26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

दलमा वन्य आश्रयणी क्षेत्र व स्वर्णरेखा नदी के तट से हटेगा अतिक्रमण

दलमा वन्य आश्रयणी क्षेत्र के इको सेंसेटिव जोन तथा स्वर्णरेखा नदी के तट पर एनजीटी के गाइडलाइन के मुताबिक किसी भी प्रकार के अवैध आधारभूत संरचना का निर्माण नहीं होनी चाहिए. नियमों की अनदेखी कर निर्माण कार्य कराने वालों पर जिला प्रशासन सख्त कार्रवाई करेगा.

एनजीटी का आदेश सख्ती से होगा लागू : डीसी

डीसी ने की बैठक, 206 अवैध निर्माण हटेंगे, तीन दिन में मांगी रिपोर्ट

जमशेदपुर :

दलमा वन्य आश्रयणी क्षेत्र के इको सेंसेटिव जोन तथा स्वर्णरेखा नदी के तट पर एनजीटी के गाइडलाइन के मुताबिक किसी भी प्रकार के अवैध आधारभूत संरचना का निर्माण नहीं होनी चाहिए. नियमों की अनदेखी कर निर्माण कार्य कराने वालों पर जिला प्रशासन सख्त कार्रवाई करेगा. इसको लेकर उपायुक्त अनन्य मित्तल ने अधिकारियों को तत्काल कार्रवाई करने को कहा है. मंगलवार को उन्होंने एनजीटी के मसले पर विस्तार से बैठक की. एनजीटी के गाइडलाइन का अनुपालन कराने का आदेश दिया.

डीसी ने तीन दिनों में मांगी रिपोर्ट

बैठक में एनजीटी के गाइडलाइन के अनुरूप दलमा वन्य आश्रयणी क्षेत्र में अवैध निर्माण की जांच और स्वर्णरेखा नदी का अतिक्रमण समेत अन्य मुद्दों की समीक्षा की गई. बैठक में बताया गया कि जांच में 206 अवैध निर्माण ऐसे पाये गए हैं, जिनमें 62 भवनों का निर्माण नदी तट के 10 मीटर के अंदर और 134 भवनों का निर्माण नदी तट के 10-15 मीटर के अंदर है, जो एनजीटी गाइडलाइन का उल्लंघन है. उपायुक्त ने तीन दिनों के अंदर रिपोर्ट जमा करने का निर्देश दिया. कितने अवैध निर्माण गैर मजरुआ जमीन व रैयती जमीन में हैं. रैयती जमीन में निर्माण के दौरान बिल्डिंग बायलॉज का अनुपालन हुआ है या नहीं? उन्होंने संबंधित अंचलाधिकारी, नगर निकाय पदाधिकारी एवं स्वर्णरेखा परियोजना की विशेष टीम गठित करते हुए एनजीटी गाइडलाइन का उल्लंघन और विशेष रूप से अवैध निर्माण के संबंध में तथ्यात्मक स्थिति का पता कर तीन दिनों में रिपोर्ट करने का निर्देश दिया है. भवनों में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मानकों को अनदेखा नहीं किया गया हो, किसी भी प्रकार का निर्माण कार्य पर्यावरणीय दृष्टि के अनुकूल हो तथा नियमों के मुताबिक विधि सम्मत हो, इसे सभी संबंधित पदाधिकारी को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया.

बैठक में ये पदाधिकारी रहे मौजूद

बैठक में उप वन संरक्षक एवं क्षेत्र निदेशक, गज परियोजना, जमशेदपुर अभिषेक कुमार, अपर उपायुक्त रोहित सिन्हा, मानगो नगर निगम के अपर आयुक्त रंजीत लोहरा, सीओ जमशेदपुर सदर मनोज कुमार, सीओ चांडिल अमित श्रीवास्तव, सीओ मानगो ब्रजेश श्रीवास्तव, स्वर्णरेखा परियोजना, प्रदूषण बोर्ड व जल संसाधन विभाग के पदाधिकारी तथा अन्य सभी संबंधित विभागीय पदाधिकारी उपस्थित थे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें