1. home Hindi News
  2. national
  3. shiv sena mp sanjay raut says jahalat is a kind of death and jahil people like moving corpses slt

बागी शिवसैनिकों पर संजय राउत ने की तीखी टिप्पणी, 'जहालत'... से जोड़कर की तुलना

संजय राउत ने बागी विधायकों पर तंज कसा है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, 'जहालत' एक तरह की मौत है और 'जाहिल' लोग चलती लाशों की तरह हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शिवसेना सांसद संजय राउत
शिवसेना सांसद संजय राउत
PTI

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में बागी नेताओं को लेकर सियासी घमासान जारी है. बीते दिनों महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गुवाहाटी के होटल में ठहरे हुए नौ बागी मंत्रियों के विभाग उनसे छीन लिए थे. अब शिवसेना (Shiv Sena) सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने एक ट्वीट किया है. जिसमें लिखा, 'जहालत' एक तरह की मौत है और 'जाहिल' लोग चलती लाशों की तरह हैं. आपको बता दें कि बीते दिनों भी संजय राउत ने बागी विधायकों को लेकर कहा था, गुवाहाटी में जो हैं, वे जिंदा लाश हैं. वहां 40 विधायकों का शव मुंबई आएगा, जिसे पोस्टमार्टम के लिए विधानसभा भेजेंगे. उनकी आत्मा मर चुकी है.

उद्धव ठाकरे ने विभागों में किया फेरबदल

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने बीते दिनों बागी नेता एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) सहित कई अन्य नेताओं के खिलाफ बड़ा कदम उठाते हुए, मंत्रियों के विभागों में फेरबदल किया है. सीएम ने नौ बागी मंत्रियों के विभागों को महाविकास अघाड़ी सरकार (Mahavikas Aghadi Government) के दूसरे मंत्रियों के जिम्मे में सौंपा है. इसी को लेकर बागी विधायक अपनी याचिका उच्चतम न्यायालय में लेकर पहुंचे, जिसने विधानसभा उपाध्यक्ष द्वारा उनके खिलाफ शुरू की गई अयोग्यता कार्यवाही पर 11 जुलाई तक रोक लगा दी.

एकनाथ शिंदे ने इस वजह से की बगावत

आपको बता दें कि शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार के खिलाफ शुरू हुई बगावत को एक हफ्ते हो रहा है. उनका 36 से ज्यादा विधायकों के समर्थन का दावा है. दोनों ही पक्ष अपने रुख पर अड़े हुए हैं और लंबी लड़ाई के लिये तैयार दिख रहे हैं. एक आधिकारिक बयान के अनुसार, शिंदे के नेतृत्व में गुवाहाटी में डेरा डाले बैठे बागी मंत्रियों के विभाग अन्य मंत्रियों को इसलिए दिए जा रहे हैं, ताकि प्रशासन चलाने में आसानी हो.

एकनाथ शिंदे का मंत्रालय सुभाष देसाई के पास

शिवसेना में अब चार कैबिनेट मंत्री हैं, जिनमें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे, अनिल परब और सुभाष देसाई शामिल हैं. आदित्य को छोड़कर शेष तीन विधान परिषद के सदस्य (एमएलसी) हैं. शिंदे के शहरी विकास और सार्वजनिक उपक्रम विभागों को शिवसेना के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के उद्योग मंत्री सुभाष देसाई को दिया गया है. उदय सामंत के पास उच्च शिक्षा विभाग था, जिसे अब आदित्य ठाकरे को आवंटित किया गया है.

इन मंत्रियों के हुए तबादले

गुलाब राव पाटिल से जल आपूर्ति एवं स्वच्छता विभाग लेकर अनिल परब को सौंपा गया है. संदीपान भुमरे के रोजमार गारंटी और बागबानी महकमे और दादा भूसे के कृषि एवं पूर्व सैनिक कल्याण विभाग शंकरराव गडाख को दिए गए हैं. राज्य मंत्री शम्बुराज देसाई को आवंटित विभागों का जिम्मा संजय बनसोडे (गृह-ग्रामीण) और विश्वजीत कदम (वित्त, योजना एवं कौशल विकास) को सौंपा गया है. वहीं राज्य मंत्री राजेंद्र पाटिल-यड्रावकर के विभागों को विश्वजीत कदम (लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण), प्रजक्त तानपुरे (मेडिकल शिक्षा एवं कपड़ा), सतेज पाटिल (खाद्य एवं औषधि प्रशासन) और अदिति तटकरे (सांस्कृतिक गतिविधियां) को सौंपे गए हैं. अन्य राज्य मंत्री एवं प्रहार जनशक्ति पार्टी के नेता ओमप्रकाश कडू (बच्चू कडू) के महकमों को तटकरे (स्कूल शिक्षा), सतेज पाटिल (जल संसाधन), संजय बनसोडे (महिला एवं बाल विकास) और दत्तात्रेय भरणे (अन्य पिछड़ा वर्ग विकास) को आवंटित किए गए हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें