1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. ravi shastri reply to questioned moteras pitch india vs england test series brilliant and entertaining final of the world test championship avd

IND vs ENG : मोटेरा की पिच पर उंगली उठाने वालों को रवि शास्त्री ने लताड़ा, बोले - कौन करेगा शिकायत ?

By Agency
Updated Date
मोटेरा की पिच पर उंगली उठाने वालों को रवि शास्त्री ने लताड़ा
मोटेरा की पिच पर उंगली उठाने वालों को रवि शास्त्री ने लताड़ा
twitter
  • मोटेरा की पिच पर उंगली उठाने वालों को रवि शास्त्री ने लताड़ा

  • शास्त्री ने मोटेरा की पिच को शानदार और मनोरंजक बताया

  • विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में तालिका में टॉप पर रहना ढाई साल की मेहनत का परिणाम

भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने शनिवार को माना कि मोटेरा ट्रैक की प्रकृति पर हल्ला मचाने का कोई कारण नहीं दिखता है क्योंकि क्यूरेटर ने ऐसी पिचें बनायी जिनसे यहां पिछले दो मैचों में ‘शानदार मनोरंजन' हुआ.

इंग्लैंड के कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने तीसरे टेस्ट के लिये पिच की कड़ी आलोचना की थी क्योंकि मेहमान टीम दिन/रात्रि मुकाबले में 112 और 81 रन पर सिमट गयी थी. इंग्लैंड को स्पिनरों के लिये फायदेमंद पिच पर खेलने में परेशानी हुई जबकि भारत ने यहां तीसरे और चौथे टेस्ट में जीत हासिल कर जून में न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल के लिये क्वालीफाई किया.

इंग्लैंड को दूसरी पारी में 135 रन पर समेटकर चौथे टेस्ट में यहां पारी और 25 रन की जीत के बाद शास्त्री ने कहा, मैं इसे मैदानकर्मियों को समर्पित करूंगा. मुझे लगता है कि आशीष भौमिक एक शानदार मैदानकर्मी हैं, वह अपना काम जानते हैं. वह दलजीत सिंह के साथ काम कर चुके हैं जो मास्टर क्यूरेटर हैं.

उन्होंने कहा, कौन इस पिच की शिकायत करेगा? इस पर शानदार मनोरंजन हुआ, दोनों टीमों के लिये और खेल के लिये. साथ ही 3-1 के नतीजे से पता नहीं चलता कि यह शृंखला कितनी करीब थी. शास्त्री ने टीम के विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल में जगह बनाने के लिये प्रशंसा की जबकि पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने क्वालीफिकेशन के मानदंड में बदलाव किया था.

उन्होंने कहा, हमारे लिये विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में तालिका में शीर्ष पर रहना ढाई साल की मेहनत है और उन वर्षों में सफल होने के लिये इससे पहले छह साल की मेहनत है. उन्होंने कहा, खिलाड़ियों ने एक बार में एक ही शृंखला पर ध्यान दिया और वे विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के बारे में ज्यादा परेशान नहीं थे क्योंकि ‘गोल पोस्ट' हर बार शिफ्ट हो जाता था.

शास्त्री ने कहा, हम तालिका में शीर्ष पर चल रहे थे और कुछ नियमों में बदलाव के बाद प्रतिशत प्रणाली आ गयी, जब हम खेल भी नहीं रहे थे. लेकिन कोई बात नहीं, फिर भी हमें 520 अंक मिले, हम तालिका में शीर्ष पर रहने और फाइनल खेलने के हकदार हैं.

Posted By - Arbind kumar mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें