25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

नंद के घर आनंद भयो, जय कन्हैयालाल की जयकारे से गूंजा वातावरण

जब-जब अत्याचार और अन्याय बढ़ता है, तब-तब प्रभु का अवतार होता है.

जब-जब अत्याचार और अन्याय बढ़ता है, तब-तब प्रभु का अवतार होता है. प्रभु का अवतार अत्याचार को समाप्त करने और धर्म की स्थापना के लिए होता है. जब कंस ने सभी मर्यादाएं तोड़ दी तो प्रभु श्रीकृष्ण का जन्म हुआ. उक्त बातें पंडित पंकजाचार्य ने बुधवार को भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के चौथे दिन तिलकामांझी हटिया रोड में भगवान श्रीकृष्ण जन्मोत्सव प्रसंग पर कथा करते हुए कही. इस दौरान भगवान श्री कृष्ण के जयकारों तथा नंद के घर आनंद भयो, जय कन्हैयालाल की जय से गुंजायमान हो उठा. कथा के दौरान पंडित पंकजाचार्य ने ने भगवान श्री कृष्ण की बाल लीलाओं का वर्णन कर धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष की महत्ता पर प्रकाश डाला. इस मौके पर चंदन यादव, रंजीत यादव, संभूषण, राजकुमार गुप्ता, अनीता देवी, सोमवती देवी, कलावती देवी, पूजा कुमारी, रोजी कुमारी आदि उपस्थित थे.

टीएनबी कॉलेजिएट स्कूल परिसर में भी भागवत कथा जारी

इधर, टीएनबी कॉलेजिएट परिसर में भी भागवत कथा पर प्रवचन हुआ. सुबह हवन यज्ञ हुआ. सनातन भागवत परिवार की ओर से कथावाचक नारायण दास महाराज ने प्रवचन किया. मुख्य यजमान रंजय कुमार कुंवर थे. मीडिया प्रभारी विशाल कुमार ने बताया कि समाज कल्याण के लिए यह आयोजन कराया जा रहा है. मौके पर सनातन भागवत परिवार की ओर से सुभाष कुमार सिंह, मुनमुन मालाकार, अमित मिश्रा आदि उपस्थित थे.

बंगाली समाज ने मनायी जमाई षष्ठी

जिले के बंगाली बहुल क्षेत्र में बुधवार को जमाई षष्ठी पारंपरिक तरीके से मनायी गयी. आरके काॅम्पलेक्स, मानिक सरकार घाट के समीप भी आयोजन हुआ. समाज के वरिष्ठ लोगों ने कहा कि हमारी संस्कृति में दामाद को भी पुत्र के ही तरह माना जाता है. इस पर्व में जमाई को विशेष सम्मान दिया गया. पर्व में बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए पूजा-अर्चना की गयी. पूजन का जल बच्चों और जमाई पर छिड़का गया. दही का टीका लगाया गया. षष्ठी देवी के पीले धागे को बांधकर लंबी उम्र और अच्छे स्वास्थ्य की कामना की गयी. प्रसाद के रूप में आम, लीची, जामुन, खीरा, ताड़ का कुआ, चना, खबोनी और दही परोसा गया. मौके पर लक्खी रानी घोष, सविता घोष, नेहा घोष, अलका दास, कृति घोष, गुड़िया दास उपस्थित थे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें