1. home Home
  2. national
  3. alwar municipal council chairperson arrested for taking bribe of 80 thousand rupees acb caught red handed with son vwt

राजस्थान : 80 हजार रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में अलवर नगर परिषद की चेयरपर्सन गिरफ्तार, एसीबी ने की कार्रवाई

मीडिया में इस बात की भी चर्चा है कि चेयरपर्सन बीना गुप्ता अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल में अभी हाल ही में पदोन्नत होकर कैबिनेट मंत्री का पद हासिल करने वाले टीकाराम जूली की करीबी हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अलवर नगर परिषद की चेयरपर्सन बीना गुप्ता.
अलवर नगर परिषद की चेयरपर्सन बीना गुप्ता.
फोटो : सोशल मीडिया.

जयपुर : राजस्थान के अलवर नगर परिषद की चेयरपर्सन बीना गुप्ता और उनके बेटे कुलदीप गुप्ता को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने गिरफ्तार कर लिया है. एससीबी ने परिषद की चेयरपर्सन और कांग्रेस की नेता बीना गुप्ता को करीब 80 हजार रुपये के रिश्वत लेने के आरोप में रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. मीडिया की रिपोर्ट्स में बीना गुप्ता राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार के मंत्री टीकाराम जूली की करीबी बताया जा रहा है. टीकाराम जूल को इसी रविवार को मंत्रिमंडल विस्तार में पदोन्नत करके कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई गई है.

मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार, अभी हाल ही में राजस्थान के अलवर शहर में दुकानों की नीलामी की गई थी, जिसमें ठेकेदार मोहन लाल सुमन सिंह ने भी बोली लगाई थी. आरोप है कि दुकानों की इस नीलामी के लिए नगर परिषद की अध्यक्ष बीना गुप्ता और उनके बेटे कुलदीप गुप्ता ने मोहन लाल से कमीशन के तौर पर करीब 1.35 लाख रुपये की मांग की थी.

ठेकेदार मोहन लाल सुमन सिंह का आरोप है कि इसके बाद नगर परिषद की चेयरपर्सन ने उनसे 80 हजार रुपये की अतिरिक्त मांग की. उनकी इस मांग के बाद मोहन लाल ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में इस बात की शिकायत की. ठेकेदार मोहन लाल सुमन सिंह की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने नगर परिषद की चेयरपर्सन बीना गुप्ता और उनके बेटे कुलदीप गुप्ता को रिश्वत की रकम के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.

उधर, मीडिया में इस बात की भी चर्चा है कि चेयरपर्सन बीना गुप्ता अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल में अभी हाल ही में पदोन्नत होकर कैबिनेट मंत्री का पद हासिल करने वाले टीकाराम जूली की करीबी हैं. टीकाराम को गहलोत मंत्रिमंडल में पदोन्नत कर शामिल करने को लेकर विरोध भी किया जा रहा था. कई विधायकों ने टीकाराम पर भ्रष्ट होने का आरोप भी लगाया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें