निरंजनी अखाड़े के महंत आशीष गिरि ने आत्महत्या की

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

प्रयागराज : निरंजनी अखाड़े के महंत आशीष गिरि ने रविवार की सुबह खुद को गोली मारकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली. गिरि पिछले काफी समय से बीमार थे और अवसाद से ग्रस्त होने के कारण उन्होंने यह कठोर कदम उठाया.

पुलिस अधीक्षक (नगर) बृजेश श्रीवास्तव ने बताया कि निरंजनी अखाड़े के महंत आशीष गिरि ने रविवार सुबह 8:30 से 9:00 बजे के बीच लाइसेंसी पिस्तौल से अपनी कनपटी पर गोली मार ली. 40 वर्षीय गिरि की मौके पर ही मौत हो गयी. उन्होंने बताया कि पैथोलॉजी की विभिन्न रिपोर्ट से पता चला है कि उनका लीवर पूरी तरह से खराब हो गया था. प्रथम दृष्टया यह आत्महत्या का मामला दिखता है. शव का पोस्टमार्टम कर उसे निरंजनी अखाड़ा के अधिकारियों को सौंप दिया गया है.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत नरेंद्र गिरि जी महाराज ने बताया, शीष गिरि का किडनी और लीवर दोनों खराब हो गये थे. वह तनाव में थे. आज सुबह करीब नौ बजे उन्होंने मोरी गेट स्थित अपने आवास पर लाइसेंसी पिस्तौल से खुद को गोली मार ली. उन्होंने बताया, इसकी सूचना मिलते ही हम घटना स्थल पर गये और पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराके शव हमें सौंप दिया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें