सुप्रीम कोर्ट का फैसला: नयी शर्तों को साथ मुंबई में फिर से खुलेंगे डांस बार
Advertisement

crime

  • Jan 12 2019 3:54AM

रिश्वत के साथ सहायक और कनीय अभियंता गिरफ्तार

पटना : निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की मुख्यालय टीम ने शुक्रवार को ग्रामीण कार्य विभाग के दो इंजीनियरों को सर्किल कार्यालय अधीक्षण अभियंता परिसर पटना से रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया है. कार्य प्रमंडल पॉलीगंज में तैनात इन इंजीनियरों से रिश्वत के 80 हजार रुपये बरामद हुए हैं. निगरानी की टीम दोनों अधिकारियों से पूछताछ कर रही है. 
 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पालीगंज के कोड़रा क्षेत्र के ग्राम रानीपुर निवासी मनाेज कुमार टेंडर लेकर सड़क निर्माण कर रहे हैं. ग्रामीण कार्य विभाग कार्य प्रमंडल पालीगंज के कनीय अभियंता नवाब लाल को इस मनोज कुमार द्वारा किये गये  कार्य की जांच कर पुष्टि करनी थी. 
 
इसके लिये वह रिश्वत की मांग कर रहे थे. मनोज ने सहायक अभियंता  गोरे लाल पासवान से अनुरोध किया तो उन्होंने भी  80 हजार रुपये रिश्वत की मांग की. दोनों इंजीनियर से परेशान ठेकेदार ने निगरानी अन्वेषण ब्यूरों में इसकी शिकायत कर दी. 
 
निगरानी ने मामले की जांच करने के बाद शुक्रवार को जेई और एई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया. डीएसपी जमीर उद्दीन ने भ्रष्ट अफसरों को ट्रैप करने की योजना तैयार की. मनोज ने इंजीनियरों से बात की कि वह मापी पुस्त के लिये 80 हजार रुपये आज ही दे देगा. 
 
दोनों इंजीनियर ने उसे सर्किल कार्यालय अधीक्षण अभियंता परिसर में बुलाया. मनोज ने जैसे ही रिश्वत का पैसा दिया डीएसपी जमीर उद्दीन और टीम ने सहायक अभियंता  गोरे लाल पासवान व  कनीय अभियंता नवाब लाल को रिश्वत के पैसों के साथ गिरफ्तार कर लिया. दोनों को न्यायालय निगरानी प्रथम में पेश किया जायेगा.
 

Advertisement

Comments

Advertisement