1. home Hindi News
  2. business
  3. indian railways latest updates railway staff on strike october 22 da bonus irctc news kya nahi chalegi train amh

IRCTC/Indian Railways latest Updates : 22 अक्टूबर को इतनी देर के लिए नहीं चलेंगी ट्रेनें ? जानें क्यों, यात्रा करने के पहले जान लें यह जरूरी बात नहीं तो...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
IRCTC News, Indian Railway Latest Update
IRCTC News, Indian Railway Latest Update
Prabhat Khabar Graphics

IRCTC/Indian Railways : यदि आप त्योहार के सीजन में घर जा रहे हैं तो यह खबर आपके लिए खास है. जी हां… रेलवे दशहरा, दीपावली और छठ त्योहारों (dashara, diwali, chhath special trains) को देखते हुए यात्रियों की सुविधाओं के लिए 196 जोड़ी नयी ट्रेनें चला रहा है. लेकिन गुरुवार को यात्रा करने से पहले आपको इस खबर पर एक बार नजर डालनी चाहिए…दरअसल देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के कारण रेलवे कर्मचारियों को अभी तक बोनस (bonus,DA) नहीं मिला है, जिससे वे नाराज (Railway Strike on 22nd October) हैं. Railway के नाराज कर्मचारियों ने 22 अक्टूबर को हड़ताल पर जाने से जुड़ी हर Latest News in Hindi से अपडेट रहने के लिए बने रहें हमारे साथ.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इन नाराज कर्मचारियों ने 22 अक्टूबर को हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है. रेलवे ट्रेड यूनियन की मानें तो वे 22 अक्टूबर को देशभर में ट्रेनों को दो घंटे तक रोक सकते हैं जिसके लिए उन्होंने धमकी दी है. यही नहीं ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन ने पूरे देश में हड़ताल की चेतावनी दी है. यहां चर्चा कर दें कि रेलवे कर्मचारी संघ ने कुछ दिन पहले धमकी दी थी कि दुर्गा पूजा के शुरू होने से पहले दिया जाने वाला बोनस (productivity linked bonus) जारी नहीं किया जाता है तो कर्मचारी इसके खिलाफ विरोध दर्ज करेंगे.

बोनस के भुगतान में देरी : इधर, रेलवे बोर्ड की तरफ से सख्त कार्रवाई की चेतावनी को धता बताते हुए रेलवे कर्मचारियों ने उत्पादकता से जुड़े बोनस के भुगतान में हो रही ''अनावश्यक देरी'' के खिलाफ ने मंगलवार को देश भर में विरोध प्रदर्शन किया. अखिल भारतीय रेलवेमेंस फेडरेशन ने इसकी जानकारी दी. फेडरेशन ने कहा कि अगर बोनस तत्काल जारी नहीं किया गया तो वह विरोध को और तेज करने के लिए मजबूर होंगे और सीधा कार्रवाई करेंगे.

भुगतान में हो रही अनावश्यक देरी : फेडरेशन के महासचिव शिव गोपाल मिश्र ने बयान जारी कर कहा कि फेडरेशन से मान्यता प्राप्त सभी यूनियनों ने उत्पादकता से जुड़े बोनस के भुगतान में हो रही अनावश्यक देरी के खिलाफ पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया है. उन्होंने कहा कि रेलवे बोर्ड से सख्त कार्रवाई की चेतावनी दिये जाने के बावजूद आठ लाख से अधिक रेलवे कर्मचारियों ने पूरे देश में इन विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लिया.

और रेलवे ने लाभ कमाया : मिश्र ने कहा कि यह बोनस 2019-20 के लिये दिया जाना है जब कोरोना वायरस नहीं था और रेलवे ने लाभ कमाया था. उन्होंने कहा कि यही कारण है कि रेल मंत्रालय ने सभी रेल कर्मचारियों को बोनस का भुगतान करने के लिये वित्त मंत्रालय को अपनी सिफारिश अक्टूबर के पहले हफ्ते में ही भेज दी थी. पिछले चार दशक से दुर्गा पजा के एक सप्ताह पहले इम कर्मचारियों को बोनस भुगतान होता आया है. मिश्र ने कहा कि इस साल देरी क्यों हो रही है? एक तरफ प्रधानमंत्री एवं रेल मंत्री रेल कर्मचारियों के काम की सराहना कर रहे हैं लेकिन दूसरी तरफ बोनस भुगतान को लेकर उनका रवैया अलग है.

नहीं मिलेगा डीए एरियर : आपको बता दें कि कोरोना से बचाव के नाम पर पहले ही कर्मचारियों की डेढ़ साल के लिए महंगाई भत्ते के इजाफे में पर रोक लगाने का काम किया गया है. इस साल दीपावली से पूर्व कर्मियों को डीए का एरियर भी नहीं प्राप्त होगा.

भाषा इनपुट के साथ

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें