1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bihar congress party leaders fight in front of bihar congress incharge bhakta charan das during meeting on farmers issue in patna upl

Bihar Congress की बैठक में बवाल, आपस में भिड़े नेता, जमकर चलीं कुर्सियां, देखें Video

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बैठक के दौरान कांग्रेसी नेता आपस में ही भिड़ गए. कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में बैठक के दौरान जमकर मारपीट हुई.
बैठक के दौरान कांग्रेसी नेता आपस में ही भिड़ गए. कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में बैठक के दौरान जमकर मारपीट हुई.
Screenshot

Bihar Congress: बिहार प्रभारी बनाए जाने के बाद भक्त चरण दास पहली बार पटना पहुंचे हैं, मगर उनके यहां आते ही बवाल पर बवाल जारी है. सोमवार को जहां उनके कार्यक्रम से पार्टी के बड़े नेता नदारद रहे तो वहीं दूसरे दिन यानी आज बैठक के दौरान कांग्रेसी नेता आपस में ही भिड़ गए. विरोध करनेवाले नेताओं को मंच से धक्के देकर नीचे फेंका गया. नेताओं के बीच आपसी धक्का-मुक्की के बीच कुछ नेताओं के कपड़े फट गये. इस बैठक का तमाशबीन बने प्रदेश प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा कि हंगामा करनेवाले पार्टी के नेता नहीं, बल्कि बाहरी लोग थे.

प्रभारी बनने के बाद भक्त चरण दास सोमवार को पहली बार बिहार के दौरे पर पटना पहुंचे . पटना आने के पूर्व ही उनका पूरा कार्यक्रम निर्धारित था. सोमवार की उनके साथ होनेवाली बैठक में जहां पार्टी के बड़े नेता नहीं शामिल हुए, वहीं मंगलवार को किसान सेल के नेताओं के साथ बैठक में धक्का-मुक्की और कपड़े फाड़े गये.

हुआ यूं कि बैठक में प्रभारी के साथ प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष श्याम सुंदर सिंह धीरज भी मंच पर मौजूद थे. इसको लेकर किसान सेल के बिहार प्रभारी राजकुमार शर्मा ने आपत्ति दर्ज की. उन्होंने प्रभात खबर को बताया कि श्याम सुंदर सिंह धीरज किसान सेल पर कब्जा करना चाहते थे.

जब किसान सेल का बैठक थी, उसमें कार्यकारी अध्यक्ष की उपस्थिति की कोई आवश्यकता नहीं थी. इसी का विरोध करने पर उनके साथ मारपीट की गयी, कपड़े फाड़े गये और मंच से धक्का देकर नीचे फेंका गया. इधर पार्टी का कहना था कि श्री धीरज किसान सेल के प्रभारी हैं, इसलिए वह मंच पर थे.

गौरतलब है कि सोमवार को भी पटना स्थित पार्टी के प्रदेश कार्यालय सदाकत आश्रम में भक्त चरण दास की मौजूदगी में ही अलग-अलग गुटों ने जमकर नारेबाजी की थी. हंगामा कर रहे पूर्व विधान पार्षद को हटाने के लिए पुलिस को बुलाना पड़ा था. हालांकि पटना एयरपोर्ट पर उनका ढोल नगाड़ों के साथ स्वागत किया गया था. लेकिन सदाकत आश्रम पहुंचते ही एक दो नेताओं ने टिकट बंटवारे में भ्रस्टाचार के आरोप फिर लगाने लगे थे.

Posted By: utpal kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें