1. home Hindi News
  2. religion
  3. chandra grahan or lunar eclipse june 2020 today timings tonight time in india date and time live streaming online chandra grahan 2020 kab lagega samay or kab pad rha hai check live updates here

Chandra Grahan 2020 LIVE Updates: चंद्रग्रहण खत्म, जानिये... 3 घंटे 18 मिनट तक चले उपछाया चंद्र ग्रहण पर ज्योतिषियों ने क्या कहा

By Radheshyam Kushwaha
Updated Date
Chandra Grahan 2020 Sutak: ग्रहण मध्य रात्रि 11 बजकर 16 मिनट से रात 2 बजकर 34 मिनट तक रहा. इसे पूरे भारत में देखा गया.
Chandra Grahan 2020 Sutak: ग्रहण मध्य रात्रि 11 बजकर 16 मिनट से रात 2 बजकर 34 मिनट तक रहा. इसे पूरे भारत में देखा गया.
Prabhat Khabar

Chandra Grahan 2020 Sutak Time in India, chandra Grahan kitne baje lagega, Padega, chandra Grahan kitne baje se hai: चंद्र ग्रहण इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण खत्म हो गया है. इस बार आपने चंद्र ग्रहण देखा भी और इस दौरान खा-पी भी सके. हिंदू पंचांग के अनुसार 5 जून को ज्येष्ठ मास की पूर्णिमा तिथि पर यह चंद्र ग्रहण लगा. यह चंद्र ग्रहण उपछाया ग्रहण (Penumbral lunar eclipse) था. जिसके कारण यह सिर्फ धुंधला सा दिखाई दिया. ग्रहण मध्य रात्रि 11 बजकर 16 मिनट से रात 2 बजकर 34 मिनट तक चला. इसे पूरे भारत में देखा गया. इस दौरान चंद्रमा वृश्चिक राशि में था. वहीं इसी महीने 21 जून को सूर्य ग्रहण लगेगा. सूर्य ग्रहण पर सबकी नजर बनी हुई है. आज जो ग्रहण लग रहा है, इस ग्रहण का भी प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

ग्रहण खत्म होने के बाद करें ये काम

चंद्रग्रहण खत्म होने के बाद अपनी सामान्य दिनचर्या शुरू कर सकते हैं. ग्रहण के बाद फल खाना अच्छा माना जाता है. क्योंकि फलों में काफी मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करते हैं और एनर्जी से परिपूर्ण करते हैं. इसके अलावा ग्रहण के दौरान रखा गया पानी नहीं पियें. ताजा पानी पीना ग्रहण के बाद अच्छा माना जाता है.

email
TwitterFacebookemailemail

चंद्रग्रहण शुरू

चंद्रग्रहण 11 बजकर 16 मिनट से शुरू हुआ. यह 6 तारीख को 2 बजकर 34 मिनट पर खत्म हुआ. यह एक उपच्छाया चंद्र ग्रहण है इसलिए इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा.

email
TwitterFacebookemailemail

भारत में क्या होगा चंद्रगणहण का असर

उपच्‍छाया चंद्रग्रहण होने के कारण आज के ग्रहण में यम-नियम-सूतक आदि मान्य नहीं होंगे. फिर भी कहा गया है कि क्षितिज पर ग्रहण होने की वजह से इसका असर पड़ना स्वाभाविक है. इस ग्रहण के समय में शुक्र वक्री और अस्त रहेगा. गुरु, शनि वक्री रहेंगे, इसका प्रभाव भारत की अर्थव्यवस्था पर होगा.

email
TwitterFacebookemailemail

ईसाई धर्म में भी है ग्रहण का उल्लेख

ईसाई धर्म में भी ग्रहण का उल्लेख किया गया है. बाइबल में कहा गया है कि कयामत के दिन सूरज बिल्कुल काला हो जाएगा. चांद का रंग लाल हो जाएगा. सूर्यग्रहण और चंद्रग्रहण लगने के दौरान ऐसा ही होता है.

email
TwitterFacebookemailemail

ज्योतिष विज्ञान के अनुसार कैसा होगा आज के चंद्रग्रहण का प्रभाव

ज्योतिष विज्ञान के अनुसार आज का चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि में और ज्येष्ठा नक्षत्र में लगेगा. शास्त्रों में पूर्णिमा का विशेष महत्व होता है. ग्रहण के दौरान अपने इष्टदेव का ध्यान और चंद्र ग्रह से संबंधित मंत्र का जाप करना शुभफलदायी होता है.

email
TwitterFacebookemailemail

ग्रहण के बाद करें इनका सेवन

ग्रहण बाद फल खाना अच्छा साबित होगा. यह इसलिए अच्छा होता है क्योंकि फलों में काफी मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करेंगे और एनर्जी बूस्ट होगी.

email
TwitterFacebookemailemail

ग्रहण को लेकर चल रहा है वैज्ञानिक अध्ययन

ग्रहण को लेकर कई वैज्ञानिक अध्ययन हो रहे हैं. मनोवैज्ञानिक भी ग्रहण के बारे में पता लगाने की कोशिश कर रहें हैं. ग्रहण के बारे में ये पता लगाया जा रहा है कि ग्रहण का क्या प्रभाव पड़ता है? इसके अलावा ये भी पता लगाया जाता है कि चंद्रमा के चक्र और मनोचिकित्सा के मरीजों की संख्या में कोई संबंध है?

email
TwitterFacebookemailemail

कब लगता है उपच्‍छाया चंद्रग्रहण

कल उपच्‍छाया चंद्रग्रहण लगने वाला है, ये तभी लगता है जब ये दो घटनाएं एक साथ होती हैं. चांद पूर्णिमा की तरफ बढ़ रहा होना चाहिए यानी शुक्‍ल पक्ष चल रहा हो. या फिर सूर्य, पृथ्‍वी और चंद्रमा एक सीध में हों मगर उतने नहीं जितने आंशिक चंद्रग्रहण के दौरान होते हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

आने वाले सूर्य ग्रहण पर है ज्योतिषियों की नजर

ज्योतिष गणना के अनुसार, इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण ज्यादा प्रभावी नहीं होगा क्योंकि ये उपछाया चंद्रग्रहण है. वहीं ज्योतिषियों की नजर आने वाले सूर्य ग्रहण पर है. इसकी वजह है यह ग्रहण मिथुन राशि में लगेगा. ज्योतिषी मानते हैं कि इस ग्रहण का प्रभाव सबसे ज्यादा मिथुन राशि के जातकों पर पड़ेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

ग्रहण के बाद जरूर करें ये काम

ग्रहण के बाद वातावरण शुद्ध करने के लिए कई कार्य किए जाते हैं. ग्रहण के बाद स्नान करने को सलाह दी जाती है, इससे शरीर शुद्ध हो जाता है, इसके अलावा घर में गंगाजल के छिड़काव करने को भी कहा जाता है, एवं घर की साफ सफाई भी की जाती है.

email
TwitterFacebookemailemail

ग्रहण के प्रभाव से बचने के लिए करें ये उपाय

चंद्र ग्रहण के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए ॐ श्रां श्रीं श्रौं सः चंद्रमसे नमः मंत्र का जाप 108 बार जाप करना चाहिए. साथ ही चंद्र ग्रहण के बाद चावल और सफेद तिल का दान करने के लिए भी कहा जाता है.

email
TwitterFacebookemailemail

मूर्तियों को स्पर्श करने पर होती है सख्त मनाही

ग्रहण के दौरान मूर्तियों के छूने पर मनाही होती है. पूजा पाठ के स्थान पर ग्रहण के दौरान कपड़ा डाल दिया जाता है. इसके अलावा ग्रहण के वक्त मंदिरों के कपाट भी बंद रहते हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

ग्रहण से पहले खाने के समान में तुलसी पत्ता डालकर रखना चाहिए

ग्रहण के समय आपको कुछ भी खाना-पीना नहीं चाहिए. अगर अधिक जरूरी हो तो पानी में तुलसी का पत्‍ता डालकर पी लेना चाहिए. हालांकि गर्भवती महिलाओं, बच्‍चों और बुजुर्गों के लिए खाने के मामले में छूट होती है. वहीं, ग्रहण के वक्‍त कुछ लोग टोना टोटका करते हैं, इसलिए भूल से बाहर वाले से आपको कोई वस्‍तु नहीं लेनी चाहिए.

email
TwitterFacebookemailemail

तीन घंटे 15 मिनट का होगा ग्रहण

आज रात मे चंद्र ग्रहण लग रहा है. चंद्र ग्रहण आज रात में 11 बजकर 15 मिनट से शुरू होगा, जो सुबह 2 बजकर 34 मिनट तक रहेगा. यह एक उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा. ज्योतिष के अनुसार इसका कोई सूतक काल मान्य नहीं होगा. इस ग्रहण को हम अपनी नंगी आंखों से देख नहीं पाएंगे. ग्रहण के दौरान चंद्रमा केवल धूमिल हो जाएंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

ग्रहण लगने से पहले तुलसी पत्ता तोड़कर रख लें

आज ग्रहण लग रहा है. अभी दिन में ही तुलसी पत्ता तोड़कर रख लें, ग्रहण लगने से पहले सभी खाने-पीने के समान में तुलसी पत्ता रख दें. तुलसी पत्ता रखने से ग्रहण का दोष नहीं लगेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

आज रात में आप देख सकेंगे चंद्र ग्रहण

चंद्र ग्रहण पूरी तरह से सुरक्षित होता है, इसलिए आप इसे नंगी आंखों से देख सकते हैं. ये उपच्छाया चंद्र ग्रहण है जो कि खास सोलर फिल्टर वाले चश्मों (सोलर-व्युइंग ग्लासेस, पर्सनल सोलर फिल्टर्स या आइक्लिप्स ग्लासेस) से ही सही से देखा जा सकेगा. अगर आप टेलिस्‍कोप की मदद से चंद्र ग्रहण देखेंगे तो आपको बेहद खूबसूरत नजारा दिखाई देगा.

email
TwitterFacebookemailemail

इस साल लग रहे हैं कुल पांच ग्रहण

आज रात में चंद्र ग्रहण लगेगा. इस साल कुल पांच ग्रहण लग रहे हैं. इनमें से दो ग्रहण जून महीने में पड़ रहे हैं. वहीं, एक ग्रहण जनवरी में लग चुका है. इस बार लगातार तीन ग्रहण लग रहे है. एक ग्रहण आज लगेगा, वहीं दूसरा ग्रहण 21 जून को लग रहा है. इसके बाद फिर एक ग्रहण 05 जुलाई को लगेगा. इसलिए ज्योतिषियों के लिए यह थोड़ा चिंता का विषय बना हुआ है. वहीं, 21 जून को लगने वाला सूर्य ग्रहण बड़ा सूर्य ग्रहण होगा.

email
TwitterFacebookemailemail

सूर्य ग्रहण के अलावा अन्य कोई ग्रहण मान्य नहीं

इस साल का दूसरा ग्रहण आज लग रहा है. यह उपच्छाया ग्रहण दृष्टि गोचर होगा व 5 जुलाई 2020 रविवार को तीसरा उपच्छाया ग्रहण भारत में दृष्टिगोचर नहीं होगा जो यह उप छाया चंद्रग्रहण है, जो वैदिक ज्योतिष में मान्य नहीं होता है. उपरोक्त दोनों ग्रहण पूर्णतः अमान्य अशास्त्रीय है. उप छाया ग्रहण ग्रहण की समय अवधि मैं चंद्रमा की चांदनी में केवल कुछ धुंधलापन आ जाता है, इसीलिए इस बात का ध्यान रहे कि यह उप छाया ग्रहण वास्तव में चंद्रग्रहण नहीं होता है.

email
TwitterFacebookemailemail

जानिए चंद्र ग्रहण लगने का समय

आज रात में चंद्र ग्रहण लगेगा. आज रात 11 बजकर 15 मिनट पर ग्रहण लगेगा और 06 जून की सुबह 2 बजकर 32 मिनट पर समाप्त हो जाएगा.

email
TwitterFacebookemailemail

जानें कहां-कहां दिखेगा यह ग्रहण

यह ग्रहण भारत समेत एशिया, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका में देखा जा सकेगा. लेकिन इसमें चांद के आकार में कोई भी बदलाव देखने को नहीं मिलेगा सिर्फ चांद थोड़ा सा मटमैला रंग का दिखाई देगा. ज्योतिष के अनुसार इस उपच्छाया चंद्र ग्रहण में चांद पर मात्र पृथ्वी की छाया पड़ेगी, इसलिए धार्मिक और सामान्य कामकाज करने में किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं होगा.

email
TwitterFacebookemailemail

साल का दूसरा चंद्रग्रहण आज, जानिए सूतक कब लगेगा

साल 2020 का दूसरा चंद्रग्रहण आज यानी 5 जून को लग रहा है. इसके बाद साल का तीसरा 05 जुलाई और आखिरी चंद्र ग्रहण 30 नवंबर को लगेगा. जबकि इसी महीने सूर्य ग्रहण भी लगने वाला है. यह सूर्य ग्रहण इस साल का पहला सूर्य ग्रहण होगा. आज चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse On 5 June) का सूतक काल (5 June Chandra Grahan Timing) भारतीय समयानुसार 05 जून को रात 11 बजकर 15 मिनट से शुरू होकर 06 जून को ही रात 12 बजकर 54 मिनट तक रहेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

सूर्य ग्रहण पर छह ग्रह चलेंगे उल्टी चाल

आज चंद्र ग्रहण लग रहा है. यह ग्रहण उपछाया ग्रहण होगा. इसका प्रभाव बहुत कम पड़ता है. यह चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि में लगेगा. इस बार चंद्र ग्रहण के दौरान सूतक काल मान्य नहीं होगा. चंद्र ग्रहण के 09 घंटे पहले सूतक काल लग जाता है. वहीं, 21 जून को सूर्य ग्रहण लगेगा. सूर्य ग्रहण मिथुन राशि में लग रहा है. मिथुन राशि में लगने वाले सूर्य ग्रहण का सूतक काल 12 घंटे पहले लग जाएगा. ग्रहण के दौरान छह ग्रह वक्री रहेंगे. इसके चलते अनेक प्राकृतिक आपदाएं आने की संभावना है. सूर्य ग्रहण के दौरन 06 ग्रह उल्टी चाल चल रहे होंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

ग्रहण के दौरान भूलकर भी न करें ये काम

चंद्रग्रहण के दौरान कई कार्य वर्जित होते हैं. इन कार्यों को करने में इसलिए मनाही होती है, क्योंकि इससे हमारे जीवन में दुष्प्रभाव पड़ते हैं. चंद्रग्रहण के दौरान बहुत से कार्य वर्जित रहते हैं, जैसे चंद्रग्रहण काल के समय भोजन करना वर्जित होता है. ग्रहण के दिन फल, फूल, लकड़ी पत्ते आदि तोड़ने को मना किया जाता है. ग्रहण के दौरान तुलसी पौधा नहीं छूते हैं, इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को चंद्र ग्रहण के समय विशेष ध्यान रखना होता है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें