1. home Home
  2. national
  3. anti terror operation in jammu and kashmirs poonch jammu and kashmir terror attack pkj

जम्मू कश्मीर के पुंछ इलाके में मुठभेड़ जारी, 15 दिनों से चल रहा है ऑपरेशन

सुरक्षा बल लगातार इन इलाकों में तलाशी अभियान चला रही है. जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने गैर कश्मिरियों को निशाना बनाना शुरू कर दिया था. आतंक की बढ़ती वारदातों को बाद सुरक्षा बलों ने आतंकियों को तलाश कर उन्हें निशाना बनाना शुरू कर दिया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
आतंकी मुठभेड़
आतंकी मुठभेड़
फाइल फोटो

जम्मू कश्मीर में आतंक पर वार लगातार जारी है. आज भी पुंछ के भाटा दुरियां इलाके में फायरिंग जारी है. सुरक्षाबलों और आतंकियों में मुठभेड़ हो रहा है. यहां अभी भी आतंकी छिपे हैं जो सुरक्षा बलों के निशाने पर हैं. सुरक्षा बल लगातार आतंक के खिलाफ अभियान चला रहे हैं. आतंकवाद विरोधी अभियान में दो पुलिसकर्मी और सेना का एक जवान घायल हो गये.

सुरक्षा बल लगातार इन इलाकों में तलाशी अभियान चला रही है. जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने गैर कश्मिरियों को निशाना बनाना शुरू कर दिया था. आतंक की बढ़ती वारदातों को बाद सुरक्षा बलों ने आतंकियों को तलाश कर उन्हें निशाना बनाना शुरू कर दिया है. पुंछ जिले में रविवार सुबह एक जंगल में सेना और पुलिस संयुक्त तलाशी अभियान चला रही थी.

इसी दौरान आतंकियों ने खुद के मारे जाने के डर से सुरक्षा बलों पर अचानक गोलीबारी शुरू कर दी. गोलीबारी के बाद जवानों ने आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया. आतंकियों को लागातार इन इलाकों में घेर कर रखा गया है. उन्हें छोटे से इलाके में समेट कर रख दिया गया है. किसी भी वक्त अंतिम हमला किया जा सकता है. पुंछ के भट्टा दूरियां के जंगल मे सेना की आतंकियों के साथ सुबह से भारी गोलाबारी हो रही है. फायरिंग में पुलिस के दो जवान और सेना का एक जवान घायल हो चुके हैं.

सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे 19 अक्टूबर को हेलीकॉप्टर से पुंछ में चल रही मुठभेड़ का मुआयना किया था. जंगलों में 10 अक्टूबर से ही आतंकियों के साथ मुठभेड़ जारी है. पहले पुंछ के डेरा वाली गली में 10 अक्टूबर की रात को आतंकियों के साथ मुठभेड़ हुई थी. इसमे एक जेसीओ समेत पांच जवान शहीद हो गए. इसके बाद आतंकियों के इसी ग्रुप की तलाश में पुंछ के नार खास के जंगलों में 14 अक्टूबर को सेना के जवान गए.

अधिकारियों ने बताया कि भाटा दुरियां इलाके में जब तलाशी दल एक आतंकवादी ठिकाने के पास पहुंचा तभी फायरिंग हुई, जिसमें दो पुलिसकर्मी, सेना का एक जवान और एक आतंकवादी घायल हो गया. लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी ज़िया मुस्तफा पिछले कई वर्षों से कोट बलवाल जेल में बंद था .

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें