29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

PCB चीफ रमीज राजा सुरक्षा खतरे के कारण इस्तेमाल करते हैं बुलेटप्रूफ वाहन, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष रमीज राजा ने संसदीय समिति के पास कहा कि वे सुरक्षा कारणों से बुलेटप्रूफ कारों का इस्तेमाल करते हैं. ऐसा पूर्व अध्यक्षों ने भी किया है. उन्होंने कहा कि बोर्ड पर किसी भी और अतिरिक्त खर्च का बोझ नहीं डाला. समिति ने उन्हें ऑडिट रिपोर्ट के साथ फर तलब किया है.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष रमीज राजा ने खेल पर राष्ट्रीय असेंबली की स्थायी समिति से कहा है कि वह सुरक्षा के खतरे के कारण बुलेटप्रूफ वाहन का उपयोग करते हैं. बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में मिलने वाले लाभों और भत्तों के बारे में सवालों के जवाब में, रमीज ने कहा कि वह पीसीबी पर बड़ा वित्तीय बोझ नहीं हैं. क्योंकि पूर्व राष्ट्रीय टीम के कप्तान, अन्य बातों के अलावा, अपने चिकित्सा खर्चों का भी ध्यान रखते हैं.

रमीज से इस्तीफे के बारे में नहीं पूछा गया

बैठक की कार्यवाही से वाकिफ एक सूत्र ने पीटीआई से कहा कि रमीज ने एक बार समिति के सदस्यों से कहा था कि उन्होंने सुरक्षा खतरे के कारण केवल बोर्ड के बुलेट प्रूफ वाहन का इस्तेमाल किया है अन्यथा वह पीसीबी से कोई भी लाभ लेने से बचते हैं. उन्होंने कहा कि नेशनल असेंबली कमेटी के किसी भी सदस्य ने सरकार बदलने के बाद रमीज से बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में उनके भविष्य के बारे में नहीं पूछा और न ही किसी ने उनसे इस बारे में सवाल किया कि उन्होंने इस्तीफा देने के बारे में क्यों नहीं सोचा जैसा कि उनसे पहले दूसरों ने किया था जब भी कोई सरकार बदली थी.

Also Read: इमरान खान के पीएम पद से हटने का असर पाकिस्तान क्रिकेट पर भी, रमीज राजा छोड़ना चाहते हैं PCB अध्यक्ष का पद
रमीज पहली बार किसी समिति के सामने हुए पेश

रमीज ने दो घंटे के लंबे सत्र में समिति के सदस्यों को स्पष्ट कर दिया कि उन्होंने केवल सेवा नियमों के तहत अध्यक्ष को मिलने वाले दैनिक भत्ते, होटल और यात्रा व्यय का उपयोग किया. रमीज ने कहा था कि पीसीबी के शीर्ष पद पर उनके पूर्ववर्तियों ने भी सुरक्षा खतरों के कारण बुलेटप्रूफ कारों का इस्तेमाल किया था. यह पहली बार है जब रमीज किसी संसदीय समिति के समक्ष पेश हुए.

समिति ने खर्चे का मांगा लेखा-जोखा

सूत्र ने कहा कि समिति के सदस्यों ने रमीज से पूछा था कि बोर्ड ने वार्षिक खर्चों पर महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट क्यों नहीं सौंपी, जिस पर पूर्व कप्तान ने जवाब दिया कि यह एक सरकारी दस्तावेज है और किसी भी समय उनके लिए उपलब्ध है. लेकिन सदस्यों ने उन्हें अगली बैठक में एजी की रिपोर्ट खुद जमा करने के लिए कहा. सूत्र ने कहा कि रमीज ने पुष्टि की थी कि एजी कार्यालय ने 2012-13 से बोर्ड के खातों का ऑडिट किया है.

Also Read: IPL पर अपने पुराने बयान से पलटे रमीज राजा, कहा – मुझे पता है भारत और पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था का अंतर
विदेशी टीमों के दौर पर भी पूछा गया सवाल

सूत्र ने कहा कि समिति के सदस्यों ने रमीज से टीम के प्रदर्शन, भविष्य की प्रतिबद्धताओं, पीएसएल और अन्य विदेशी टीमों के दौरों के बारे में पूछा था. उन्होंने कहा कि ज्यादातर सदस्यों ने पिछले सितंबर में रमीज के पदभार संभालने के बाद से बोर्ड द्वारा किये गये कार्यों पर संतोष व्यक्त किया और टीम के प्रदर्शन की भी सराहना की.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें