1. home Hindi News
  2. life and style
  3. shubh vivah muhurat begins many grooms wear rental sherwani and pagdi bride also decorate with artificial and hired jewelry see dulha dulhan rental sherwani jewelry price latest trends wedding dates november december 2020 news hindi smt

Shubh Vivah Muhurat पर कई दूल्हे पहनेंगे किराये की शेरवानी और पगड़ी, दुल्हन भी सजेंगी आर्टिफिशियल व भाड़े के गहनों से, जानें रेट

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Dulha Dulhan Rental Sherwani  And Jewelry, Price
Dulha Dulhan Rental Sherwani And Jewelry, Price
Prabhat Khabar Graphics

Dulha Dulhan Rental Sherwani And Jewelry, Price, Bridal Jewellery, Rental Sherwani In Muzaffarpur, Shubh Vivah Muhurat 2020: किराये पर शेरवानी लेकर शादी करने की बात ग्रामीण क्षेत्रों के लिए भले ही नया हो, लेकिन शहर में इसका प्रचलन तेजी से बढ़ रहा है. अब शादी वाले परिवार नयी शेरवानी खरीदने के बजाय किराये पर लेना उचित समझ रहे हैं. इस बार के लगन में भी ऐसे परिवारों की संख्या अधिक है, जो दूल्हे के लिए किराये पर शेरवानी और पगड़ी ले रहे हैं.

सूतापट्टी के कई कपड़ा विक्रेता दूल्हे के लिए मनपसंद शेरवानी और पगड़ी उपलब्ध करा रहे हैं. ऐसे तो शेरवानी की कीमत चार से 15 हजार और पगड़ी 500 से दो हजार तक उपलब्ध है, लेकिन महंगी शेरवानी खरीदने की अपेक्षा शादी वाले परिवार किराये पर अधिक कीमत की शेरवानी ले रहे हैं.

कपड़ा दुकानदारों ने कई शेरवानी इसी के लिए बनवा कर रखा है, इसकी बिक्री नहीं की जाती. एक बार उपयोग के बाद उसे धोकर व पॉलिश करा कर रख दिया जाता है. शेरवानी के साथ मोतियों की माला भी दी जाती है. इस बार भी लगन की हर तिथि को शेरवानी बुक है.

मारवाड़ी समाज में अधिक प्रचलन. चेंबर के उपाध्यक्ष सज्जन शर्मा कहते हैं कि शादी के बाद शेरवानी अक्सर बेकार ही हो जाता है. उसका दूसरा काम नहीं होता. इसलिए निम्न और मध्यम वर्ग के लोग किराए पर शेरवानी लेना अच्छा समझते हैं. सूतापट्टी के शेरवानी विक्रेता विशाल ने बताया कि हर लगन में शेरवानी किराये पर जाता है. इस बार भी अच्छी संख्या में शेरवानी किराये के लिए बुक की गई है.

शादी वाले परिवारों में महिलाएं ले रहीं किराये पर गहने

मुजफ्फरपुर : लगन शुरू होते ही शादियों के लिए किराए पर आर्टिफिशियल गहनों का भी क्रेज काफी बढ़ गया है. मोतीझील के कई शृंगार प्रसाधन सामग्री की दुकानें किराये पर आर्टिफिशियल गहने उपलब्ध करा रहे है. किराया गहनों की वेराइटी और संख्या पर तय हो रही है. इन गहनों के लिए 500 से लेकर दो हजार तक का किराया लिया जा रहा है.

सोने का पानी चढ़ा हुआ आर्टिफिशियल ज्वेलरी में टीका, नथिया, हार, नथुनी, कंगन, बाल क्लिप, अंगूठी, कमरबंद सहित अन्य प्रकार के गहने उपलब्ध हैं. ये देखने में बिल्कुल सोने की तरह लगते हैं. देखने में लाखों की कीमत का आभास देने वाले गहने महिलाएं शादी के लिए किराया पर ले रही हैं. इसके एवज में दुकानदार मार्जिन मनी लेते हैं, जिसे ज्वेलरी लौटाने पर वापस कर दिया जाता है.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें