1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. amarnath yatra 2021 the yatra will begin from june 28 the pilgrims of east singhbhum district will get a health certificate from here smj

Amarnath Yatra 2021 : 28 जून से शुरू होगी अमरनाथ यात्रा, पूर्वी सिंहभूम जिले के श्रद्धालुओं को यहां से लेना हाेगा हेल्थ सर्टिफिकेट

By Prabhat khabar Digital
Updated Date

Jharkhand news : अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं को एमजीएम हॉस्पिटल से लेना होगा सर्टिफिकेट.
Jharkhand news : अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं को एमजीएम हॉस्पिटल से लेना होगा सर्टिफिकेट.
सोशल मीडिया.

Jharkhand News, Jamshedpur News, जमशेदपुर न्यूज (पूर्वी सिंहभूम) : श्री अमरनाथ यात्रा शुरू होने की तारीख का एलान हो चुका है. श्रीअमरनाथ श्राइन बोर्ड के चेयरमैन व उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को राजभवन में बोर्ड सदस्यों की बैठक के दौरान यात्रा की तारीख का एलान कर दिया. श्रीअमरनाथ यात्रा 28 जून से शुरू होगी और 22 अगस्त तक चलेगी. सुरक्षा के चलते इस बार यात्रा 56 दिन तक चलेगी. आषाढ़ चतुर्थी से लेकर रक्षा बंधन तक श्रद्धालु बाबा अमरनाथ के दर्शन कर सकेंगे.

MGM हॉस्पिटल में मिलेगा सर्टिफिकेट

जाे श्रद्धालु बाबा अमरनाथ का दर्शन करना चाहते हैं, उन्हें अपने हेल्थ संबंधी सर्टिफिकेट लेना होगा. इसके लिए बिष्टुपुर स्थित PNB और आदित्यपुर और साकची स्थित यस बैंक की शाखा से इसका रजिस्ट्रेशन हाेगा. इसके बाद MGM हॉस्पिटल से स्वास्थ्य संबंधी सर्टिफिकेट तैयार किया जायेगा. इसके अलावा काेराेना का टीका लगाना हाेगा. काेविड-19 के कारण 13 साल से कम व 75 साल से अधिक उम्रवालाें काे यात्रा संबंधी इजाजत नहीं हाेगी. जमशेदपुर से लगभग 2000 की संख्या में भाेले के भक्त हर साल अमरनाथ की यात्रा पर जाते हैं. इनमें कई संस्थाएं, परिवार, ग्रुप और एकल लाेग भी शामिल हैं.

भोले के भक्तों के स्वास्थ्य और सुरक्षा पर खास ध्यान केंद्रित किया जायेगा. दो साल बाद इस बार पिछले कुछ सालों की तुलना में अधिक यात्रियों के पहुंचने की उम्मीद है. यात्रा के लिए एडवांस रजिस्ट्रेशन एक अप्रैल से शुरू होगा, जिसे PNB, जम्मू एंड कश्मीर बैंक के अलावा यस बैंक की देशभर में मौजूद 446 ब्रांचों से कराया जा सकता है.

ऐसे होगी यात्रा

बालटाल से डाेमेल के बीच 2.75 किलाेमीटर के यात्रा मार्ग पर बैटरी चलित कार भी हाेगी. यात्रा मार्ग में श्राइन बाेर्ड के दफ्तर और गुफा में यात्री 5-10 ग्राम के चांदी के सिक्के भी खरीद सकेंगे. इस बार यात्रा सिर्फ बालटाल रूट से करायी जा सकती है. यात्रा का पारंपरिक रास्ता पहलगाम, चंदनवाड़ी, शेषनाग, पंचतरणी से होकर जाता है. अमरनाथ गुफा तक जाने के लिए इस साल केवल बालटाल रूट का ही इस्तेमाल किया जा सकता है. दूसरे पारंपरिक रूट से यात्रा को लेकर फिलहाल कोई जानकारी नहीं है.

काेरोना प्रोटोकॉल का होगा सख्ती से पालन

कई राज्यों में कोरोना संक्रमण की वापसी के कारण यात्रा के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जायेगा. देश भर के कई राज्यों में कोविड संक्रमण की वापसी को देखते हुए इस बार यात्रा में कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करना होगा. इस बार यात्रा में श्रीनगर से बालटाल तक हेलिकॉप्टर और यात्रा मार्ग के कुछ हिस्से पर बैटरी कार शुरू करने पर विचार किया जा रहा है. 4 नये हैलीपैड बनाये जायेंगे. इसके अलावा शिव भक्तों को अधिक सहूलियत देने के लिए नये प्रयासों पर काम किया जा रहा है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें