1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. dumka
  5. jharkhand news 7th state convention of cpi m in dumka brinda karat calls for strengthening left unity and removing modi government smj

माकपा का राज्य सम्मेलन दुमका में, वृंदा करात ने वाम एकता को मजबूत करने व मोदी सरकार को हटाने का किया आह्वान

झारखंड की उपराजधानी दुमका के इनडोर स्टेडियम में माकपा का 3 दिवसीय राज्य सम्मेलन की शुरुआत हुई. इस मौके पर पोलित ब्यूरो सदस्य वृंदा करात ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. वहीं, वाम एकता को मजबूत करने पर जोर दिया.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
दुमका में माकपा के राज्य स्तरीय सम्मेलन को संबोधित करती पोेलित ब्यूरो सदस्य वृंदा करात.
दुमका में माकपा के राज्य स्तरीय सम्मेलन को संबोधित करती पोेलित ब्यूरो सदस्य वृंदा करात.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (दुमका) : मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) का 7वां राज्य सम्मेलन झारखंड की उपराजधानी दुमका के इनडोर स्टेडियम में आयोजित हुआ. 3 दिवसीय इस राज्य सम्मेलन में राज्यभर के 300 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं. उद‍्घाटन सत्र को पार्टी के पोलित ब्यूरो सदस्य वृंदा करात ने मुख्य रूप से संबोधित किया और वाम एकता को मजबूत कर देश की मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया. वृंदा ने इस क्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारतीय जनता पार्टी के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला.

वृंदा ने अपने संबोधन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को राष्ट्रीय सर्वनाश समिति और पीएम को प्रधान महंगाई मंत्री की संज्ञा दे डाली. उन्होंने कहा कि देश के राजनीतिक हालात को जनता बखूबी समझ रही है. कांग्रेस के जमाने में उदारीकरण की नीतियां अपनायी जा रही थी. तब, सारे रास्ते खोल दिये गये थे. अभी भी जहां कांग्रेस की सरकारें हैं, वहां वही नीतियां अपनायी जा रही है. पर, आज भाजपा उससे बहुत आगे बढ़ गयी है. भाजपा केवल राजनीतिक दल नहीं है. भाजपा के पीछे और आगे, अगल-बगल में RSS है.

उन्होंने कहा कि RSS राष्ट्रीय सर्वनाश समिति है. जिनका एक ही उद्देश्य है कि देश का संविधान जो जनवाद आधारित, सामाजिक न्याय आधारित, संघीय ढांचा अधारित है, उसको समाप्त करे. देश को धर्म के नाम पर, हिंदुत्व राष्ट्र बनाने के नाम पर बांटने-खंडित करने का प्रयास हो रहा है. कहा कि BJP- RSS की नीतियों-विचारधारा के खिलाफ, हिंदुस्तान की मिली-जुली संस्कृति को बर्बाद करनेवालों के खिलाफ एक होकर वैकल्पिक नीति के आधार पर हमें आगे बढ़ना होगा.

उन्होंने कहा कि 40-50 साल से असम की जमीन में जो खेती कर रहे थे, उन्हें 12 घंटे की नोटिस पर ऐसे हटा दिया, जैसे वे देश के दुश्मन थे. वे मुसलमान थे, इसलिए उन्हें खदेड़कर मानवता की धज्जियां उड़ायी गयी. आज असम के मुसलमान पर ऐसा हो रहा. झारखंड में भी जमीन का अधिग्रहण हो रहा है. यहां आदिवासियों के जमीन उनके अधिकार को छीनकर पावर प्रोजेक्ट लगाया जा रहा है. इससे उनका अस्तित्व मिट जायेगा.

उन्होंने कहा कि अगर हम यह सोचेंगे कि हमला असम के अंदर केवल विशेष कौम के लिए है, तो यह समझ लें कि झारखंड में किसी की जमीन नहीं बचेगी. सांप्रदायिकता का जहर, उसके बीज व फसल को अपने तुच्छ राजनीति के स्वाद लिए BJP-RSS इस्तेमाल कर रही है. वाम ताकतों को उससे मिलकर लड़ना होगा. कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन है. बीजेपी वायरस के खिलाफ एक ही दवा है किसान, मजदूर मेहनतकशों की एकता, हर हिंदुस्तानी नागरिक की एकता.

उद‍्घाटन सत्र के खुला अधिवेशन को पोलित ब्यूरो सदस्य मो सलीम, भाकपा माले के विधायक विनोद सिंह, भाकपा के वरिष्ठ नेता राजेंद्र यादव और मासस के राज्य सचिव हलधर महतो ने भी संबोधित किया. मंच संचालन स्वागत मंत्री एहतेशाम अहमद ने और अध्यक्ष स्वागताध्यक्ष सुभाष हेंब्रम ने किया. इससे पूर्व पार्टी के पूर्व विधायक ज्योतिन सोरेन ने लाल झंडा फहराकर सम्मेलन की शुरुआत की. सम्मेलन 31 अक्तूबर तक चलेगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें