1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. inds vs csxi warm up match avesh khan and washington sundar against india sachin tendulkar also played for pakistan avd

INDS vs CSXI : इंग्लैंड में भारत के खिलाफ मैदान पर उतरे आवेश और वाशिंगटन, सचिन भी खेले थे पाकिस्तान के लिए

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
इंग्लैंड में भारत के खिलाफ मैदान पर उतरे आवेश और वाशिंगटन
इंग्लैंड में भारत के खिलाफ मैदान पर उतरे आवेश और वाशिंगटन
twitter

County Select XI vs Indians, 3-day warm-up match : इंग्लैंड के खिलाफ 4 अगस्त से शुरू हो रहे पहले टेस्ट मैच से पहले भारतीय टीम काउंटी एकादश (Select XI) के खिलाफ तीन दिवसीय अभ्यास मैच में आमने-सामने है. लेकिन इस अभ्यास मैच में विराट कोहली (virat kohli) और अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं हैं. दूसरी ओर आवेश खान (Avesh Khan) और वाशिंगटन सुंदर (Washington Sundar) भारत के खिलाफ ही मैदान पर उतर गये.

दरअसल चोट और कोरोना संक्रमण की वजह से काउंटी एकादश के खिलाड़ियों के कोरेंटिन में जाने के कारण आवेश और सुंदर को भारत के खिलाफ मैदान पर उतरे. भारत के युवा खिलाड़ी आवेश खान और वाशिंगटन सुंदर इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की इस टीम की ओर से अपने ही देश की टीम के खिलाफ उतरे

तीन दिवसीय प्रथम श्रेणी मैच में आवेश ने 9.5 ओवर गेंदबाजी भी की जिसके बाद उनके हाथ के अंगूठे में चोट लग गई और इसके कारण उनके मैच में आगे हिस्सा लेने की संभावना नहीं है.

बीसीसीआई ने बताया, ईसीबी ने भारतीय टीम प्रबंधन से आग्रह किया कि भारतीय दल में से दो खिलाड़ी काउंटी एकादश की ओर से खेलने के लिए दें क्योंकि उनके कुछ खिलाड़ी चोटिल होने या कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के करीबी संपर्क के कारण उपलब्ध नहीं हैं.

वाशिंगटन को काउंटी एकादश के खिलाड़ियों के समूह में एकत्रित होने से बचते हुए देखा गया और उन्होंने सिर्फ विकेट चटकाने वाले गेंदबाजों के साथ मुक्के टकराकर जश्न मनाया. अभ्यास मैचों के दौरान खिलाड़ियों का अपनी ही टीम के खिलाफ उतरना नयी चीज नहीं है.

सचिन तेंदुलकर जब 14 साल के थे तो उन्होंने 1987 में ब्रेबोर्न स्टेडियम में भारत के खिलाफ मैच के दौरान इमरान खान की अगुआई वाली पाकिस्तान की टीम के लिए क्षेत्ररक्षण किया था. तेंदुलकर उस मैच में ‘बॉल ब्वॉय' थे और अब्दुल कादिर की जगह क्षेत्ररक्षण करने उतरे थे. तेंदुलकर ने कपिल देव का कैच लगभग लपक ही लिया था लेकिन अंत में कूदते हुए कैच पकड़ने का उनका प्रयास नाकाम रहा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें