26.1 C
Ranchi
Monday, March 4, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

झारखंड: ओरमांझी पार्क की बाघिन ‘सरस्वती’ की मौत, किडनी में इंफेक्शन ने ले ली जान,अभी मां समेत ये हैं बाघ-बाघिन

पोस्टमार्टम के बाद डाक्टरों की टीम द्वारा प्रथम दृष्टया किडनी की बीमारी के कारण बाघिन सरस्वती की मौत बतायी गयी है. गहन जांच के लिए मृत बाघिन के विभिन्न अंगों का सैंपल लिया गया है, जिसे आईवीआरआई बरेली व रांची पशु चिकित्सा महाविद्यालय भेजा गया है.

ओरमांझी(रांची), रोहित लाल महतो: झारखंड के रांची जिले के ओरमांझी प्रखंड के भगवान बिरसा जैविक उद्यान की सरस्वती नामक बाघिन की मौत रविवार की सुबह करीब नौ बजे हो गयी. सरस्वती की उम्र पांच वर्ष 10 महीने थी. उद्यान के पशु चिकित्सक डॉ ओम प्रकाश साहु ने बताया कि बाघिन सरस्वती पिछले 22 नवंबर से बीमार चल रही थी. इसका इलाज 23 नवंबर को रांची पशु चिकित्सा महाविद्यालय के विशेषज्ञ डॉ अभिषेक व डॉ प्रवीण कुमार के द्वारा किया गया था. जांच-पड़ताल के बाद उनके निर्देश पर खून की जांच करायी गयी थी. जांच रिपोर्ट में किडनी का लक्षण पाया गया था. काफी प्रयास के बाद भी उसे बचाया नहीं जा सका. आपको बता दें कि अनुष्का नामक बाघिन ने सरस्वती को 2018 में उद्यान परिसर में ही जन्म दिया था.

किडनी में संक्रमण की पुष्टि

30 नवंबर को रांची पशुचिकित्सा महाविद्यालय विशेषज्ञ दल के द्वारा गहन जांच करायी गयी थी. उनके द्वारा भी किडनी में संक्रमण की पुष्टि की गई थी. इस दौरान उद्यान प्रबंधन द्वारा देश के अन्य चिड़ियाघरों के पशु चिकित्सकों का परामर्श लिया जा रहा था. इसके बाद भी वह नहीं बच सकी. सरस्वती नामक बाघिन का पोस्टमार्टम डॉ एम के गुप्ता, एचओडी पैथोलॉजी डिपार्टमेंट आरवीसी, डॉ संजीत कुमार असिस्टेंट प्रोफेसर के द्वारा उद्यान परिसर में किया गया.

Also Read: झारखंड: ओरमांझी में बने देश के सबसे बड़े तितली पार्क का उद्घाटन, देख सकेंगे 80 से अधिक प्रजातियों की तितलियां

प्रथम दृष्टया किडनी की बीमारी से बाघिन सरस्वती की मौत

पोस्टमार्टम के बाद डाक्टरों के दल द्वारा प्रथम दृष्टया किडनी की बीमारी के कारण बाघिन सरस्वती की मौत बतायी गयी है. गहन जांच के लिए मृत बाघिन के विभिन्न अंगों का सैंपल लिया गया है, जिसे आईवीआरआई बरेली व रांची पशु चिकित्सा महाविद्यालय भेजा गया है.

Also Read: तीन राज्यों में बीजेपी की जीत पर झारखंड में जश्न, भाजपाइयों ने मनायी होली-दिवाली, बताया 2024 का ट्रेलर

उद्यान में अभी ये बाघ-बाघिन हैं

ओरमांझी के बिरसा मुंडा जैविक उद्यान में अभी मादा बाघिन में अनुष्का, लक्ष्मी, गौरी, कृष्णा, कावेरी व ताप्ती बाघिन हैं, जबकि नर बाघ में मल्लिक व जावा नामक बाघ उद्यान में है. अनुष्का नामक बाघिन ने सरस्वती नामक बाघिन को 6 अप्रैल 2018 को उद्यान परिसर में ही जन्म दिया था.

Also Read: झारखंड: कुख्यात अपराधी अमन सिंह की धनबाद जेल में हत्या, जांच में जुटी पुलिस

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें