1. home Home
  2. national
  3. rail roko andolan farmers to be stop the wheel of trains from 10 am to 6 hours today vwt

Rail Roko Andolan: किसानों का रेल रोको आंदोलन जारी,रेलवे ट्रैक पर बैठे प्रदर्शनकारी, राकेश टिकैत ने कही ये बात

किसान रेल रोको आंदोलन को सफल बनाने के लिए रविवार को किसान संगठनों ने तैयारियों की समीक्षा की. किसान मोर्चा ने कहा कि इस दौरान सड़क मार्ग को बाधित नहीं किया जाएगा. केवल रेल रोकने को लेकर फैसला किया गया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अमृतसर के देवी दासपुरा गांव में रेलवे ट्रैक पर बैठे किसान.
अमृतसर के देवी दासपुरा गांव में रेलवे ट्रैक पर बैठे किसान.
फोटो : ट्विटर.

किसानों का रेल रोको आंदोलन शुरू, पंजाब के देवी दासपुरा में रेलवे ट्रैक पर बैठे प्रदर्शनकारी

सोमवार की सुबह 10 बजे से किसानों का रेल रोको आंदोलन शुरू हो गया है. खबर हैं कि पंजाब में किसान संगठनों के 'रेल रोको आंदोलन' के आह्वान के बाद अमृतसर के देवी दासपुरा गांव में कृषि कानून के प्रदर्शनकारी रेलवे ट्रैक पर धरने पर बैठ गए.

किसान संगठनों के रेल रोको आंदोलन पर राकेश टिकैत ने कहा कि ये अलग-अलग ज़िलों में अलग-अलग जगह होगा. पूरे देश में वहां के लोगों को पता रहता है ​कि हमें कहां ट्रेन रोकनी है। भारत सरकार ने अभी हमसे कोई बात नहीं की है.

बता दें कि लखीमपुर खीरी में दंगल के दौरान किसानों की रौंदकर की गई हत्या मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र उर्फ टेनी की गिरफ्तारी और पद से बर्खास्तगी की मांग को लेकर सोमवार को किसान रेल रोको आंदोलन करेंगे. संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से जारी किए गए बयान के अनुसार, पहले से घोषित कार्यक्रम के तहत 18 अक्टूबर को भारत में रेल सेवाओं को सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक बाधित किया जाएगा. इसके साथ ही, रेल संपत्ति को किसी प्रकार का नुकसान पहुंचाए बिना रेल रोको आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से किया जाएगा.

किसान संगठनों के रेल रोको आंदोलन पर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि ये अलग-अलग ज़िलों में अलग-अलग जगह होगा. पूरे देश में वहां के लोगों को पता रहता है ​कि हमें कहां ट्रेन रोकनी है. भारत सरकार ने अभी हमसे कोई बात नहीं की है.

मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार, रेल रोको आंदोलन को सफल बनाने के लिए रविवार को किसान संगठनों ने तैयारियों की समीक्षा की. किसान मोर्चा ने कहा कि इस दौरान सड़क मार्ग को बाधित नहीं किया जाएगा. केवल रेल रोकने को लेकर फैसला किया गया है. भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष रतन मान ने कहा कि इसके सभी जिलों में कार्यकर्ताओं को तैनात कर दिया गया है.

संयुक्त किसान मोर्चा समन्वय समिति के सदस्य बलबीर राजेवाल ने रविवार को कहा कि बीते तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हत्याकांड के तुरंत बाद मोर्चा ने विरोध जताना शुरू कर दिया था और इसके लिए कार्यक्रमों की घोषणा की गई थी. मोर्चा शुरू से ही अजय मिश्र को केंद्रीय मंत्रिमंडल से बर्खास्त करके गिरफ्तार करने की मांग करता रहा है. यह साफ है कि अजय मिश्र के मंत्री पद पर होने के कारण इस मामले में न्याय की उम्मीद नहीं है. ऐसा सिर्फ इसलिए नहीं है कि उनका बेटा आशीष मिश्र लखीमपुर खीरी हत्याकांड के मुख्य आरोपी हैं.

केवल 6 घंटे तक रोकी जाएंगी रेल सेवाएं

किसान मोर्चा के नेता बलबीर राजेवाल ने कहा कि पहले से घोषित कार्यक्रम के तहत संयुक्त किसान मोर्चा और उसके सहयोगी घटक 18 अक्टूबर को पूरे भारत में रेल सेवाएं सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक बाधित रखेंगे. यह कार्यक्रम रेल संपत्ति को बिना नुकसान पहुंचाए पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहेगा. उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों को न्याय मिलने तक आंदोलन को और तेज किया जाएगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें