1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar flood live updates latest news 13 died in bihar due to drowning in floods 45 lakh people of 14 districts affected

Bihar Flood Updates: गंगा स्थिर, सोन और घाघरा का जलस्तर बढ़ा, 64 पंचायतों के 236 गांवों की तीन लाख से ज्यादा आबादी बाढ़ से प्रभावित

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बाढ़ से 45 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित
बाढ़ से 45 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित
प्रभात खबर

Bihar Flood LIVE Updates बाढ़ से बिहार की 14 जिलों की 110 प्रखंडों की 45 लाख की आबादी बाढ़ से जूझ रही है. बाढ़ग्रस्त इलाकों में चल रहे शिविरों में 26 हजार से अधिक लोग रह रहे हैं. आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्र डू ने बताया कि नदियों के बढ़ते जल स्तर को देखते हुए विभाग सतर्क है. 1,193 कम्युनिटी किचेन चलाये जा रहे हैं, जिनमें हर दिन सात लाख 71 हजार 380 लोग भोजन करते हैं. बाढ़ग्रस्त जिलों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें अपना काम कर रही हैं. तीन लाख 76 हजार 508 लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है. बाढ़ के हालात की पल पल की जानकारी के लिए जुड़े रहे हमारे साथ.

email
TwitterFacebookemailemail

गंगा स्थिर, सोन और घाघरा के जलस्तर बढ़ा, 64 पंचायतों के 236 गांवों की तीन लाख से ज्यादा आबादी बाढ़ से प्रभावित

छपरा जिले में गंडक नदी का जलस्तर 24 घंटे में स्थिर रहा है. ऐसी स्थिति में बाढ़ का पानी लगातार नये क्षेत्रों में फैल रहा है. वहीं, गंगा का जलस्तर अभी स्थिर है. छपरा शहर के दक्षिण अवस्थित सोन व घाघरा नदी का जलस्तर बढ़ रहा है. लेकिन, ये नदियां खतरे के निशान से नीचे हैं. शनिवार को भी बाढ़ का पानी मढ़ौरा, अमनौर, परसा, तरैया, मशरक आदि प्रखंडों के तीन दर्जन गांवों में फैल गया. इससे इन क्षेत्रों में रह रहे लोगों को बाढ़ से बचने को लेकर परेशान देखा गया है. आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जारी सूचना के अनुसार सात प्रखंडों की 64 पंचायतों के 236 गांवों की तीन लाख 25 हजार की आबादी बाढ़ से प्रभावित हो चुकी है. इनमें तरैया प्रखंड की 1.25 लाख, पानापुर की 80 हजार, मशरक की 35 हजार, मकेर की 22 हजार, मढ़ौरा की दस हजार, अमनौर की आठ हजार की आबादी शामिल है. जिला प्रशासन द्वारा बाढ़ पीड़ितों के लिए लगातार शिविरों में रहने की व्यवस्था के साथ-साथ बांध या सड़क के किनारे रह रहे बाढ़ प्रभावितों को पॉलीथिन सीट उपलब्ध कराया जा रहा है. लेकिन, पीड़ितों की संख्या ज्यादा होने के कारण अभी भी कई बाढ़पीड़ितों को पॉलीथिन नहीं मिलने की बात कह रहे हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

बाढ़ पीड़ितों की सहायता में उतरे मनोज तिवारी, भेजी राहत

गोपालगंज जिले में गंडक नदी की बाढ़ की त्रासदी झेल रहे लोगों के सहयोग के लिए दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और नार्थ ईस्ट दिल्ली से सांसद मनोज तिवारी उतर आये हैं. बाढ़ पीड़ितों के बीच राहत सामग्री दिल्ली से भेज कर एक-एक वैसे परिवार तक पहुंचाने का काम शुरू हुआ, जिन लोगों तक प्रशासन के हाथ नहीं पहुंच पाये हैं. बरौली और बैकुंठपुर विधानसभा मे राहत सामग्री मनोज तिवारी के निजी सचिव अभिनव मिश्रा द्वारा पहुंचाया जा रहा. अभिनव मिश्रा पंचदेवरी प्रखंड के भृंगिचक गांव के निवासी हैं. बाढ़ पीड़ितों के बीच प्रतिदिन पिकअप में राहत सामग्री लेकर बांटने का काम किया जा रहा है.

email
TwitterFacebookemailemail

बलान नदी के जलस्तर में बेतहाशा वृद्धि, रोज बढ़ रहा एक फीट पानी

बेगूसराय जिले में बलान नदी के जलस्तर में बेतहाशा वृद्धि होने के कारण स्कूल से लेकर दर्जनों घरों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर जाने से मंसूरचक प्रखंड क्षेत्र के लोगों के बीच भय है. मंसूरचक पंचायत के वार्ड संख्या 6, 7, 11, 15 में पूरी तरह बलान नदी का पानी घरों में घुस गया है. इस कारण घर में रहना लोगों को मुश्किल हो चुका है. उर्दू मध्य विद्यालय, आलमचक, उर्दू मध्य विद्यालय, सरायनूरनगर में भी पानी प्रवेश कर चुका है. समसा दो पंचायत के आगापुर, नयाटोल सहित गौशारा बांध पर भी पानी का दवाब बढ़ना शुरू हो चुका है.

email
TwitterFacebookemailemail

औरंगाबाद में ठनके की चपेट में आने से छह की मौत

नवीनगर के माड़र गांव में शुक्रवार की दोपहर ठनका गिरने से खेत में काम कर रहे पांच मजदूरों की मौत हो गयी. वहीं, मदनपुर प्रखंड के सलैया थाना क्षेत्र के बेरी टोले चौधरी बिगहा गांव में भी एक व्यक्ति की मौत वज्रपात से हो गयी. नवीनगर प्रखंड के माड़र गांव निवासी बाली सिंह के खेत में मजदूर काम कर रहे थे. अचानक बारिश होने लगी. मजदूर बारिश से बचने का प्रयास कर रही रहे थे कि तभी जोरदार आवाज के साथ उसी जगह पर वज्रपात हुआ, जिसकी चपेट में आठ लोग आ गये. मौके पर ही पांच लोगों ने दम तोड़ दिया. इधर, सलैया थाना क्षेत्र के बेरी टोला चौधरी बिगहा गांव में वज्रपात से जिस व्यक्ति की मौत हुई है, उसकी पहचान संतोष चौधरी (39) के रूप में हुई है. पता चला कि संतोष गांव के बाहर बधार में गये थे कि तभी तेज चमक के साथ ठनका गिरा और देखते ही देखते उन्होंने अचेत होकर दम तोड़ दिया. सूचना मिलने पर थानाध्यक्ष मौके पर पहुंचे और शवों को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा.

email
TwitterFacebookemailemail

10 से पहले बाढ़ पीड़ितों के खाते में भेजी जायेगी राशि

बिहार के आपदा प्रबंधन मंत्री लक्ष्मेश्वर राय ने विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि बिहार में सभी बाढ़ पीड़ितों के खाते में छह हजार की सहायता राशि 10 अगस्त से पहले भेज दी जायेगी. बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कथन बिहार के खजाने पर आपदा पीड़ितों का पहला हक है, की अवधारणा को प्रमाणित करते हुए अभी तक बिहार के एक लाख, 42,192 परिवारों के खाते में 85.32 करोड़ की राशि भेजी जा चुकी है. बिहार में अब तक 14 जिले बाढ़ से प्रभावित है, जिसमें 25,116 राहत शिविर लगाये गये है.

email
TwitterFacebookemailemail

एनडीआरएफ ने गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल

एनडीआरएफ के कमांडेंट विजय सिन्हा ने बताया कि गुरुवार की देर रात दरभंगा जिले में तैनात एनडीआरएफ की टीम को हनुमान नगर प्रखंड में बाढ़ से घिरे पंचोभ गांव में फंसी गर्भवती महिला को सहायता के लिए बुलाया गया. रात में लगभग 10 किलोमीटर बोट चलाकर टीम पहुंची और गर्भवती काजल मिश्रा को सुरक्षित हनुमान नगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया. उन्होंने कहा कि शुक्रवार को एक टीम को सारण जिले के अमनौर प्रखंड में तैनात किया गया है. सारण में चार टीमें काम कर रही हैं. शुक्रवार को एनडीआरएफ की टीम ने सारण में 600 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया. सिन्हा ने बताया कि अब तक बिहार के विभिन्न जिलों में प्रशासन के सहयोग से रेस्क्यू ऑपेरशन चलाकर 8,600 को बाढ़ से बचाया गया है.

email
TwitterFacebookemailemail

बाढ़ का कहर जारी 

समस्तीपुर के उजियारपुर स्थित अंगारघाट थाने के मुरियारो गांव निवासी नीरज कुमार व हसनपुर थाने के धबोलिया गांव में रामबाबू यादव की जान चली गयी. इधर, मधेपुरा के पुरैनी में बाढ़ के पानी में नहाने के दौरान डूबने से किशोर की मौत हो गयी. इधर, कटिहार के प्राणपुर में कपड़ा साफ करने के दौरान मां-बेटी की डूबने से मौत हो गयी. साथ ही कटिहार के कदवा थाना क्षेत्र की धपरसिया पंचायत के वार्ड आठ में बच्चे की मौत कमला धार में डूबने से मौत हो गयी.

email
TwitterFacebookemailemail

45 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित

मधुबनी में मधेपुर प्रखंड के भेजा थाने के करहारा गांव में ढाई वर्षीया बच्ची अंजलि की मौत हो गयी. इधर, पूर्वी चंपारण के रक्सौल प्रखंड क्षेत्र के हरदिया गांव के बंगरी नदी में बांध बांधने के दौरान हरदिया के लक्ष्मी चौरसिया व सुगौली के भरगांवा पंचायत के कौवहा के अमित कुमार की मौत नदी में डूबने से हो गयी. इधर, सीतामढ़ी के इंडो-नेपाल बॉर्डर को पार कर बैरगनिया बाजार आ रहे एक युवक की मौत बाढ़ के पानी मे डूबने से हो गयी. वहीं, नानपुर थाना क्षेत्र की बाथ असली पंचायत में महिला डूब गयी.

email
TwitterFacebookemailemail

बाढ़ में डूबने से बिहार में 13 की मौत

बाढ़ के पानी में डूबने से शुक्रवार को उत्तर बिहार में 10 व भागलपुर में तीन लोगों की मौत हो गयी. जानकारी के अनुसार, पश्चिमी चंपारण में तीन, मधुबनी में एक, पूर्वी चंपारण में दो, सीतामढ़ी में दो, समस्तीपुर में दो और भागलपुर के मधेपुरा में एक और कटिहार में दो की जान चली गयी. पश्चिमी चंपारण के बेतिया में सात वर्षीय बच्चा समेत दो लोगों व चनपटिया नगर पंचायत के वार्ड संख्या 10 स्टेशन रोड निवासी सजाद कुरैशी अहिर की जान चली गयी. मधुबनी में मधेपुर प्रखंड के भेजा थाने के करहारा गांव में ढाई वर्षीया बच्ची अंजलि की मौत हो गयी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें