25.1 C
Ranchi
Monday, February 26, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeराज्यउत्तर प्रदेशसीएम योगी बोले- सरकार के संवेदनशील होने पर होती है गरीब की सुनवाई, विकास में बाधक कुरीतियों को नहीं...

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब सरकार संवेदनशील होती है तो गरीब कमजोर लोगों की सुनवाई होती है. उन्हें बिना भेदभाव की पूरी पारदर्शिता के साथ शासन की योजनाओं का लाभ मिलता है. केंद्र व राज्य की डबल इंजन सरकार ऐसी ही संवेदनशील सरकार है.

सीएम योगी बोले- सरकार के संवेदनशील होने पर होती है गरीब की सुनवाई, विकास में बाधक कुरीतियों को नहीं पनपने दें

Gorakhpur News: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय दौरे पर शनिवार को गोरखपुर पहुंचे. यहां पर वह रामगढ़ताल किनारे महंत दिग्विजयनाथ पार्क में आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में हिस्सा लेने पहुंचे. इस कार्यक्रम में शामिल लगभग 1500 नवविवाहित जोड़ों को उन्होंने आशीर्वाद दिया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत वर्ष 2017 से अब तक करीब 3 लाख शादियां करा चुकी है. समाज कल्याण विभाग की तरफ से आयोजित इस समारोह में 1500 जोड़े विवाह के पावन बंधन में बंधे. नवयुगलों में हिंदू, मुस्लिम दोनों शामिल रहे. सभी नव दंपतियों को आशीर्वाद देते हुए मुख्यमंत्री ने उनके सुखमय जीवन की कामना की. इस अवसर पर उन्होंने मंच से 10 नव युगलों को प्रमाण पत्र और उपहार शगुन किट भेट किया. प्रमाण पत्र देने के दौरान मुख्यमंत्री ने जोड़ों से आत्मीय संवाद भी किया. मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में प्रदेश सरकार के मत्स्य विकास विभाग के मंत्री डॉ संजय निषाद सहित बांसगांव सांसद कमलेश पासवान, गोरखपुर ग्रामीण के विधायक विपिन सिंह सहित भाजपा के वरिष्ठ नेता मौजूद रहे.

दहेज की कुरीतियों से कई गरीब परिवार विवाह के पवित्र यज्ञ से वंचित

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब सरकार संवेदनशील होती है तो गरीब कमजोर लोगों की सुनवाई होती है. उन्हें बिना भेदभाव की पूरी पारदर्शिता के साथ शासन की योजनाओं का लाभ मिलता है. केंद्र व राज्य की डबल इंजन सरकार ऐसी ही संवेदनशील सरकार है. यह सरकार बिना भेदभाव शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ तो पहुंचा ही रही है. जन सहयोग से समाज की कुरीतियों को समाप्त करने का भी प्रयास कर रही है. मुख्यमंत्री ने कहा कि दहेज की कुरीतियों से कई गरीब परिवार विवाह के पवित्र यज्ञ से वंचित हो जाते हैं. बाल विवाह से पूरी तरह छुटकारा पाने के साथ दहेज की अत्याचार को समाप्त करने की दिशा में यह आयोजन अभिनव प्रयास है. उन्होंने कहा कि हमें समाज में किसी भी ऐसी कुरीति को पनपना नहीं देना है .जो समाज के विकास में बाधक हो.

Also Read: अयोध्या राम मंदिर: प्राण प्रतिष्ठा से पहले गर्भगृह तैयार, कमल के आसन पर विराजमान होंगे रामलला, देखें तस्वीरें
महिला सशक्तीकरण केंद्र राज सरकार की प्रतिबद्धता

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार सशक्तीकरण के लिए प्रतिबद्ध है और इस निमित्त हर जरूरी कदम उठा रही है. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मातृ वंदना जैसे कई कार्यक्रम महिलाओं की सुरक्षा व प्रेरणा की दिशा में महत्वपूर्ण साबित हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि महिला सशक्तीकरण की दिशा में आगे बढ़ते हुए सरकार ने संसद में नया विधेयक भी पारित किया है. इसके अंतर्गत ग्राम पंचायत व नगर निकायों के तर्ज पर संसद व विधानसभा में भी महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण का लाभ प्राप्त होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला सशक्तीकरण के प्रयासों का ही परिणाम है कि उत्तर प्रदेश में एक करोड़ 75 लाख तथा देश में 9 करोड़ 60 लाख महिलाओं को उज्ज्वला योजना का लाभ मिल रहा है. इस दौरान मुख्यमंत्री ने गरीबों को मकान शौचालय आयुष्मान कार्ड देने की योजना को गरीबी से उभरने के साथ महिला सशक्तीकरण के अभियान का हिस्सा भी बताया.

कन्या सुमंगला योजना की राशि 25000 रुपए होगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महिला सशक्तीकरण को और मजबूती देने के लिए कन्या सुमंगला योजना के तहत बेटी के जन्म से लेकर उसकी पढ़ाई तक 15000 रुपए का पैकेज उपलब्ध कराया जाता है. नए वित्तीय वर्ष में इसे बढ़ाकर 25000 रुपए कर दिया जाएगा बेटी की पढ़ाई तो मुफ्त होगी ही उसके अन्य खर्चो के लिए भी यह योजना से राशि मिल जाएगी.

रिपोर्ट –कुमार प्रदीप,गोरखपुर

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें