1. home Hindi News
  2. business
  3. personal loan latest updates bank deposite rate of intrest credit score hindi news loan kaise milega prt

Personal Loan लेने में हो रही है परेशानी? इन बातों पर दें ध्यान, झट से पास होगा लोन

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Loan Moratorium
Loan Moratorium
प्रतीकात्मक तस्वीर
  • क्रेडिट स्कोर 750 या उससे अधिक है, तो आपके पास एक मजबूत क्रेडिट स्कोर है

  • कम ब्याज दर या प्रोसेसिंग फीस के साथ पर्सनल लोन मिल सकता है

  • पर्सनल लोन दो तरह के होते हैं-सिक्योर्ड लोन और अनसिक्योर्ड लोन

Personal Loan, Rate of Interest, Credit Score, Bank Deposite: आर्थिक परेशानी का सामना कभी भी, किसी को भी करना पड़ सकता है. ऐसे में अधिकतर लोग पर्सनल लोन का आसान विकल्प चुनते हैं, ताकि अचानक सामने आयी पैसों की जरूरत काे पूरा कर सकें. बेशक पर्सनल लोन तात्कालिक आर्थिक जरूरत को पूरा करने का आसान विकल्प है, लेकिन इस लोन को पास कराना उतना भी आसान नहीं होता. आपके द्वारा पहले से बरती गयी समझदारी इसे आसान बनाती है.

हालांकि, यह एक असुरक्षित लोन है और इसकी ब्याज दर आमतौर पर 10.50 फीसदी से शुरू होती है, लेकिन यह ब्याज दर सभी के लिए एक जैसी नहीं होती. किसी भी व्यक्ति का पर्सनल लोन और उसकी ब्याज दर मासिक आय, क्रेडिट स्कोर एवं जॉब के बैकग्राउंड और लोन वापस करने की क्षमता के आधार पर स्वीकृत होता है. जानें आपके ब्याज दर को प्रभावित करनेवाली कुछ अहम बातों के बारे में.

क्रेडिट स्कोर को रखें दुरुस्त: व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर उसका पर्सनल लोन पास कराने के साथ ही उसकी ब्याज दर को कम करने में अहम भूमिका निभाता है. दरअसल, क्रेडिट स्कोर एक 3 अंकों की संख्या है, जो क्रेडिट हिस्ट्री के आधार पर बनती है. यह स्कोर तैयार होता है पहले लिए गये लोन एवं क्रेडिट कार्ड के बिल के भुगतान के आधार पर. आप अगर इएमआइ का भुगतान समय पर करते हैं, तो इसके अंक आपके स्कोर में जुड़ जाते हैं. आप अगर समय पर भुगतान नहीं करते हैं, तो क्रेडिट स्कोर कुछ अंक नीचे चला जाता है. आपका क्रेडिट स्कोर अगर 750 या उससे अधिक है, तो आपके पास एक मजबूत क्रेडिट स्कोर है. इसके आधार पर आप आसानी से कम ब्याजदर पर पर्सनल लोन हासिल कर सकते हैं.

आपकी आय भी डालती है असर: पर्सनल लोन असुरक्षित लोन होता है और इसके लिए किसी तरह की सिक्योरिटी नहीं जमा की जाती है. ऐसा माना जाता है कि अधिक आय वाले आवेदक बिना किसी देरी के लोन चुकाने में सक्षम होंगे, इसलिए उन्हें कम ब्याज दर ऑफर की जाती है. इसके साथ ही आप अगर किसी प्रतिष्ठित कंपनी में जॉब करते हैं, तो भी आपको पर्सनल लोन की ब्याज दर पर अच्छी छूट मिल सकती है.

बैंक खाता बन सकता है मददगार: आपका वेतन या बचत खाता जिस बैंक में है, उससे आपने अगर पहले कोई लोन लिया है और आपका समय पर इएमआइ चुकाने का अच्छा रिकॉर्ड रहा है, तो बैंक आपको कम ब्याज दर या प्रोसेसिंग फीस के साथ पर्सनल लोन दे सकता है. इसके अलावा आप क्या काम करते हैं, यह भी आपके क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करता है. एक नौकरीपेशा व्यक्ति को व्यापार करनेवाले व्यक्ति की तुलना में अलग ब्याज दर मिल सकती है.

लोन दिला सकती हैं ये चीजें: पर्सनल लोन दो तरह के होते हैं-सिक्योर्ड लोन और अनसिक्योर्ड लोन. अनसिक्योर्ड लोन पाने के लिए किसी भी तरह की सिक्योरिटी जमा करने की जरूरत नहीं होती.

लोन लेते समय काम आयेंगी ये बातें

अपना क्रेडिट स्कोर अधिक रखें. समय से इएमआइ व क्रेडिट कार्ड बिल्स का भुगतान करें. 30 फीसदी से कम क्रेडिट यूटिलाइजेशन, हेल्दी क्रेडिट मिक्स को मेंटेन करें.

आय अनुपात के लिए निश्चित ऑब्लिगेशन को कम रखें.

आपका सेविंग अकाउंट या फिक्स्ड डिपॉजिट जिस बैंक में है, पर्सनल लोन वहीं से लेने की कोशिश करें.

एक ही समय में कई बैंकों के पास पर्सनल लोन के लिए आवेदन न करें. इससे आपका क्रेडिट स्कोर प्रभावित हो सकता है.

लोन चुकाने के लिए ऐसा टेन्योर चुनें, जिसकी इएमआइ रिपेमेंट ऑब्लिगेशंस लिमिट के भीतर हो.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें