1. home Hindi News
  2. world
  3. india china international law american member of parliamet india china news avh

India China News : 'अंतरराष्ट्रीय कानून का सम्मान करे चीन'- भारत से सीमा विवाद पर अमेरिकी सांसद का बयान

By Agency
Updated Date
'अंतरराष्ट्रीय कानून का सम्मान करे चीन'- भारत से सीमा विवाद पर अमेरिकी सांसद का बयान
'अंतरराष्ट्रीय कानून का सम्मान करे चीन'- भारत से सीमा विवाद पर अमेरिकी सांसद का बयान
फोटो - ट्वीटर

भारत चीन सीमा पर उत्पन्न स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुये अमेरिका के एक शीर्ष सांसद ने शुक्रवार को कहा कि विवादों को शांतिपूर्वक ढंग से सुलझाने के लिये चीन को अपने पड़ोसियों के साथ काम करना चाहिये और अंतरराष्ट्रीय कानून का सम्मान करना चाहिये. अमेरिकी कांग्रेस के भारतीय मूल के सदस्य एमी बेरा ने कहा, ‘भारत चीन सीमा पर बढ़ती शत्रुता के कारण मैं चिंतित हूं और दोनों देशों से आग्रह करता हूं कि वे मौजूदा स्थिति को सामान्य करने के लिये अपने कूटनीतिक तंत्र का इस्तेमाल करें.'

उन्होंने ट्वीट किया कि वास्तविक नियंत्रण रेखा के दोनों तरफ बढ़ती सैन्य मौजूदगी प्रतिकूल और बेकार है. सांसद ने कहा, ‘दक्षिण चीन सागर से लेकर वास्त​विक नियंत्रण रेखा तक चीन की उकसावे वाली कार्रवाई को लेकर मैं चिंतित रहता हूं' भारत चीन सीमा पर उत्पन्न स्थिति से जुड़ी हर Breaking News in Hindi से अपडेट के लिए बने रहें हमारे साथ.

बेरा ने दोहराया, ‘विवादों का शांतिपूर्वक समाधान निकालने के लिये चीन को पड़ोसियों के साथ काम करना चाहिये और अंतरराष्ट्रीय कानून का सम्मान करना चाहिये.' भारत और चीन की सेनाओं के बीच इस साल मई से ही पूर्वी लद्दाख समेत वास्तविक नियंत्रण रेखा से लगने वाले विभिन्न स्थानों पर गतिरोध है. पिछले 45 साल में पहली बार वास्तविक नियंत्रण रेखा पर गोली चली है और दोनों पक्ष एक दूसरे पर हवा में गोली चलाने का आरोप लगा रहे हैं.

वहीं भारत और चीन ने सीमा पर चल रहे विवाद को खत्म करने के लिए दोनों देश ने पांच बातो पर सहमति जतायी है. मास्को में दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों के बीच दो घंटे की लंबी बातचीत के बाद यह समाधान निकला है. बातचीत के बाद दों के देशों के रक्षामत्रियों ने कहा की तनाव को खत्म करने के लिए मित्रवत कदम उठाये जायेंगे. बातचीत में यह सहमति बनी की दोनों ही देश अपनी अपनी सीमा पर तनाव को कम करेंगे क्योंकि यह दोनों ही देशों के हित में नहीं है.

Posted by : Avinish Kumar Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें