1. home Hindi News
  2. national
  3. kangana ranauts latest attack on sanjay raut and shiv sena so is my physical abuse or openly lynch me avd

कंगना रनौत ने ऐसा क्यों कहा, ... तो मेरा शोषण या फिर मुझे सरे आम लिंच कर देना चाहिए था

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
twitter

नयी दिल्ली : बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने महाराष्ट्र सरकार और शिवसेना सांसद संजय राउत पर ताजा हमला बोला है. सोशल मीडिया पर लगातार ट्विटर वार करने वाली कंगना ने संजय राउत को लेकर एक बड़ा ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने राउत के उस बयान का जवाब दिया है जिसमें शिवसेना सांसद ने भाजपा पर कंगना को बचाने का आरोप लगाया है.

कंगना ने अपने ट्वीट में लिखा, वाह! ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि बीजेपी उसकी रक्षा में आयी है जिसने ड्रग माफिया को ध्वस्त किया है और माफिया रैकेट से टकरा गई है, बीजेपी को तो शिवसेना के गुंडों को मेरा चेहरा तोड़ने देना चाहिए, रेप या फिर मुझे सरे आम लिंच कर देने चाहिए थे...नहीं संजय जी. उनकी ये हिम्मत कि वे एक युवा लड़की, जो कि माफिया के खिलाफ खड़ी है उसकी रक्षा करे.

संजय राउत ने कंगना और भाजपा को लेकर क्या कहा ?

शिवसेना नेता संजय राउत ने कंगना को लेकर जारी विवाद में फिर से बड़ी टिप्पणी कर दी है और इस बार तो उन्होंने इस मुद्दे पर भाजपा को भी नहीं छोड़ा है. संजय राउत ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा मुंबई की तुलना ‘पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर' (पीओके) से करने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत का समर्थन कर रही है. शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना' में अपने साप्ताहिक स्तंभ ‘रोखठोक' में राउत ने यह भी दावा किया मुंबई के महत्व को कम करने का प्रयास पद्धतिबद्ध तरीके से चल रहा है और शहर को सतत बदनाम करना इसी साजिश का हिस्सा है. राउत ने कहा, यह कठिन वक्त है, जब महाराष्ट्र में सभी मराठी लोगों को एकजुट हो जाना चाहिए.

कंगना रनौत ने ऐसा क्यों कहा, ... तो मेरा शोषण या फिर मुझे सरे आम लिंच कर देना चाहिए था

उन्होंने कहा कि रनौत को समर्थन देकर और सुशांत सिंह राजपूत मामले में अपने रुख के जरिए भाजपा राजपूत और क्षत्रिय जैसी अगड़ी जातियों के वोट हासिल कर बिहार चुनाव जीतना चाहती है. राउत ने कहा, जिस तरह से राज्य का अपमान किया गया, उससे महाराष्ट्र (भाजपा) का एक भी नेता दुखी नहीं हुआ.

उन्होंने कहा, एक अभिनेत्री मुख्यमंत्री को अपमानित करती है और क्या राज्य के लोगों को प्रतिक्रिया नहीं करनी चाहिए, यह किस तरह की एकतरफा स्वतंत्रता है?.

इधर कंगना ने रविवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की और अपने साथ हुई ‘नाइंसाफी' के बारे में उन्हें बताया. उपनगर बांद्रा के पाली हिल में कंगना के बंगले में कथित तौर पर अवैध निर्माण के कुछ हिस्सों को बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) द्वारा ढहाने के बाद उन्होंने यह मुलाकात की है. राजभवन में हुई मुलाकात के बाद उन्होंने कहा, मैंने राज्यपाल से मुलाकात की. उन्होंने मुझे बेटी की तरह सुना. मैं एक नागरिक के तौर पर उनसे मिलने आयी. राजनीति से मेरा कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा, मैंने अपने साथ हुई नाइंसाफी और जो भी अनुचित हुआ, उस बारे में उन्हें बताया. यह अभद्र बर्ताव था.

Posted By - Arbind Kumar Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें