1. home Hindi News
  2. national
  3. visakhapattnam chemical gas leakage update 3 persons including one child dead at lg polymers industry in andhra pradesh

हवा में फैली अजीब सी गंध और फिर भरभरा कर गिरने लगे लोग, जानें विशाखापट्टनम गैस लीक की बड़ी बातें

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
खतरनाक जहरीली गैस  के चपेट में आने से एक बच्चे सहित तीन की मौत हो गयी
खतरनाक जहरीली गैस के चपेट में आने से एक बच्चे सहित तीन की मौत हो गयी
Social media

vizag gas leak location, NDMA, Andhra Pradesh Gas Tragedy आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एक कंपनी में गैस लीक हो गई है जिसके बाद हाहाकार मच गया है. गैस लीक होने से एक बच्चे सहित अब तक आठ लोगों के मारे जाने खबर है. बताया जा रहा है कि मृतकों की संख्या बढ सकती है. सोशल मीडिया में वायरल तस्वीरें और वीडिया इस हादसे की भयावहता बताने के लिए काफी है. अभी भी पूरे शहर में अफरा तफरी मची है. हालांकि प्रशासन का कहना है कि अभी हालात नियंत्रण में है. गैस के रिसाव को बंद कर दिया गया है. 2 से 2.5 किमी तक के एरिया को खाली करा लिया गया है.

एएनआई के मुताबिक, विशाखापट्टनम के आरएस वेंकटपुरम गांव में एलजी पॉलिमर इंडस्ट्री प्लांट में केमिकल गैस उस वक्त लीक हुई, जब लोग अपने घरों में सो रहे थे. घटना करीब सुबह 3 बजे की है, जब लोगों को गैस रिसाव की वजह से सांस लेने में दिक्कत हुई और करीब हजार से अधिक लोग बीमार पड़ गए. अचानक गैस लीक होने से हर तरफ अफरा-तफरी मच गई. सांस लेने में तकलीफ के चलते लोग सड़कों पर जहां-तहां बेहोश होकर गिर पड़े. बीमार लोगों को कंधे पर, कार से , एंबुलेंस से उठाकर अस्पताल ले जाया गया. बुजुर्ग और बच्चों की हालत ज्यादा खराब है. अलग अलग अस्पतालों में हजार से ज्यादा लोगों को भर्ती किया है.

मौके पर एनडीआरएफ सहित अन्य बलों के कर्मी राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं. गैस लीक हादसे के बाद केंद्र सरकार हरकत में आ गयी है. पीएम नरेंद्र मोदी ने इस हादसेसे निपटने के लिए आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ बैठक कर रहे हैं. विशाखापट्टनम नगर निगम ने गैस लीक के खतरे के कारण लोगों से आग्रह किया है कि लोग मास्क जरूर लगाएं. निगम ने एक नक्सा भी जारी किया है जिसमें खतरे वाले क्षेत्रों को दर्शाया गया है. मास्क नहीं होने पर कपड़े से चेहरा ढंकने की सलाह दी गयी है. घटना के सामने आते ही स्थानीय पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और लोगों को निकालना शुरू किया. अभी घटना का कारण पता नहीं लग सकता है.

एनडीआरएफ और एसडीआरएफ टीमें मौके पर तैनात हैं. अधिकारियों ने बताया कि यह संयंत्र गोपालपट्नम इलाके में स्थित है. इस इलाके के लोगों ने आंखों में जलन, सांस लेने में तकलीफ, जी मचलाना और शरीर पर लाल चकत्ते पड़ने की शिकायत की. तस्वीरों में दिख रहा है कि इंसान के साथ जानवर भी इस गैस के शिकार हुए हैं. बताया जा रहा है कि किंग जॉर्ज अस्पताल में काफी लोगों को भर्ती कराया गया है, जिनमें से कई की हालत नाजुक बताई जा रही है. टीवी चैनलों पर प्रसारित फुटेजो में लोग सड़कों पर बेहोश पड़े दिख रहे हैं.

रिपोर्टों में बताया गया है कि गैस रिसाव को काबू कर लिया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गैस रिसाव कांड पर अधिकारियों के साथ बैठक की है. उन्होंने ट्वीट किया मैं विशाखापत्तनम में सभी की सुरक्षा और कल्याण के लिए प्रार्थना करता हूं. वहीं, अमित शाह ने कहा कि विशाखापत्तनम में गैस रिसाव की घटना परेशान करने वाली है. हम निरंतर स्थिति पर नजर रख रहे हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें