक बादल छाये रह सकते हैं, इस दौरान पश्चिमी हवा चलने की संभावना है.

बिहार में प्रदूषण की मार से लोग तबाह

गौरतलब है कि इन दिनों प्रदूषण की मार भी बिहार के कई शहर झेल रहे हैं. गुरुवार को दिल्ली, फरीदाबाद के बाद बेगूसराय देश का तीसरा सबसे प्रदूषित शहर दर्ज किया गया. बेगूसराय का एक्यूआइ- 389 रहा. वहीं, पटना की स्थिति भी बेहतर नहीं रही. यहां का एक्यूआइ- 320 दर्ज किया गया.पटना में प्रदूषण का खतरा बढ़ गया है. लगभग एक महीने से शहर का एक्यूआइ लेवल 350 से अधिक होने से राजधानी के लोगों में सांस संबंधित बीमारियां बढ़ती जा रही हैं. अशोक राजपथ इलाके में वायु प्रदूषण की समस्या पूरे प्रदेश में सबसे ज्यादा है.

लगभग एक महीने से अशोक राजपथ पर लगे मुरादपुर एक्यूआइ मॉनिटरिंग स्टेशन पर लगातार 400 से अधिक एक्यूआइ दर्ज किया जा रहा है. इस कारण पीएमसीएच में भर्ती मरीज व डॉक्टरों में सांस संबंधित परेशानी बढ़ते जा रही है. इसपर प्रदूषण बोर्ड की निगरानी टीम ने गुरुवार को पीएमसीएच परिसर में प्रदूषण जांच करने पहुंची थी. पीएमसीएच में भर्ती मरीजों ने इसकी मौखिक शिकायत बोर्ड से की है. 400 से ज्यादा एक्यूआइ लेवल जाने से स्वास्थ व्यक्ति को भी ब्रोंकाइटिस व अस्थमा संबंधित परेशानी हो रही है. पीएमसीएच परिसर व अशोक राजपथ में चल रहे निर्माण कार्यों से हवा जहरीली होती जा रही है. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की चेतावनी के बावजूद शहर में प्रदूषण गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है. अशोक राजपथ में चल रहे मेट्रो निर्माण,डबल डेकर पुल निर्माण अन्य भवन निर्माण कार्यों में प्रदूषण गाइडलाइन की अनदेखी की जा रही है. निर्माण सामग्री को बिना ढंके रखा जा रहा है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें