1. home Home
  2. national
  3. akali leader drug case wanted bikram majithia spotted in golden temple prt

पुलिस करती रही छापेमारी, स्वर्ण मंदिर में मत्था टेकते नजर आए बिक्रम मजीठिया, उठ रहे हैं सवाल

ड्रग्स तस्करी मामले में फरार अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया को पुलिस तलाश कर रही है. इधर, नए साल के मौके पर वो अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर में माता टेकते दिखाई दिए हैं. वहीं, मजीठिया की तस्वीरें सामने आते ही पंजाब पुलिस सकते में आ गई.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
स्वर्ण मंदिर में दिखे बिक्रम मजीठिया
स्वर्ण मंदिर में दिखे बिक्रम मजीठिया
Twitter

ड्रग्स तस्करी मामले में फरार अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया को पुलिस तलाश कर रही है. इधर, नए साल के मौके पर वो अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर में माता टेकते दिखाई दिए हैं. वहीं, मजीठिया की तस्वीरें सामने आते ही पंजाब पुलिस सकते में आ गई. आनन फानन में पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी की. लेकिन अभी तक उन्हें गिरफ्तार करने में पुलिस कामयाब नहीं हो पाई है. गौरतलब है कि मोहाली जिला अदालत से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद वो लगातार फरार चल रहे हैं.

इधर, मजीठिया की माथा टेकने वाली तस्वीरें सामने आने के बाद अकाली दल के नेता विरसा सिंह वल्टोहा ने कहा है कि बिक्रम मजीठिया हर साल नए वर्ष के मौके पर दरबार साहिब में मत्था टेकने आते हैं. जाहिर है उन्होंने खुलकर तो नहीं कहा लेकिन यह स्पष्ट जरूर कर दिया कि ये तस्वीर पुरानी नहीं है. इसी साल की ये तस्वीरें हैं. गौरतलब है कि मोहाली जिला अदालत से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद अब मजीठिया की अग्रिम जमानत पर सुनवाई पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में पांच जनवरी को होगी.

गौरतलब है कि अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया पर पुराने ड्रग्स केस को लेकर एक प्राथमिकी दर्ज की गई है. स्टेट क्राइम थाने में एक एफआईआर दर्ज होने का बाद ही मजीठिया फरार चल रहे हैं. पुलिस उनकी तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है. लेकिन पुलिस के तमाम प्रयास के बाद भी मजीठिया नहीं मिले हैं. ऐसे में पंजाब की चन्नी सरकार के लिए मजीठिया को गिरफ्तार करना सबसे बड़ी चुनौती बनी हुई है.

लगातार छापेमारी के बाद भी मजीठिया को गिरफ्तार नहीं कर पाने से जहां सरकार की छवि धूमिल हो रही है वहीं विपक्षी नेता भी सवाल उठा रहे हैं. इधर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने साफ कर दिया है कि सिर्फ मामले दर्ज करने से काम नहीं होगा. सरकार को आरोपी मजीठिया को गिरफ्तार भी करना होगा. इधर, अंडरग्राउंड हो चुके मजीठिया की तस्वीर सार्वजनिक हो जाने के बाद पुलिस और चन्नी सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती है.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें