1. home Home
  2. national
  3. barak 8 air missile strength of the air force is increase pakistan and china prt

70 किलोमीटर दूर ही ढेर हो जाएंगे दुश्मनों के लड़ाकू विमान, वायुसेना को मिला नया हथियार

भारतीय वायु सेना को गुरुवार को मीडियम रेंज सरफेस-टु-एयर मिसाइल सिस्टम (एमआरएसएएम) बराक-8 मिल गया जो दश्मनों के लड़ाकू विमान, मिसाइल, हेलीकॉप्टर या ड्रोन को 70 किलोमीटर दूर से ही ध्वस्त कर सकता है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
70 किलोमीटर दूर ही ढेर हो जाएंगे दुश्मनों के लड़ाकू विमान
70 किलोमीटर दूर ही ढेर हो जाएंगे दुश्मनों के लड़ाकू विमान
Twitter, File
  • भारतीय वायुसेना को मिला नया हथियार, अब दुश्मनों की खैर नहीं

  • दुश्मनों पर 360 डिग्री घूम कर हमला करने में सक्षम

  • 70 किलोमीटर के दायरे में किसी को भी कर सकता है ध्वस्त

भारतीय वायु सेना को गुरुवार को मीडियम रेंज सरफेस-टु-एयर मिसाइल सिस्टम (एमआरएसएएम) बराक-8 मिल गया जो दश्मनों के लड़ाकू विमान, मिसाइल, हेलीकॉप्टर या ड्रोन को 70 किलोमीटर दूर से ही ध्वस्त कर सकता है. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने इस मिसाइल को एयर डिफेंस के लिए गेम चेंजर बताया है. बता दें, भारत और इस्राइल ने संयुक्त रूप से बराक-8 एयर डिफेंस सिस्टम को विकसित किया है.

70 किलोमीटर रेंज में दुश्मनों को कर सकता है ध्वस्त: मध्य दूरी के सतह से हवा में मार करने वाले डिफेंस मिसाइल सिस्टम को जैसलमेर में भारतीय वायुसेना के 2204 स्क्वाड्रन में शामिल किया गया. यह हवा में एक साथ आने वाले कई टारगेट या दुश्मनों पर 360 डिग्री घूम कर हमला कर सकती है. 70 किलोमीटर के दायरे में आने वाली किसी भी मिसाइल, लड़ाकू विमान, हेलीकॉप्टर, ड्रोन, निगरानी विमानों और हवाई शत्रुओं को मार गिराने में भी सक्षम है.

खास बातें:-

  • 70 किमी के दायरे में दुश्मन को मार गिराने में सक्षम.

  • इसमें एडवांस रडार, कमांड एंड कंट्रोल, मोबाइल लॉन्चर और रेडियो फ्रिक्वेंसी सीकर है.

  • MRSAM को भारत की तीनों सेनाएं और इजराइल डिफेंस फोर्स इस्तेमाल करेगी.

  • डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन और इजराइल की आईएआई ने मिलकर तैयार किया है.

सीमा पर बढ़ेगी ताकत: बता दें, इस मिसाइल के सेने के बेड़े में शामिल हो जाने से पाकिस्तान और चीन से सटी सीमा पर सेना की ताकत में और इजाफा होगा. यह मिसाइल 70 किलोमीटर तक मार करने की क्षमता रखती है. इसके साथ ही 360 डिग्री पर यह लक्ष्य निशाना बना सकती है. ऐसे में पाकिस्तान और चीन के खिलाफ भारत की रक्षा प्रणाली और मजबूत होगी. यह दुश्मनों की मिसाइलों और उनके विमानों को भेदने में पूरी तरह कारगर होगी.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें