1. home Home
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. thank god there is applause and no abuse yet says salman khan know why urk

बोले सलमान खान- भगवान का शुक्र है अभी तक तालियाँ पड़ रही गालियां नहीं

अभिनेता सलमान खान अपनी हालिया रिलीज फ़िल्म अंतिम द फाइनल ट्रुथ के कलेक्शन से खुश हैं. वे कहते हैं कि मैं एक दिन में 35 या 40 करोड़ के कलेक्शन वाला इंसान हूं लेकिन अभी हालात ही कुछ ऐसे हैं तो जो मिल रहा कलेक्शन वो भी खास हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
salman khan
salman khan
instagram

अभिनेता सलमान खान अपनी हालिया रिलीज फ़िल्म अंतिम द फाइनल ट्रुथ के कलेक्शन से खुश हैं. वे कहते हैं कि मैं एक दिन में 35 या 40 करोड़ के कलेक्शन वाला इंसान हूं लेकिन अभी हालात ही कुछ ऐसे हैं तो जो मिल रहा कलेक्शन वो भी खास हैं. हर दिन फ़िल्म के कलेक्शन बढ़ रहे हैं इससे अच्छी बात क्या हो सकती हैं. उर्मिला कोरी से हुई बातचीत...

किसी फिल्म की सफलता और असफलता में फ़िल्म का बजट सबसे अहम होता है अंतिम का क्या बजट था

जब फ़िल्म शुरू हुई थी तो बजट कम थालेकिन फ़िल्म खत्म होते होते दबंग के बजट तक पहुंच गई. फ़िल्म की रिलीज के तुरंत बाद इस इंटरव्यू का मकसद एक ही है कि मैं लोगों को पता सकूं कि मैं फ़िल्म में मेहमान भूमिका में नहीं हूं. जिन लोगों ने फ़िल्म देख ली है वो लोगों को बता रहे हैं तो आप खुद देखें रहे हैं कि हर दिन फ़िल्म के कलेक्शन बढ़ रहे हैं. वैसे यह सिर्फ अंतिम फ़िल्म की बात नहीं है बल्कि थिएटर में दर्शक वापस आने लगे हैं. जब मैंने गेटी गैलेक्सी थिएटर को खोला था उस वक़्त मेरे जेहन में था कि इस जगह को फिर से आबाद होना चाहिए. यही वजह है कि अंतिम को अंतिम तक नहीं छोडूंगा।सिटी टूर करने वाला हूं ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोग थिएटर में जाए.

आपके कुछ फैंस ने थिएटर में पटाखे जलाए हैं ,जिसके लिए आपने अपने सोशल मीडिया से नाराजगी भी जाहिर की है?

मुझे थिएटर में पटाखे जलाने की बात बहुत खराब लगी है. थिएटर में आग लगने से कई लोगों की जान चुकी हैं. वो घटना अनजाने में हुई थी लेकिन ये तो आप जानबूझकर मुसीबत को बुला रहे हैं. मैं उनके प्यार को समझता हूं लेकिन उनकी सुरक्षा भी मेरे लिए बहुत अहम है. आप अपने साथ साथ दूसरों की जान भी जोखिम में डाल रहे हैं.

आपने अपने तस्वीर पर दूध चढ़ाने वालों से भी नाराज़ हैं साउथ में रजनीकांत की फिल्मों का उसी तरह से वेलकम होता है?

मुझे खुशी है कि रजनीकांत सर के लिए ऐसा वेलकम होता है लेकिन मुझे ऐसा वेलकम नहीं चाहिए. मेरा पोस्टर दूध नहीं पीता है बहुत सारे ऐसे बच्चे हैं जिनको ये दूध की ज़रूरत है और आप उन्हें दे सकते हैं. मैं बताना चाहूंगा कि मैं दूध नहीं पीता हूं तो मेरा पोस्टर कैसे पिएगा. इस बात को कहने के साथ मैं बताना चाहूंगा कि इस पेंडेमिक में मेरे बहुत सारे फैंस ने बहुत काम किया है. दवाइयां,ऑक्सीजन सिलिंडर,खाना,कपड़ा बांटा हैं. मुझे ये बात छह आठ महीने बाद पता चली कि मेरे फैंस क्लब इस तरह से लोगों को सपोर्ट कर रहे हैं. वो बहुत अमीर. नहीं थे मिडिल क्लास लोग थे. मैं अपने फैंस क्लब्स को ये भी समझाता हूं कि कभी किसी दूसरे को एक्टर के बारे में बुरा नहीं लिखना और कहना है. दूसरे लोगों के फैंस क्लब के लोग सोशल मीडिया पर गालियां भी देते हैं लेकिन मेरे ऐसे नहीं हैं.

आप अपनी निजी जिंदगी में किसी के फैन रहे हैं?

एक एक्टर के तौर पर मुझे यूसुफ साहब का काम बहुत पसंद है. धरमजी,देव साहब, विनोद खन्ना,शत्रुघन सर,शशि कपूर,हेमा जी ,रेखाजी उन सब में खास क्वालिटीज रही हैं. मैंने अपने बचपन से उन्हें खुद में लाना शुरू कर दिया था लेकिन अपने अंदाज में.

इस फ़िल्म में आयुष पहली बार शर्टलेस हुए हैं आप कब पहली बार ऑन स्क्रीन शर्टलेस हुए हैं?

ओ जाने जाना लेकिन वो सोच समझकर नहीं हुआ था. उस वक़्त बॉडी बनानी शुरू कर दी थी. उस गाने के लिए मुझे एक लाल शर्ट मिली थी वो जो शर्ट था वो ब्लाउज का फील दे रहा था इतना टाइट था. जब तक बॉय लोखंडवाला जाकर शर्ट बदलकर आता शाम हो जाती थी. उस वक़्त मॉनिटर आ चुके थे. मैंने सोचा एक बार शर्टलेस में एक स्टेप करके देखता हूं मॉनिटर में कैसा लग रहा हूं. सोहेल ने कहा इसी में गाने को कंटिन्यू रखते हैं. यही वजह है कि सिटी टूर प्लान किया है.

फ़िल्म में आप बाइक में नज़र आ रहे हैं रियल लाइफ में बाइक और कार के कितने शौकीन हैं?

फार्म पर थोड़ा बहुत बाइक चला लेता हूं. मुझे 24 साल हो गए हैं गाड़ी चलाए हुए. वो मेरे शौक अभी रहे ही नहीं. सायकल अभी भी बहुत चलाता हूं वो एक तरह से कार्डियो भी है. जब कुछ भी नहीं रहेगा तो सायकल तो रहेगी भाई तो उसकी आदत नहीं छोड़नी चाहिए. मैं ट्रैकिंग एन्जॉय करता हूं. पूरे लॉक डाउन मैंने ट्रैकिंग की. खेती बाड़ी करता था. पहाड़ पर चढ़ता था.

आपकी आनेवाली फिल्में

दबंग 4 पर काम हो रहा है. साजिद की एक फ़िल्म है किक नहीं दूसरी फिल्म है. टाइगर अगले साल आएगी. कभी ईद कभी दीवाली भी आएगी. उसके शीर्षक को लेकर थोड़ा कंफ्यूजन है. भाईजान भी रखने का सोच रहे हैं.दर्शकों की राय लेने की तैयारी है.अनीस बज्मी की फ़िल्म को भी हां कहने वाला हूं. निर्माता के तौर पर दो तीन छोटी फिल्में बना रहा हूं.

क्या उसमें नए लोग होंगे

हम नए लोगों को ही मौका देते हैं. हम ये नहीं हैं कि हम बड़े बड़े स्टार पकड़ते हैं और उनके प्रमोशन पर जीते हैं. हम वो नहीं हैं. हम पैसे लेते नहीं पैसे डालते हैं.

आपकी ईद पर अगली रिलीज क्या होगी

फिलहाल ईद पर कोई फ़िल्म रिलीज नहीं है. कोई फ़िल्म तैयार नहीं है. ईद पर मेरे प्रोडक्शन हाउस की फ़िल्म आ सकती है लेकिन उसमें मैं नहीं होऊंगा. मेरी फिल्म दीवाली पर आ सकती है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें