1. home Hindi News
  2. national
  3. indian army apps ban indian army orders personnel to delete 89 apps including facebook tiktok pubg truecaller instagram see full list

भारतीय सेना ने जवानों से कहा- मोबाइल से डिलीट करें टिकटॉक, पबजी, फेसबुक समेत ये 89 ऐप्स, देखें पूरी सूची

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
भारतीय सेना ने  89 ऐप्स बैन कर दिए.
भारतीय सेना ने 89 ऐप्स बैन कर दिए.
File

Indian army apps, Mobile apps, List of 89 apps, Indian army: भारत सरकार ने चीन के 59 मोबाइल ऐप्स पर हाल ही में बैन लगाया तो अब भारतीय सेना ने दो कदम आगे बढ़ते हुए 89 ऐप्स बैन कर दिए. इसमें पबजी, फेसबुक, इंस्टाग्राम, जूम, टिंडर से लेकर ट्रूकॉलर तक शामिल हैं. भारतीय सेना ने अपने जवानों, अधिकारियों समेत तमाम कर्मियों को आदेश दिया है कि वो अपने-अपने स्मार्टफोनों से उन ऐप्स को तुरंत डिलीट कर दें जिनके नाम इस लिस्ट में शामिल हैं. जानकारी के मुताबिक,यह फैसला इसलिए लिया गया है ताकि कोई भी सेना की जानकारी लीक न हो सके.

सेना ने इसके लिए 15 जुलाई तक की समयसीमा निर्धारित की है. यानी 15 जुलाई तक सेना के हर एक जवान को अपने-अपने स्मार्टफोन से बताए गए सभी 89 मोबाइल ऐप्स डिलीट करने होंगे.बता दें कि हाल में ही चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध के बीच मोदी सरकार ने भी बड़ा फैसला किया था. सरकार ने 59 चीनी ऐप्स के खिलाफ कठोर कदम उठाते हुए तुरंत बैन करने का फरमान जारी कर दिया था. इनमें टिकटॉक जैसा काफी मशहूर ऐप भी शामिल था. जिन्‍हें गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर ने भारत में हटा दिया है, जिससे देश में मोबाइल फोन उपयोगकर्ताओं की इन ऐप तक पहुंच बंद हो गई है. आइए देखते हैं सेना की तरफ से जारी प्रतिबंधित 89 ऐप्स की सूची ...

प्रतिबंधित 89 ऐप्स की सूची
प्रतिबंधित 89 ऐप्स की सूची
ANI

बैन उन्हीं ऐप्स पर जिनपर लगा है डेटा चोरी का आरोप

सेना ने उन्हीं ऐप्स को डिलीट करने को कहा है जिन पर कभी-न-कभी पर्सनल डेटा चोरी के आरोप लगे हैं. वह चाहे दुनियाभर में काफी लोकप्रिय सोशल मीडिया ऐप फेसबुक औऱ इंस्टाग्राम ही क्यों ना हो. 2018 में ब्रिटेन की राजनीतिक परामर्शदाता कंपनी कैंब्रिज ऐनालिटिका ने यह कहकर पूरी दुनिया में सनसनी मचा दी थी कि फेसबुक ने अपने 8 करोड़ 70 लाख यूजर्स का निजी डेटा अनुचित तरीके से साझा किया.

जानकारी के मुताबिक, सेना के आदेश में यह भी कहा गया है कि जवान अपने आर्मी बैकग्राउंड का जिक्र किए बिना वॉट्सऐप, टेलीग्रीम, सिग्नल, यू-ट्यूब और ट्विटर जैसे महत्वपूर्ण मोबाइल ऐप का इस्तेमाल अपने स्मार्टफोन में कर सकते हैं.

Posted By: Utpal kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें