30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

IND vs SA Test: रोहित शर्मा ने ईमानदारी से स्वीकारी हार, कहा – हम जीत के हकदार ही नहीं थे

दक्षिण अफ्रीका पर गई भारती की सीनियर टीम को वहां पहले टेस्ट मुकाबले में शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा, जबकि टीम के अधिकतर सीनियर खिलाड़ी खेल रहे थे. कप्तान रोहित शर्मा ने भी इस हार को स्वीकार किया और कहा कि हम जीत के हकदार थे ही नहीं.

टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा को यह स्वीकार करने में कोई हिचकिचाहट नहीं है कि उनकी टीम दक्षिण अफ्रीका को चुनौती देने में सक्षम नहीं थी और उन्होंने पहले टेस्ट में पारी और 32 रन की शर्मनाक हार के लिए सामूहिक प्रयास की कमी को जिम्मेदार ठहराया. भारत ने बल्ले और गेंद दोनों से लचर प्रदर्शन किया. दक्षिण अफ्रीका को पहली पारी में 108.4 ओवर में 408 रन बनाने देने के बाद दूसरी पारी में भारतीय टीम 34.1 ओवर में 131 रन पर ढेर हो गई. मेहमान टीम ने पहली पारी में 245 रन बनाए थे. जिसमें केएल राहुल का शतक था.

सामूहिक प्रयास की कमी

रोहित शर्मा ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान कहा, ‘हम जीत के हकदार नहीं थे. टॉस हारकर बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद केएल राहुल ने हमें उस स्कोर तक पहुंचाने के लिए अच्छी बल्लेबाजी की लेकिन फिर हम गेंद के साथ परिस्थितियों का फायदा नहीं उठा सके. फिर आज भी बल्ले से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए.’ उन्होंने कहा, ‘अगर हमें टेस्ट मैच जीतना है तो हमें सामूहिक रूप से योगदान देना होगा और हमने ऐसा नहीं किया. साथी खिलाड़ी पहले भी यहां खेल चुके हैं और हम जानते हैं कि क्या उम्मीद करनी है. हर किसी की अपनी योजना है.’

Also Read: SA vs IND: दक्षिण अफ्रीका ने पहले टेस्ट मैच में भारत को पारी और 32 रन से हराया

बल्लेबाजी में काफी खराब प्रदर्शन

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘हमारे बल्लेबाजों को चुनौती मिली और हम अच्छी तरह से सामंजस्य नहीं बैठा पाए. यह बाउंड्री से रन बनाने वाला मैदान है, हमने उन्हें कई बाउंड्री लगाते हुए देखा लेकिन हमें प्रतिद्वंद्वी और उनकी ताकत को भी समझने की जरूरत है. हमने दोनों पारियों में अच्छी बल्लेबाजी नहीं की, यही कारण है कि हम यहां खड़े हैं.’ मैच तीन दिन के अंदर समाप्त होने से रोहित को काफी सकारात्मक चीजें नजर नहीं आती.

केएल राहुल ने दिखाया दम

उन्होंने कहा, ‘तीन दिन के भीतर मैच खत्म करने से बहुत अधिक सकारात्मक चीजें नहीं हैं लेकिन राहुल ने दिखाया कि हमें इस तरह की पिच पर क्या करने की जरूरत है.’ राहुल ने पहली पारी में शतक लगाया था. अपनी आखिरी अंतरराष्ट्रीय सीरीज खेलते हुए डीन एल्गर ने शानदार 185 रन बनाए. उन्होंने इसे ‘विशेष’ पारी करार दिया और टोनी डिजॉर्जी (28) तथा मार्को यानसन(84) के साथ अपनी साझेदारी पर बात की.

Also Read: IND vs SA 1st Test: रोहित-विराट फेल, केएल राहुल ने बचाई लाज, पहले दिन भारत के 8 बैटर आउट

डीन एल्गर बने प्लेयर ऑफ द मैच

मैच के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुने गए एल्गर ने कहा, ‘काफी खास पारी. कभी-कभी हम जो करना चाहते हैं वह योजना के मुताबिक नहीं हो पाता लेकिन खुशी है कि आज यह काम कर गया. मुझे लगता है कि आपको चीजों को अच्छा और सरल बनाए रखने की जरूरत है, खेल पहले से ही काफी जटिल है.’ उन्होंने कहा, ‘टोनी के साथ अच्छी साझेदारी और फिर यानसन ने भी अपनी प्रतिभा दिखाई. आपको 20 विकेट लेने के लिए तेज गेंदबाजों और स्पिनर की जरूरत होती है, इसी तरह हम टेस्ट मैच जीतते हैं.’

बर्गर ने चटकाए 4 विकेट

नांद्रे बर्गर (33 रन पर चार विकेट), कागिसो रबादा (32 रन पर दो विकेट) और यानसन (36 रन पर तीन विकेट) की दक्षिण अफ्रीका की तेज गेंदबाजी तिकड़ी ने दूसरी पारी में भारत को 34.1 ओवर में 131 रन पर ढेर कर दिया. एल्गर ने कहा, ‘रबादा शानदार थे लेकिन फिर नांद्रे ने दिखाया कि वह क्योंकि दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट के लिए इतना महत्वपूर्ण है. अगर आप पहला टेस्ट नहीं जीतते तो आप दो टेस्ट मैचों की सीरीज नहीं जीत सकते, भारतीयों को हराना मुश्किल है.’

Also Read: IND vs SA 1st Test: केएल राहुल ने बताई दिल की बात, इस चीज से हुई सबसे ज्यादा तकलीफ

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें