1. home Home
  2. life and style
  3. three women may be kidnapped from different areas ofjind haryana rjh

हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से गायब हुईं तीन महिलाएं, सुरक्षा सवालों के घेरे में...

आज हरियाणा के जींद से तीन अलग-अलग स्थानों से तीन महिलाओं के गायब होने की सूचना है. पुलिस ने तीनों मामलों में अज्ञात लोगों के खिलाफ बंधक बनाने का मामला दर्ज किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Crime against women in india
Crime against women in india
PTI
हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से गायब हुईं तीन महिलाएं, सुरक्षा सवालों के घेरे में...

देश में महिलाओं की सुरक्षा मुद्दा हमेशा ही सवालों के घेरे में रहता है. हालिया घटना का जिक्र करें तो मुंबई में रेप के बाद दरिंदगी की दो घटनाओं ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है.

हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से गायब हुईं तीन महिलाएं, सुरक्षा सवालों के घेरे में...

आज हरियाणा के जींद से तीन अलग-अलग स्थानों से तीन महिलाओं के गायब होने की सूचना है. पुलिस ने तीनों मामलों में अज्ञात लोगों के खिलाफ बंधक बनाने का मामला दर्ज किया है.

हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से गायब हुईं तीन महिलाएं, सुरक्षा सवालों के घेरे में...
Twitter

गायब होने वाली तीनों महिलाएं विवाहित हैं और अपने घर से किसी ना किसी काम से बाहर गयीं थीं. उनके परिजनों ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी है.

हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से गायब हुईं तीन महिलाएं, सुरक्षा सवालों के घेरे में...

हाल ही में जारी एनसीआरबी की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा होता है कि देश में प्रतिदिन बलात्कार के 77 मामले दर्ज होते हैं.

हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से गायब हुईं तीन महिलाएं, सुरक्षा सवालों के घेरे में...

देश में सबसे अधिक बलात्कार के केस राजस्थान से सामने आये, दूसरे नंबर पर उत्तर प्रदेश है. उसके बाद मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और असम का नंबर आता है.

हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से गायब हुईं तीन महिलाएं, सुरक्षा सवालों के घेरे में...

वर्ष 2019 और 2018 से तुलना करें तो देश में बलात्कार की घटनाएं कुछ कम हुई हैं, लेकिन इसकी वजह यह है कि देश में कोरोना का प्रकोप कम था और महिलाएं घर से बाहर कम निकलीं थीं.

हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से गायब हुईं तीन महिलाएं, सुरक्षा सवालों के घेरे में...

वर्ष 2020 में देश में एसिड अटैक के 105 मामले दर्ज किए गए. वहीं दहेज की वजह से मौत के 6,966 मामले दर्ज किए गए जिनमें 7,045 पीड़िताएं शामिल थीं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें