1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. india vs england test ajinkya rahane response after the ruckus on the motera pitch said we never complained about the moist pitch abroad aml

IND vs ENG Test: मोटेरा पिच पर बवाल के बाद रहाणे की प्रतिक्रिया, कहा- हमने विदेशों में नम पिच की कभी शिकायत नहीं की

By Agency
Updated Date
Ajinkya Rahane
Ajinkya Rahane
PTI Photo
  • मोटेरा पिच पर मचे बवाल के बाद रहाणे ने बतायी विदेशी पिचों की कहानी.

  • रहाणे ने कहा- विदेशों में तेज गेंदबाजों के लिए बनती थी पिचें.

  • कभी भी विदेशी पिचों पर किसी से शिकायत नहीं की : रहाणे.

India vs England Test Series अहमदाबाद : भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने देश में स्पिनरों की मददगार पिच की आलोचना को ‘गंभीरता' से नहीं लेने की सलाह देते हुए मंगलवार को कहा कि हमने विदेशों में नमी वाली पिचों (तेज गेंदबाजों की मददगार) के खिलाफ कभी कुछ नहीं बोला और इंग्लैंड की टीम को यहां चौथे टेस्ट में भी धीमी गेंदबाजी की मददगार विकेट की अपेक्षा करनी चाहिए. चेपॉक (Chennai) में खेले गये दूसरे टेस्ट और मोटेरा (Ahmedabad) में गुलाबी गेंद से खेले गये तीसरे टेस्ट में स्पिनरों की मददगार पिचों की काफी चर्चा हुई.

दिन-रात्रि टेस्ट मैच महज दो दिनों में खत्म हो गया। श्रृंखला का चौथा और आखिरी टेस्ट चार मार्च से शुरु होगा. रहाणे ने ऑनलाइन मीडिया सम्मेलन में कहा, ‘मुझे लगता है कि विकेट (पिच) चेन्नई में खेले गये दूसरे टेस्ट मैच के जैसा ही होगा, जिस पर स्पिनरों को मदद मिलेगी. हां, गुलाबी गेंद से थोड़ा फर्क पड़ा और जो लाल गेंद की तुलना में पिच पर टप्पा खाने के बाद तेजी से आ रही थी. हमें इससे सामंजस्य बिठाना पड़ा.'

उन्होंने कहा, ‘यह पिच भी पिछले दो मैचों की तरह ही होगी.' रहाणे पिछले कई वर्षों में पहली बार उस समय खफा दिखे, जब उनसे पिच पर टिप्पणी को लेकर इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ियों के बयान पर प्रतिक्रिया देने के लिए पूछा गया. कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से स्पिनरों की मददगार पिच बनाने पर भारत के खिलाफ कार्रवाई करने की भी मांग की थी.

रहाणे ने थोड़े गुस्सा भरे लहजे में कहा, ‘लोग जो कह रहे है, उन्हें कहने दीजिए. जब हम विदेश दौरे पर जाते है तो तेज गेंदबाजों की मदद पिच को लेकर कोई कुछ नहीं कहता है. वे तब भारतीय बल्लेबाजों की तकनीक की बात करते है, मुझे नहीं लगता कि इसे गंभीरता से लिए जाने की जरूरत है.' उन्होंने कहा कि आप देखिये, जब हम विदेश दौरे पर जाते हैं, तो पहले दिन विकेट में काफी नमी होती है. जब पिच पर घास होती है तो गेंद असामान्य तरीके से उछाल लेती है. ऐसे में पिच खतरनाक हो जाती है लेकिन हमने कभी इसके बारे में शिकायत नहीं की है.

स्पिनरों की मददगार पिच पर गेंद की दिशा में खेलना जरूरी हो जाता है. उन्होंने कहा, ‘जब आप स्पिनरों की मददगार पिच पर खेलते है तो आपको गेंद की दिशा के मुताबिक खेलना होता है, अगर गेंद ज्यादा घूम रही है तो आपको ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं होती है.' पिछले दो मैचों में इंग्लैंड की करारी शिकस्त के बाद भी रहाणे उन्हें कम नहीं आंक रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘यह पिच भी वैसी ही दिख रही है लेकिन हमें अभी देखना होगा कि यह कैसा बर्ताव करती है. हम टीम के तौर पर इंग्लैंड का सम्मान करते हैं. वे पहले टेस्ट में अच्छा खेले और हम उसके बाद के दो मैचों में बेहतर रहे.'

उन्होंने कहा, ‘हम उन्हें हल्के में नहीं ले रहे हैं, दोनों टीमें मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर टेस्ट मैच जीतना चाहेगी.' उन्होंने इशारा किया कि अनुभवी तेज गेंदबाज उमेश यादव को इस मैच में मौका मिल सकता है. उन्होंने कहा, ‘उमेश तैयार है. वह अच्छे लय में और और उसका नेट सत्र भी अच्छा रहा. हमें खुशी है कि उसने टीम में वापसी की है.'

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें