1. home Hindi News
  2. health
  3. symptoms that distinguish between common cold and corona infection sur

इस लक्षण से पता चलेगा कोरोना है या कॉमन कोल्ड, छींक पर क्या बोले एक्सपर्ट?

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कोरोना और कॉमन कोल्ड में अंतर
कोरोना और कॉमन कोल्ड में अंतर
Photo: Twitter

नयी दिल्ली: कोरोना संकट इस समय दुनिया की सबसे बड़ी परेशानी और तकलीफ की वजह है. कोरोना का लक्षण तेज बुखार, खांसी, गले में खराश, नाक बहना वगैरह है. अब ऐसा फ्लू और कॉमन कोल्ड में भी होता है. सवाल ये है कि लोगों को पता कैसे चलेगा कि कौन सा लक्षण कोरोना है और कौन सा फ्लू या कॉमन कोल्ड. सर्दी का मौसम आ रहा है.

ऐसे में ये समस्या और सवाल दोनों ही बहुत परेशान करने वाले हैं. इस खबर में आपको, आपके तमाम सवालों का हरसंभव जवाब देने की कोशिश करेंगे.

फ्लू और कॉमन कोल्ड का लक्षण क्या है

आमतौर पर फ्लू, कॉमन कोल्ड और कोरोना तीनों में बुखार आता है. लेकिन बुखार में शरीर का तापमान 37.8 डिग्री सेल्सियस या इसे ज्यादा है तो इसका मतलब शरीर किसी संक्रमण से लड़ रहा है. यदि जांच में बॉडी का तापमान 37.8 डिग्री से ज्यादा है तो पीड़ित व्यक्ति को सेल्फ आइसोलेशन में चले जाना चाहिए क्योंकि ये संक्रमण का लक्षण है. डॉक्टरों के मुताबिक कॉमन कोल्ड में इतना तेज बुखार नहीं आता.

फ्लू से कैसे अलग है कॉमन कोल्ड की दिक्कत

कॉमन कोल्ड और फ्लू से पीड़ित व्यक्ति में एक समान लक्षण दिखता है. इसमें मांसपेशियों में दर्द, ठंड लगना, सिर भारी लगना और कभी कभी दर्द करना, गले में खराश, नाक बहना और खांसी जैसे लक्षण दिखते हैं. इन लक्षणों के बावजूद फ्लू और कॉमन कोल्ड में मुख्य अंतर ये होता है कि कोल्ड में फ्लू के मुकाबले कम गंभीर लक्षण होते हैं और घरेलु नुस्खों से ही इसका इलाज हो जाता है. वहीं फ्लू में डॉक्टर की सलाह और दवाईयां लेनी पड़ती है.

कैसे जानेंगे कि फ्लू नहीं ये तो कोरोना है

यदि, कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित है तो उसे तेज बुखार होगा. कॉमन कोल्ड और फ्लू में रूक-रूककर खांसी होती है. एक बार में ज्यादा से ज्यादा 1 मिनट लगातार खांसी हो सकती है लेकिन कोरोना होने पर 1 घंटे या उससे ज्यादा समय तक लगातार खांसी हो सकती है. 24 घंटे के दरम्यान कई बार खांसी होती है. यदि खांसी में किसी तरीके का आराम ना मिल रहा हो तो अविलंब अपना कोरोना टेस्ट करवा लें.

कोरोना होने पर दिखते हैं कुछ ऐसे लक्षण

कॉमन कोल्ड या फ्लू में स्वाद या सूंघने की क्षमता खत्म हो जाना जैसे लक्षण नहीं दिखते. दवाईयों की वजह से मुंह का स्वाद जरूर बिगड़ जाता है. वहीं यदि किसी व्यक्ति को खांसी, जुकाम के साथ-साथ स्वाद और सूंघने की शक्ति खत्म हो जाने जैसे लक्षण दिख रहे हों तो सावधान होना चाहिए. वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामले में ये लक्षण देखा गया. यदि आपके साथ ऐसा है तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर कोरोना का टेस्ट जरूर करा लें.

छींकना कोरोना संक्रमण है या नहीं

डॉक्टरों के मुताबिक छींक आना कोरोना का लक्षण नहीं है. यदि आपको बुखार नहीं है, स्वाद और सूंघने में कोई दिक्कत नहीं आ रही है, लगातार खांसी से परेशान नहीं है तो कोरोना का टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं है. छींक कोरोना के प्रसार का माध्यम हो सकता है लेकिन ये कोई लक्षण नहीं है. कोल्ड में बहती नाक के लक्षण बहुत कम मामलों में देखे गए हैं. हालांकि एहतियात के तौर पर छींकते समय नाक में टिश्यू पेपर या रुमाल जरूर रख लीजिए.

Posted By- Suraj Thakur

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें