1. home Home
  2. business
  3. harish rawats big announcement amid factionalism in punjab congress and said that we will fight elections leadership in captain amarinder singh vwt

पंजाब में गुटबाजी के बीच हरीश रावत का बड़ा ऐलान, बोले- कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में ही लड़ेंगे चुनाव

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि 2022 का चुनाव कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में ही लड़ेंगे.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत.
पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत.
फोटो : ट्विटर.

नई दिल्ली/देहरादून : पंजाब कांग्रेस में बीते कई महीनों से जारी गुटबाजी के बीच पार्टी के राज्य प्रभारी हरीश रावत ने बुधवार को बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि पंजाब में कांग्रेस अगले साल होने वाला चुनाव मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में ही लड़ेगी. संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि 2022 का चुनाव कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में ही लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि हालांकि, पंजाब के कुछ विधायक उनसे मिलने आए थे.

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि हमारे 4 वरिष्ठ मंत्रीगण और 3 विधायक यहां आए, उन्होंने अपनी चिंता बताई. वो पार्टी की जीत की संभावनाओं को लेकर चिंतित हैं. उन्होंने कहा कि हमारा विरोध किसी व्यक्ति से नहीं है. हम चाहते हैं कि चुनाव में हम एक स्पष्ट रोडमैप के साथ जाएं.

उन्होंने कहा कि अगर किसी को किसी से कोई नाराज़गी है, तो नाराज़गी कांग्रेस के रास्ते में नहीं आनी चाहिए. कांग्रेस के लिए बहुत आवश्यक है कि वो पंजाब में मिलकर चुनाव लड़े. मंत्रीगणों ने, विधायकों ने मुझे आश्वासन दिया कि उनका पार्टी में और पार्टी हाईकमान में पूरा विश्वास है.

हरीश रावत ने कहा कि जिला और राज्य प्रशासन की कार्य पद्धति को लेकर उनकी कुछ शिकायतें भी हैं. कांग्रेस का कोई विधायक अगर अपने को असुरक्षित समझता है और समझता है कि प्रशासन उसको हराने की कोशिश कर सकता है या उसके ख़िलाफ काम कर सकता है, तो ये बहुत चिंताजनक बात है.

इस बीच, पंजाब के कैबिनेट मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि हम पंजाब के लोगों और पंजाब के विधायकों की भावनाओं को लेकर हरीश रावत से मिलने आए थे. वे हमारी बातों से संतुष्ट हैं. हम पंजाब के वे मसले जो हल नहीं हो रहे, उन्हें लेकर यहां आए हैं. इन्होंने हमारी बात सुनकर हाईकमान से बात करने की बात की है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें