1. home Hindi News
  2. national
  3. china spying president pm modi including players and industrialist actors preparation for hybrid war china india news hindi pwn

China Spying: राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत भारत के करीब 10 हजार लोग हैं ड्रैगन के निशाने पर !

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
China Spying: राष्ट्रपति प्रधानमंमत्री समेत भारत के करीब 10 हजार लोग हैं ड्रैगन के निशाने पर !
China Spying: राष्ट्रपति प्रधानमंमत्री समेत भारत के करीब 10 हजार लोग हैं ड्रैगन के निशाने पर !
Twitter

भारत और चीन के बीच एलएसी पर जारी तनाव को खत्म करने लिए कई दौरा की वार्ता हो चुकी है इसके बावजूद कोई सीमा विवाद का कोई ठोस हल नहीं मिल पाया है. पर, इसी बीच चीन की एक और नापाक हरकत का खुलासा हुआ है. रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर कई बड़े केंद्रीय मंत्री और सेमा के वरिष्ठ अफसरों समेत देश के 10,000 लोग ड्रैगन की निगाहों में हैं. इसमें देश के प्रमुख उद्योगपति, अभिनेता और खिलाड़ी भी शामिल हैं. चीन इन सभी की जासूसी कर रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि शेनजेन बेस्ड चीनी कंपनी 'झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड' भारत में करीब दस हजार लोगों की निगरानी कर रही है. कंपनी का सीधा संबंध चीन की सरकार और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी से है. इस चीनी कंपनी की करीब दस हजार भारतीयों पर नजर है, जिसमें प्रधानमंत्री से लेकर एक मेयर तक शामिल है.

रिपोर्ट में बताया गया है 'झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड' की ओर से जिन भारतीयों पर नजर रखी जा रही है, उनमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, अशोक गहलोत, अमरिंदर सिंह, उद्धव ठाकरे, नवीन पटनायक और शिवराज सिंह शामिल हैं. इसके अलावा, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, रविशंकर प्रसाद, निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी और पीयूष गोयल सहित अन्य लोग शामिल हैं. वहीं, सीडीएस बिपिन रावत और सेना, नौसेना और वायुसेना के 15 पूर्व प्रमुख समेत आला अधिकारी भी चीन की निगरानी में हैं.

बीजिंग की तरफ से कंपनी के माध्यम से भारत के मुख्य न्यायाधीश शरद बोबडे, जज एएम खानविल्कर, लोकपाल जस्टिस पी सी घोष और नियंत्रक और महालेखा परीक्षक जी सी मुर्मू तक की जासूसी करवाई जा रही है. वहीं, भारत पे के संस्थापक निपुण मेहरा, रतन टाटा और गौतम अडानी सरीखे लोग भी चीन की नापाक निगरानी पर है.

रिपोर्ट में बताया गया है कि चीन के निशाने पर नेताओं के अलावा सचिन तेंदुलकर जैसे खिलाड़ी, फिल्म डायरेक्टर श्याम बेनेगल, सोनल मानसिंह जैसे लोग भी हैं. इस सूची में ऐसे लोग भी शामिल हैं, जिनका भारत में क्राइम का रिकॉर्ड है. ये सूची और भी बड़ी है, जिसमें 10 हजार के करीब प्रमुख लोग शामिल हैं.

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीनी कंपनियों द्वारा सभी प्रमुख लोगों की निजी जिंदगी को उनके सोशल मीडिया प्लटेफॉर्म द्वारा फॉलो किया जा रहा है. इनकी नजर में परिजन से लेकर समर्थक तक हैं. चीनी कंपनियों द्वारा इन लोगों का रियल टाइम डाटा इकट्ठा किया जा रहा है, जिसे चीनी सरकार के साथ साझा किया जा रहा है. बताया गया है कि इस पूरी जासूसी के लिए 'झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड' ने चीनी सरकार और कम्युनिष्ट पार्टी के साथ मिलकर विदेशों से सूचनाओं को इकट्ठा करने के लिए एक डाटा बेस तैयार किया है, जिसके तहत इस नापाक मंसूबे को अंजाम दिया जा रहा है.

कंपनी की तरफ से इकट्ठा किए जा रहे डाटा को 'हाइब्रिड वॉर' का नाम दिया है. हाइब्रिड वार के तहत किसी के बारे में जानकारी जुटाने के लिए उसकी निजी जिंदगी की जानकारी को खंगाला जाता है.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें