1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. city dwellers are alert about the examinations to be held in ranchi guideline will open banquet halls prt

जेइइ मेन और नीट परीक्षा : परीक्षाओं को लेकर अलर्ट हैं रांची वासी, कहा- सरकार तय करे गाइडलाइन खोल दिये जायेंगे बैंक्वेट हॉल

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सरकार तय करे गाइडलाइन खोल दिये जायेंगे बैंक्वेट हॉल
सरकार तय करे गाइडलाइन खोल दिये जायेंगे बैंक्वेट हॉल
Prabhat Khabar

रांची : कोरोना के दौरान एनडीए, जेइइ मेन और नीट में शामिल होने को लेकर परीक्षार्थी मानसिक दबाव में हैं. परीक्षा केंद्र पर पहुंचने के बाद रहने की अनिश्चितता ने उनकी और अभिवावकों की परेशानियां बढ़ा दी है. शहर के होटल, लॉज, धर्मशाला और बैंक्वेट हॉल पिछले कई महीने से बंद हैं. ऐसे में बड़ा सवाल है कि परीक्षा में शामिल होने के लिए दूसरे राज्य व जिले से आये अभिवावक और परीक्षार्थी कहां ठहरेंगे? प्रभात खबर द्वारा उठाये गये इस मुद्दे को झारखंड चेंबर के होटल एंड बैंक्वेट एसोसिएशन उपसमिति ने अपना समर्थन दिया है. एसोसिएशन ने कहा है कि अगर सरकार स्टूडेंट्स के ठहरने को लेकर कोई गाइडलाइन तय करे, तो हम उनके स्वागत के लिए तैयार हैं.

विद्यार्थी व अभिभावक बोले सरकार सुविधा मुहैया कराये

जेइइ मेन की तैयारी काफी महीनों से कर रहा हूं. मेरा सेंटर तुपुदाना में है, पूरी सुरक्षा और सावधानी के साथ जाकर परीक्षा दूंगा. परीक्षा के लिए किसी भी प्रकार का स्ट्रेस नहीं है, लेकिन थोड़ा डर जरूरी है. हालांकि उम्मीद है कि सब अच्छा होगा.

आनंद राज, बूटी मोड़

मेरा नीट का सेंटर रांची में है. यह मेरे लिए एक परेशानी का कारण है, क्योंकि अभी कोई गाड़ी नहीं मिल रही है. ऐसे में अपनी बाइक से ही परीक्षा देने जाऊंगा. कोशिश होगी कि जितनी जल्दी और सावधानी के साथ सेंटर पर पहुंच जाऊं. राज्य सरकार को विद्यार्थियों के लिए सुविधा मुहैया करानी चाहिए.

कौशल कुमार, चंदवा

सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस का पालन किया जायेगा. हमारा कारोबार पिछले छह माह से बंद है. बैंक्वेट हॉल के कमरों और खाली पड़े हॉल को खोल दिया जायेगा. कोरोना महामारी के चलते बैंक्वेट हॉल में कितने बच्चों को ठहराया जायेगा, इसकी जानकारी हमें नहीं है.

आर राजपाल, अध्यक्ष, होटल एंड बैंक्वेट एसोसिएशन उपसमिति, एफजेसीसीआइ

जब कई राज्यों में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए बैंक्वेट हॉल काे टेकओवर किया जा सकता है, तो हम स्टूडेंट्स को होनेवाली परेशानियों को देखते हुए बैंक्वेट हॉल को अस्थायी तौर पर दे ही सकते हैं. पिछले छह महीने से यह बंद है, इसे तैयार करने में थोड़ा वक्त लग सकता है.

रितुल मुंजाल, प्रोपराइटर,फिरायालाल बैंक्वेट

कोविड के प्रभावों से निपटने के लिए आतिथ्य के तौर पर हम समर्थन का भरोसा देते हैं. बच्चों के साथ उनके अभिवावक भी आयेंगे, ऐसे में बड़े इंतजाम की जरूरत होगी. हॉल को आधी क्षमता के आधार पर ही खोला जा सकता है.

उत्सव पराशर, को-प्रोपराइटर, संस्कार बैंक्वेट

अभिभावकों ने कहा

मेरी रिश्तेदार जेइइ मेन में शामिल होगी. उसका सेंटर टाटीसिलवे में है. वह एग्जाम देने के लिए 6,000 में गाड़ी रिजर्व करके बिहार से आ रही है. कई ऐसे विद्यार्थी होंगे, जो दूसरे राज्य से व शहर से एग्जाम देने के लिए काफी मुसीबतों को झेलते हुए पहुंचेंगे. ऐसे में सरकार को विद्यार्थियों के लिए आवागमन की सुविधा देनी चाहिए.

सुशांत, पंडरा

मेरा बेटा नीट दे रहा है. उसका सेंटर केराली स्कूल में है. मेरा मानना है कि अगर विद्यार्थियों के परिप्रेक्ष्य में देखा जाये, तो कोरोना में परीक्षा सही है. महामारी खत्म होने का कोई समय तय नहीं है़ हालांकि दूसरे राज्य से आनेवाले विद्यार्थियों को जरूर दिक्कत होगी. उनके लिए सरकार को सुविधा मुहैया कराये़

विकास सौरभ, बूटी मोड़

कांग्रेस

परीक्षा स्थगित करने को लेकर प्रदर्शन आज : रांची़ कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर जेईई और नीट परीक्षा स्थगित करने की मांग को लेकर 28 अगस्त को रांची समेत सभी जिला मुख्यालयों में स्थित केंद्र सरकार के कार्यालयों एवं प्रतिष्ठानों के समक्ष प्रदर्शन किया जायेगा. वहीं स्पीक अप स्टूडेंट सेफ्टी के माध्यम से सोशल मीडिया पर आनलाइन कैंपेन अभियान चलाया जायेगा. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल में जेईई और नीट परीक्षा का आयोजन नहीं होना चाहिए. इस संबंध में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बुधवार को झारखंड समेत देश के अन्य गैर भाजपा शासित राज्यों के साथ वर्चुअल मीटिंग की थी.

झामुमो

विद्यार्थियों के जीवन से नहीं हो खिलवाड़ : रांची़ झामुमो ने केंद्र सरकार से नीट व जेईई की परीक्षा को रद्द करने की मांग की है. पार्टी के प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि कोरोना के इस दौर में केंद्र सरकार विद्यार्थियों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रही है. एक दिन में 75 हजार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित पाये जा रहे हैं. ऐसे समय में नीट व जेईई की परीक्षा आयोजित करना कहीं से उपयुक्त नहीं है.

अगर किसी विद्यार्थी को साथ अप्रिय घटना होती है, तो केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री के खिलाफ हत्या का आपराधिक मुकदमा दर्ज होना चाहिए. क्योंकि एक सोची- समझी साजिश के तहत परीक्षा आयोजित की जा रही है. श्री भट्टाचार्य ने कहा की पार्टी चाहती है कि परीक्षा हो, लेकिन ऐसे समय में नहीं जब पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम, होटल, लॉज व ट्रेन सेवा बंद है. ऐसे समय में मध्यम व गरीब वर्ग के बच्चे कैसे परीक्षा देने में होने वाले खर्च काे वहन कर पायेंगे.

Post by : Pritish Sahaya

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें